वीवीएस लक्ष्मण बोले- ICC को इस टीम को विजेता घोषित कर देना चाहिए

नई दिल्ली। इंग्लैंड और भारत के बीच मैनचेस्टर में होने वाले पांचवें और अंतिम टेस्ट मैच के रद्द होने के बाद काफी विवाद पैदा हुआ। कई पूर्व दिग्गजों ने कहा कि यूएई में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 14वें संस्करण के दूसरे भाग की शुरुआत के कारण मैच नहीं हुआ, जबकि कईयों को लगा कि जूनियर फिजियो योगेश परमार के कोरोना पाॅजिटिव पाए जाने के कारण भारतीय खिलाड़ी मैदान पर उतरने से डर गए हैं। भारत के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने मामले पर अपने विचार दिए और बताया कि किस टीम को विजेता घोषित कर देना चाहिए।

लक्ष्मण ने कहा कि पांचवें टेस्ट को रद्द करने का ईसीबी और बीसीसीआई का फैसला अंत में सही फैसला था। उनका यह भी मानना ​​है कि हालात को देखते हुए आईसीसी को भारत के पक्ष में सीरीज 2-1 से देनी चाहिए। उन्होंने टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा, "उस मानसिक स्थिति में मैदान प उतरना सही फैसला नहीं है। इससे दूसरों को खतरे में डालने का संभावित जोखिम है, चाहे वह आपके साथी हों, अधिकारी हों या विरोधी हों। मुझे लगता है कि टेस्ट को रद्द करना सही कॉल था, हालांकि मैं उन प्रशंसकों के लिए गहराई से महसूस करता हूं जिन्होंने प्रतियोगिता में इतना समय, पैसा और भावना का निवेश किया था। मुझे उम्मीद है कि आईसीसी स्थिति को देखता है और भारत को सीरीज में 2-1 से विजेगा घोषित करेगा। खासकर बीसीसीआई ने अगले साल इंग्लैंड के अपने सफेद गेंद के दौरे के दौरान एक टेस्ट खेलने की पेशकश की है।''

इसके अलावा लक्ष्मण ने कहा कि आईपीएल की बहाली को दोष देना गलत है और यह परिस्थितियों के कारण ऐसा हुआ था। भारत के पूर्व बल्लेबाज ने यह भी बताया कि कैसे महामारी ने लोगों की मानसिकता में बहुत सारी समस्याएं पैदा कर दी हैं। लक्ष्मण ने कहा, "यह एक अचानक, कुछ हद तक निराशाजनक अंत था, जो एक रोमांचक सीरीज थी, लेकिन जिन परिस्थितियों में ओल्ड ट्रैफर्ड में अंतिम टेस्ट रद्द कर दिया गया था, उन पर उंगली उठाना या दोष का खेल खेलना अनुचित है। महामारी के डेढ़ साल से अधिक समय से, दुनिया अभी भी एक सुरक्षित जगह से दूर है।''

गांगुली ने बताया क्यों चुने गए धोनी, दिया ऑस्ट्रेलिया के 'प्लान' का उदाहरणगांगुली ने बताया क्यों चुने गए धोनी, दिया ऑस्ट्रेलिया के 'प्लान' का उदाहरण

उन्होंने कहा, ''कई लोगों के लिए भारतीय टीम को खलनायक के रूप में देखना आकर्षक हो सकता है, लेकिन मैं इस गर्मी में अपने आईपीएल के अनुभवों से कह सकता हूं कि एक बार टीम का कोई भी सदस्य सकारात्मक परीक्षण के साथ निकट संपर्क में रहा है, तो यह असंभव है। आशंकित नहीं होना चाहिए, वास्तव में भयभीत होना चाहिए।"

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Tuesday, September 14, 2021, 14:14 [IST]
Other articles published on Sep 14, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X