टीम इंडिया की तीसरी सबसे बड़ी ODI जीत से विंडीज के खिलाफ बने 9 अद्भुत रिकॉर्ड

By गौतम सचदेव
Team India wins 4th ODI by 224 runs

नई दिल्ली : टीम इंडिया और विंडीज के बीच जारी मौजूदा एकदिवसीय श्रृंखला में खेले गए चौथे एकदिवसीय मुकाबले में भारतीय टीम को एकतरफा जीत मिली। पहले बल्लेबाजी में रोहित और रायडू के पावरफुल शतक की बदौलत भारतीय टीम ने 378 का विशाल लक्ष्य दिया फिर धारदार गेंदबाजी और चुस्त फील्डिंग के दम पर विराट कोहली के नेतृत्व में भारतीय टीम ने ODI इतिहास की तीसरी सबसे बड़ी जीत दर्ज की। भारतीय टीम ODI क्रिकेट के इतिहास में रिकॉर्ड की नई कहानी लिख रही है और इसके सूत्रधार होते हैं टॉप ऑर्डर के तीन दिग्गज बल्लेबाज। टीम इंडिया के इस कमबैक मैच में कुल 9 शानदार रिकॉर्ड बने, पढ़िए उन सभी उपलब्धियों की पूरी कहानी।

ODI इतिहास की तीसरी सबसे बड़ी जीत

ODI इतिहास की तीसरी सबसे बड़ी जीत

इस मैच में भारतीय टीम के मध्यम क्रम की समस्या कुछ हद तक सुलझती दिखी तो ODI के 'हिटमैन' रोहित ने एक जबरदस्त पारी (162 रन, 137गेंद) खेल भारतीय टीम को श्रृंखला में 2-1 की बढ़त दिलाने में अहम भूमिका निभाई। रोहित का साथ अंबाती रायडू ने भरपूर दिया और पिछले दो परियों में कुछ खास न कर पाने इस खिलाड़ी ने उपकप्तान के शब्दों में नंबर-4 के खिलाड़ी के लिए चल रही बहस को अपने तूफानी शतक से विराम दे दिया। किसी भी लिहाज से रायडू के प्रदर्शन को कमतर नहीं आंका जा सकता है। मुंबई के ब्रेबॉन स्टेडियम पर भारतीय टीम ने अपने ऑल राउंड प्रदर्शन से ODI इतिहास की तीसरी सबसे बड़ी (रनों के अंतर के मामले में) जीत हासिल की। भारतीय टीम ने साल 2007 में पोर्ट ऑफ स्पेन के मैदान पर ODI की सबसे बड़ी जीत 257 रनों से बरमुडा के खिलाफ हासिल की थी वहीं दूसरी सबसे बड़ी जीत करांची में हॉन्गकॉन्ग के खिलाफ 256 रनों से दर्ज की है।

READ MORE : पढ़िए कैसे सफेद होती गई धोनी की दाढ़ी और धीमा होता गया खेल

विंडीज की दूसरी सबसे बड़ी हार

विंडीज की दूसरी सबसे बड़ी हार

लगातार तीन ODI में पावर हिटर के दम पर शानदार प्रदर्शन करने वाली टीम को ODI इतिहास में रनों के अंतर से दूसरे सबसे बड़े हार (224 रनों से मिली हार) का सामना करना पड़ा। विंडीज को इससे भी बड़ी हार सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर दक्षिण अफ्रीका के हाथों मिली थी जब इस टीम को दक्षिण अफ्रीका ने 2015 वर्ल्ड कप में 257 रनों से हराया था। 14 ओवर में महज 56 रन के स्कोर पर 6 विकेट गंवा चुकी विंडीज एक समय अपने सबसे बड़ी हार की ओर अग्रसर दिखी लेकिन कप्तान जेसन होल्डर ने अर्धशतकीय पारी खेल टीम को शर्मनाक हार से बचा लिया।

ALSO READ : पूरी हुई टीम इंडिया में नंबर चार की तलाश, कोहली ने लिया ये नाम

विंडीज के खिलाफ दूसरा सबसे बड़ा स्कोर

विंडीज के खिलाफ दूसरा सबसे बड़ा स्कोर

भारतीय टीम ने मौजूदा श्रृंखला में तीसरी बार 300 या उससे अधिक रनों का आंकड़ा पार किया है। टॉप ऑर्डर की धमाकेदार बल्लेबाजी के दम पर भारतीय टीम ने इस श्रृंखला में कई बार रनों का पहाड़ खड़ा किया है। एकदिवसीय इतिहास में विंडीज के खिलाफ यह भारतीय टीम का दूसरा सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले साल 2011 में सहवाग की विस्फोटक बल्लेबाजी (दोहरा शतक) के दम पर टीम इंडिया ने इंदौर स्टेडियम में 418/5 का स्कोर खड़ा किया था। यह विंडीज के खिलाफ किसी भी टीम का पांचवां सबसे बड़ा स्कोर है।

