गावस्कर की नजरों में ये हैं जीत के हीरो, लोग मानते हैं इन्हें लो-प्रोफाइल खिलाड़ी

नई दिल्ली। सुनील गावस्कर ने भारत की लाॅर्ड्स पर दर्ज हुई ऐतिहासिक जीत को लेकर जो बयान दिया वो काबीलेतारीफ है। उनकी नजरों में जीत के हीरो वो दो खिलाड़ी रहे हैं जिन्हें लोग लो प्रोफाइल खिलाड़ी मानते हैं। यह बात सच भी है, क्योंकि ऐसी सोच चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्या रहाणे को लेकर पलती हुई दिखी भी। ये दोनों बल्लेबाज कुछ मैचों से कोई बड़ी पारी खेलने में सफल नहीं हो पाए हैं। यहां तक कि दूसरे टेस्ट के शुरू होने से पहले इन्हें बाहर निकालने के लिए ट्वीटर वार भी शुरू हुआ, लेकिन इंग्लैंड को 151 रनों से चित करने में इन दोनों बल्लेबाजों का भी विशेष हाथ रहा है। ऐसे में गावस्कर ने अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा की प्रशंसा करते हुए कहा कि दो वरिष्ठ बल्लेबाजों ने अपने सभी अनुभव का इस्तेमाल एक महत्वपूर्ण साझेदारी करने के लिए किया जब टीम को दूसरे टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी।

'मोहम्मद सिराज पंत का गेंदबाजी अवतार है', पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने कही बड़ी बात

गावस्कर ने पुजारा और रहाणे की प्रशंसा की

गावस्कर ने पुजारा और रहाणे की प्रशंसा की

गावस्कर ने इस बात पर प्रकाश डाला कि पुजारा और रहाणे दोनों लॉर्ड्स टेस्ट की अगुवाई में दबाव में थे, क्योंकि उनके ऊपर कई सवाल खड़े किए जा रहे थे। पहले टेस्ट में दोनों बल्लेबाज बहुत ही सस्ते में पवेलियन लाैटकर सामान्य फॉर्म में थे। फिर दूसरे टेस्ट की पहली पारी में भी पुजारा 9 और रहाणे 1 रन बनाकर नाकाम रहे। हालांकि, पुजारा और रहाणे ने अपना पुराना खेल फिर दूसरी पारी में दिखाया जब भारत को उनकी खास जरूरत थी। लॉर्ड्स में दूसरी पारी में भारत ने चाैथे दिन 55 रन पर अपने 3 विकेट गंवा दिए थे। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और केएल राहुल और कप्तान विराट कोहली जल्दी पवेलियन लाैटे। उस समय भारत के पास सिर्फ 27 रन से अधिक की बढ़त थी।

पुजारा और रहाणे ने चौथे विकेट के लिए 100 रन जोड़े, जिससे भारत को लंदन के प्रतिष्ठित स्थल पर संकट से उबारा। रहाणे ने 61 रन बनाए जबकि पुजारा ने 45 रन बनाए जो 206 गेंदें खेलकर बनें। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि सीनियर बल्लेबाजों ने टेस्ट के अंतिम दिन इंग्लैंड पर दबाव डाला।

आप लो-प्रोफाइल खिलाड़ी कहते हैं

आप लो-प्रोफाइल खिलाड़ी कहते हैं

गावस्कर ने लॉर्ड्स टेस्ट में भारत की 151 रन की जीत के बाद सोनी स्पोर्ट्स को कहा, "उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। ये दोनों वही हैं जिन्हें आप लो-प्रोफाइल खिलाड़ी कहते हैं, न कि हाई-प्रोफाइल खिलाड़ी। उन्हें वह ध्यान नहीं मिलता है जो कुछ अन्य करते हैं। यह खेल की शैली के कारण हो सकता है या जो कुछ भी हो लेकिन वे टीम के लिए बहुत कीमती खिलाड़ी हैं और वे मुश्किल समय में खेलने के लिए अपना सारा अनुभव आजमाते हुए दिखे।" उन्होंने कहा, ''उन्होंने पहले टेस्ट में रन नहीं बनाए थे। इसलिए यह स्पष्ट था कि वे दबाव में थे। उन्होंने दूसरे टेस्ट की पहली पारी में भी रन नहीं बनाए थे। टीम में उनकी जगह के बारे में बहुत सारे सवाल पूछे गए थे और उन्होंने एक साझेदारी को एक साथ सिलाई करके जब इसकी सबसे अधिक आवश्यकता होती है, तो वे एकमात्र तरीके से प्रतिक्रिया दे सकते हैं।''

कोहली ने सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों को खो दिया था

कोहली ने सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों को खो दिया था

उन्होंने कहा, "भारत केवल 28 रन आगे था और जब ये दोनों एक साथ आए तो विराट कोहली ने अपने सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों को खो दिया था। शानदार प्रयास।" भारत ने अंततः घोषित 8 विकेट पर 298 रन बनाए और इंग्लैंड के लिए 272 रनों का लक्ष्य रखा। मोहम्मद शमी (56) और जसप्रीत बुमराह (34) ने पांचवें दिन नौवें विकेट के लिए नाबाद 89 रन की साझेदारी कर इंग्लैंड को मैच से बाहर कर दिया। भारत के तेज गेंदबाजों ने सोमवार को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड को अपनी अंतिम पारी में 120 रन पर समेट दिया।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 भविष्यवाणी
Match 16 - October 24 2021, 07:30 PM
भारत
पाकिस्तान
Predict Now

Story first published: Tuesday, August 17, 2021, 17:54 [IST]
Other articles published on Aug 17, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X