5 रिकॉर्ड जो पुरुष क्रिकेट में बनने से पहले ही महिलाओं ने अपने नाम कर लिए थे

नई दिल्ली: आज की दुनिया में, शायद ही कोई अनुशासन या क्षेत्र है जहां महिलाएं पुरुषों से पीछे हैं। खेलों में भी महिलाओं ने पुरुषों को पकड़ लिया है और विभिन्न मामलों में बेहतर प्रदर्शन कर रही हैं।

महिलाओं के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का सफर 1934 से काफी लंबा रहा है जब इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया और महिलाओं का पहला टेस्ट मैच खेला। अंतर्राष्ट्रीय महिला क्रिकेट परिषद की स्थापना 1958 में की गई थी। हालांकि महिलाओं की क्रिकेट की यात्रा पुरुषों की तुलना में 57 साल बाद शुरू हुई पर कई पहलुओं में, महिला क्रिकेटरों ने अपने पुरुष साथियों को पीछे छोड़ दिया है और विभिन्न रिकॉर्ड हासिल किए हैं। इस आर्टिकल में हम ऐसे ही पांच रिकॉर्ड पर बात करेंगे जो पुरुष क्रिकेटरों से पहले महिलाओं ने ही बना डाले थे।

1. वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक

1. वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक

2010 में सचिन तेंदुलकर ने ग्वालियर में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एकदिवसीय मैच में 200 रन का आंकड़ा पहली बार पार कर लिया। हालांकि, कई प्रशंसकों को पता नहीं था कि यह एक अभूतपूर्व उपलब्धि नहीं थी। ऑस्ट्रेलियाई महिला क्रिकेटर बेलिंडा क्लार्क द्वारा अंतर्राष्ट्रीय वन-डे क्रिकेट में पहले ही एक दोहरा शतक बनाया गया था।

अंतिम संस्कार में भाग लेने के बाद क्वारंटाइन हुए विंडीज कोच, क्लियर करने होंगे दो COVID-19 टेस्ट

क्लार्क ने 16 दिसंबर, 1997 को डेनमार्क के खिलाफ एक महिला विश्व कप मैच में 155 गेंदों में 229 रन बनाए थे। वह पारी के अंत तक नाबाद रहीं और 147.74 की शानदार स्ट्राइक-रेट के साथ स्कोर बनाया। वहीं, तेंदुलकर ने 136.05 का स्ट्राइक रेट निकाला था।

2. वनडे की एक पारी में पहले 400 रन बनाने वाली टीम

2. वनडे की एक पारी में पहले 400 रन बनाने वाली टीम

ऑस्ट्रेलियाई महिला क्रिकेट टीम ने एकदिवसीय पारी में 400 से अधिक रन बनाने वाली पहली अंतर्राष्ट्रीय टीम बनकर रिकॉर्ड बनाया था। यह वही मुकाबला था जिसमें बेलिंडा क्लार्क ने दोहरा शतक लगाया था।

जबकि कई प्रशंसकों ने ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच 2006 के जोहान्सबर्ग मैच को ऐसा पहला मुकाबला माना था जहां एकदिवसीय पारी में 400 से अधिक रन बनाए। बता दें उस मुकाबले में दोनों ही टीमों ने 400 से ज्यादा रन बनाए थे और अफ्रीका विजयी रहा था।

इससे पहले ही मुंबई में महिलाओं के विश्व कप मैच में, क्लार्क के दोहरे शतक की बदौलत ऑस्ट्रेलियाई टीम केवल 3 विकेट के नुकसान पर 412 रन बनाने में सफल रही। बदले में, डेनमार्क की महिलाओं को 49 रन पर आउट कर दिया गया, जिससे ऑस्ट्रेलियाई टीम को भारी जीत मिली।

3. वनडे वर्ल्ड कप में पहले 5 विकेट लेने वाली बॉलिंग

3. वनडे वर्ल्ड कप में पहले 5 विकेट लेने वाली बॉलिंग

1975 में, डेनिस लिली ने एकदिवसीय विश्व कप में 5 विकेट लेने वाले पहले पुरुष क्रिकेटर के रूप में पहचान बनाई थी। हालांकि, कुछ साल पहले, यह उपलब्धि इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक महिला विश्व कप मैच में पहले ही हो चुकी थी।

विंडीज दिग्गज ने की मांग- क्रिकेट में फिक्सिंग और डोपिंग की तरह ही नस्लवाद से निपटा जाए

उस मैच में, ऑस्ट्रेलिया की टीना मैकफर्सन पहली अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर बन गईं, जिन्होंने 12 ओवरों के अपने कोटे में सिर्फ 14 रन देकर 5 विकेट झटके।

4. पहला टाई वनडे मैच

4. पहला टाई वनडे मैच

एकदिवसीय मैचों का टाई रहना अभी भी दुर्लभ है। T20I क्रिकेट के विपरीत, ODI क्रिकेट में एक टाई-ब्रेकर की आवश्यकता नहीं होती है जब तक कि वह मैच नॉक आउट न हो।

क्रिकेट इतिहास में पहले टाई एकदिवसीय मैच का रिकॉर्ड भी महिलाओं के नाम है। पहला टाई हुआ ODI मैच 1982 में न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच कॉर्नवॉल पार्क, ऑकलैंड में खेला गया था। दोनों टीमों ने 60 ओवर के अपने कोटे के अंत में 147 रन बनाए।

जबकि पुरुषों के क्रिकेट इतिहास में पहला टाई हुआ एकदिवसीय मैच एक-दो साल बाद आया। मैच वेस्ट इंडीज और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के बीच खेला गया। दोनों टीमों ने 50 ओवर के अपने निर्धारित कोटे के अंत में 222 रन बनाए।

5. पांच वर्ल्ड कप जीतने वाली पहली टीम

5. पांच वर्ल्ड कप जीतने वाली पहली टीम

आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी हमेशा से ही क्रिकेट के खेल में दिग्गज रही है, चाहे वह उनकी पुरुष टीम हो या महिला टीम। निस्संदेह, दोनों अपने-अपने विश्व कप में सबसे सफल टीम हैं। हालांकि, ऑस्ट्रेलियाई महिला टीम ने 5 या अधिक विश्व कप जीतने वाली पहली अंतर्राष्ट्रीय टीम बनने में अपने पुरुष साथियों को पीछे छोड़ दिया।

कोहली, रोहित, धोनी: भारत के विकेटकीपर ने बताया तीनों की कप्तानी में फर्क

ऑस्ट्रेलिया महिला टीम ने 2005 में यह उपलब्धि हासिल की, जब उन्होंने 1978, 1982, 1988 और 1997 में अपनी जीत के बाद अपना पांचवां खिताब जीता। वर्तमान में, उनके नाम 6 विश्व खिताब हैं जो 2013 में आने वाले नवीनतम के साथ हैं। दिलचस्प बात यह है कि, वर्ष 2010, 2012, 2014, 2018 और 2020 में आने वाली जीत के साथ उनके नाम पर 5 विश्व टी 20 खिताब भी हैं।

दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलियाई पुरुषों ने अपनी महिला साथियों के दस साल बाद अपना 5वां विश्व कप विजय हासिल किया। उनके नाम 1987, 1999, 2003, 2007 और 2015 में आने वाले 5 विश्व खिताब हैं। अपनी महिला समकक्षों के विपरीत, ऑस्ट्रेलियाई पुरुष क्रिकेट टीम ने कभी भी विश्व टी 20 नहीं जीता है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, June 28, 2020, 13:19 [IST]
Other articles published on Jun 28, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X