भारत के लिए सबसे कम उम्र में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी बने वाशिंगटन सुंदर, जानें चार खास बातें

Posted By:
India vs Sri Lanka 3rd T20: Washington Sundar creates record in his Debut match | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्ली। भारत और श्रीलंका के बीच मुंबई में खेले जा रहे आखिरी टी20 मैच में मेजबान टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी है। टीम में जसप्रीत बुमराह की जगह मोहम्मद सिराज और युजवेंद्र चहल की जगह वॉशिंगटन सुंदर को मौका दिया है। वॉशिंगटन सुंदर अपने टी20 करियर का डेब्यू कर रहे हैं। बता दें कि सुंदर ने टी20 में डेब्यू करते ही एक खास रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। उन्होंने ऋषभ पंत को पछाड़ा है।

सबसे कम उम्र में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी बने सुंदर

सबसे कम उम्र में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी बने सुंदर

दरअसल वाशिंगटन सुंदर भारत की तरफ से टी20 में सबसे कम उम्र में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। सुंदर ने 18 साल 80 दिन की उम्र में डेब्यू किया है। इससे पहले ऋषभ पंत ने (19 साल 120 दिन) भारत की तरफ से टी20 में डेब्यू करने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी थे।
टी20 में सबसे कम उम्र में डेब्यू करने वाले खिलाड़ी
वाशिंगटन सुंदर- (18 साल, 80 दिन)
ऋषभ पंत- (19 साल, 120 दिन)
ईशांत शर्मा- (19 साल, 152 दिन)
सुरेश रैना- (20 साल, 4 दिन)

एक कान से सुन नहीं पाते हैं सुंदर

एक कान से सुन नहीं पाते हैं सुंदर

बीते सीजन वॉशिंगटन सुंदर को आईपीएल में राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स की ओर से खेलने का मौका मिला था। लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि सुंदर सिर्फ एक ही कान से सुन सकते हैं। दाहिने हाथ से गेंदबाजी करने वाला ये क्रिकेटर जब महज 4 साल का था तो परिवार को उनकी परेशानी का पता चला। कई अस्पतालों में इलाज हुआ लेकिन बाद में मालूम चला कि इसका कोई इलाज नहीं हो सकता है।

ये है 'वॉशिंगटन' नाम की सुंदर कहानी

ये है 'वॉशिंगटन' नाम की सुंदर कहानी

श्रीलंका के खिलाफ वानखेड़े टी20 में डेब्यू करने वाले वॉशिंगटन सुंदर भारत के लिए टी20 क्रिकेट में उतरने वाले 72वें खिलाड़ी हैं।

वाशिंगटन सुंदर के नाम के पीछे ना तो अमेरिका के शहर वॉशिंगटन से कोई नाता है और ना ही पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज वॉशिंगटन से कोई प्रेरणा। दरअसल, ये नाम उनके पिता ने अपने गुरु और मेंटोर मिस्टर वॉशिंगटन के नाम पर रखा था। सुंदर के पिता की भी क्रिकेट में गहरी रुचि थी और शुरुआती दौर में मिस्टर वॉशिंगटन उनके लिए स्कूल फीस का इंतजाम करने के साथ-साथ उनके लिए बल्ले और गेंद भी खरीद कर दिया करते थे। इसी से प्रेरित होकर उनके पिता ने अपने बेटे के नाम के पीछे वाशिंगटन लगाना शुरू कर दिया।

जाधव हुए चोटिल तो मिला था मौका

जाधव हुए चोटिल तो मिला था मौका

श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज में चोटिल केदार जाधव की जगह तमिलनाडु के इस आलराउंडर वाशिंगटन सुंदर को भारतीय टीम में शामिल किया गया था।

Story first published: Sunday, December 24, 2017, 19:57 [IST]
Other articles published on Dec 24, 2017
Please Wait while comments are loading...