हिटमैन की हिट उपलब्धि

हिटमैन की हिट उपलब्धि

हिटमैन के नाम से पूरी दुनिया में मशहूर रोहित के बल्ले से निकलते शॉर्ट ऐसे लग रहे थे मानो किसी पुराने मैच का हाईलाइट देख रहे हों। शतक के बाद बड़ी पारी के माहिर कहे जाने वाले रोहित ने ODI में 7वीं बार150 या उससे अधिक का स्कोर किया है। विश्व क्रिकेट में वो ऐसा करने वाले एक मात्र बल्लेबाज हैं। सचिन तेंदुलकर और डेविड वार्नर के नाम 5 बार 150 या उससे अधिक का स्कोर है। दिलचस्प यह भी है कि रोहित के सभी 150 रनों का स्कोर साल 2013 के बाद बने हैं। गेल,विराट,जयसूर्या और हाशिम अमला ने यह उपलब्धि चार-चार बार हासिल किए हैं।

एक सीरीज में दो बार किया यह कमाल

एक सीरीज में दो बार किया यह कमाल

रोहित शर्मा ने पिछले पांच सालों में कई बड़ी पारियां खेली हैं। अब किसी भी टूर्नामेंट में एक से अधिक बार 150 या उससे अधिक का स्कोर करने वाले खिलाड़ी की सूची में रोहित का नाम शामिल हो चुका है। उन्होंने मौजूदा श्रृंखला में दो बार 150 या उससे अधिक का स्कोर किया है। ज़िम्बाब्वे के खिलाड़ी हैमिल्टन मास्कादजा ने यह उपलब्धि साल 2009 में केन्या के खिलाफ हासिल की थी।

नंबर-4 पर तीन साल में 3 शतक

नंबर-4 पर तीन साल में 3 शतक

टीम इंडिया के लिए विश्व कप-2019 से पहले जिस मध्यम क्रम की उलझनें बढ़ रही थी उस टेंशन को रायडू ने अपनी तूफानी पारी से खामोश कर दिया है। पिछले तीन सालों में नंबर-4 पर बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम के मात्र तीन बल्लेबाजों ने शतक किया है। इस सूची में 33 वर्षीय रायडू ने भी 81 गेंदों में खेली शतकीय पारी से अपना नाम अंकित कर लिया है। इस नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए मनीष पांडे और युवराज सिंह ने भी शतक ठोके हैं। पाकिस्तान के किसी भी मध्यम क्रम के बल्लेबाज ने इन तीन सालों में इस नंबर पर शतक नहीं जड़ा है वहीं ऑस्ट्रेलिया के एक बल्लेबाज ने शतक जड़ा है।

विराट कोहली ने 37वें शतक से एक दिन में बनाए ये 7 बड़े रिकॉर्ड

5वीं बार दोहरे शतक की साझेदारी

5वीं बार दोहरे शतक की साझेदारी

धवन और विराट का विकेट गिरने के बाद रोहित-रायडू के बीच तीसरे विकेट के लिए 211 रनों की साझेदारी हुई। तीसरे विकेट के लिए भारतीय टीम की यह पांचवीं सबसे बड़ी साझेदारी है। मौजूदा श्रृंखला में यह भारतीय टीम की दूसरी शतकीय साझेदारी है। यह पांचवीं ऐसे श्रृंखला या टूर्नामेट है जब भारतीय टीम ने एक से अधिक बार दोहरे शतकीय साझेदारी की है।

शिखर पर हैं रोहित

शिखर पर हैं रोहित

यह जानकार आपको आश्चर्य हो सकता है लेकिन रोहित के 162 रनों की पारी किसी भी भारतीय बल्लेबाज के द्वारा साल 2018 में बनाया गया सबसे अधिक रन है। इतना ही नहीं ब्लू जर्सी में पिछले पांच सालों से अप्रतिम फॉर्म में चल रहे रोहित इस दौरान सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में शीर्ष पर काबिज हैं।

विराट-रोहित के डबल धमाके से विंडीज के खिलाफ बने 9 शानदार रिकॉर्ड

 तीन श्रृंखला में 6 शतक

तीन श्रृंखला में 6 शतक

मौजूदा श्रृंखला में दोनों टीमों ने कई मौकों पर रनों का पहाड़ खड़ा किया और रनों की इस बारिश में भारतीय टीम के लिए एक से बढ़कर एक रिकॉर्ड भी बनते गए। इस सीरीज में अब तक भारतीय बल्लेबाजों ने कुल 6 शतक ठोक दिए हैं। यह भारतीय टीम की ओर से तीसरी बार हासिल की गई उपलब्धि है। भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने साल 2013-14 और 2015-16 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 6 शतक जड़ने का इतिहास रचा है।

बिना खाता खोले ही एक अनचाहा रिकॉर्ड बना गया यह खिलाड़ी

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

    Story first published: Tuesday, October 30, 2018, 1:22 [IST]
    Other articles published on Oct 30, 2018
    POLLS

    MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट

    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Mykhel sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Mykhel website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more