विक्रम राठौड़ ने किया विराट कोहली की सबसे बड़ी ताकत के बारे में खुलासा

Virat Kohli's ability to adapt different formats is outstanding says Vikram Rathour | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली की बल्लेबाजी को आधुनिक क्रिकेट में क्लास कहा जाता है। कोहली का जब आगमन हुआ तब वह ऐसे महान प्रतिभाशाली क्रिकेटर नहीं थे, उनकी प्रतिभा को पंत या बुमराह की तरह हाईप नहीं मिली थी लेकिन क्रिकेट में एक दशक बिताने के बाद उन्होंने ऐसे कीर्तिमान बना दिए जिसको देख कोई भी खिलाड़ी उनको अपना आदर्श कह सकता है। कोहली के ट्रांसफोरमेशन को किसी भी इंसान के लिए प्रेरित करने वाला बताया जा सकता है।

अब कोहली हर कला में परांगत हो चुके हैं। वे रन मशीन कहलाए जाते हैं और दूसरे केवल अब ये चर्चा करते हैं कि कोहली के मैं ऐसा क्या खास है जो उनको इतना सफल बना देता है।

कोहली की सबसे बड़ी ताकत पर राठौड़ ने की बात-

कोहली की सबसे बड़ी ताकत पर राठौड़ ने की बात-

इस समय भारत के बैटिंग कोच विक्रम राठौड़ को कोहली के साथ करीब से बातचीत करने, उनको देखने, समझने का मौका मिल रहा है। कोहली के बारे में राठौड़ की अपनी राय है। इस पूर्व टेस्ट बल्लेबाज को शानदार कोचिंग और बेहद स्पष्ट नजरिए के कारण जाना जाता है। ऐसे में देखते हैं कोहली की सफलता के पीछे राठौड़ किस चीज को सबसे ज्यादा आंकते हैं।

पूर्व पाक कप्तान ने कहा- मिस्बाह खुद डिफेंसिव कप्तान थे, वो बाबर आजम को क्या सिखाएंगे

भारत के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ का मानना ​​है कि कप्तान विराट कोहली की सबसे बड़ी ताकत उनकी अनुकूलन क्षमता है यानी कि वे कहीं भी किसी भी परिस्थिति में ढल जाते हैं और वह किसी भी अन्य प्रतिद्वंदी की तुलना में कठिन मेहनत करते हैं।

'मैंने किसी क्रिकेटर को इतनी मेहनत करते नहीं देखा'

'मैंने किसी क्रिकेटर को इतनी मेहनत करते नहीं देखा'

"मेरे लिए, विराट कोहली के बारे में सबसे अच्छी बात खेल के प्रति उनकी प्रतिबद्धता है। वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बनना चाहते हैं और इसके लिए वह कड़ी मेहनत करते हैं," राठौड़ ने स्पोर्ट्सकीडा के साथ एक फेसबुक लाइव सत्र में कहा।

" जितने भी खिलाड़ियों को मैंने देखा है, उनमें वह वह सबसे कठिन काम करने वाला क्रिकेटर है । इसके अलावा मैं मानता हूं कि उसकी अनुकूलन क्षमता उसकी सबसे बड़ी ताकत है।

'जब चाहे अपना खेल बदल लेते हैं, यह सबसे बड़ी ताकत है'

'जब चाहे अपना खेल बदल लेते हैं, यह सबसे बड़ी ताकत है'

"वह एक-आयामी खिलाड़ी नहीं है, वह अपने खेल को आवश्यकतानुसार और जब चाहे बदल सकता है। वह हर प्रारूप को अलग तरह से खेलता है और यह उसकी सबसे बड़ी ताकत है।"

राठौड़ ने आगे कहा कि 2016 में वेस्टइंडीज के खिलाफ कोहली का दोहरा शतक इस बात को दर्शाता है कि वह कम से कम प्रयास के साथ परिस्थितियों के अनुकूल हो सकते हैं।

"एक सबसे अच्छा उदाहरण जिसमें मैंने देखा था कि 2016 के आईपीएल में जहां उन्होंने चार शतक लगाए और 40 के करीब छक्के मारे। वह शानदार फॉर्म में चल रहे थे और उसके बाद हमने वेस्टइंडीज का दौरा किया।

कोहली की अनुकूलन क्षमता से मुग्ध हैं बल्लेबाजी कोच-

कोहली की अनुकूलन क्षमता से मुग्ध हैं बल्लेबाजी कोच-

उन्होंने कहा, 'आईपीएल में दो महीने तक ऐसे ही खेलने के बाद, वह वेस्टइंडीज जाते हैं और पहले मैच में उन्होंने एक भी गेंद को हवा में उछाले बिना दोहरा शतक बनाया।

"ताकि आपकी बल्लेबाजी में बदलाव आए क्योंकि आप एक अलग प्रारूप खेल रहे हैं, ऐसा कई क्रिकेटर्स नहीं कर सकते।

"विराट कोहली के साथ, मुझे लगता है कि वह जिस तरह से खेलना चाहता है वह खेल सकता है। वह विभिन्न परिस्थितियों के अनुसार खेल सकता है और मुझे लगता है कि उसकी सबसे बड़ी ताकत है।"

द्रविड़ ने पहले बता दिया था, अकमल अगली गेंद पर कैच देगा- रैना ने किया परफेक्ट प्लान का खुलासाद्रविड़ ने पहले बता दिया था, अकमल अगली गेंद पर कैच देगा- रैना ने किया परफेक्ट प्लान का खुलासा

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, June 28, 2020, 15:49 [IST]
Other articles published on Jun 28, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X