फुटबॉल वर्ल्ड कप और दिल के दौरे में मजबूत कनेक्शन, अध्ययन में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

नई दिल्लीः एक नए अध्ययन में पाया गया है कि फीफा विश्व कप 2014 के दौरान जर्मनी में दिल के दौरे के केस काफी बढ़ गए थे। विश्व कप फाइनल के दौरान सबसे ज्यादा संख्या में दिल के दौरे से मौत हुई थी। यह कप जर्मनी ने जीता था।

जर्मनी में यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर मेंज और हीडलबर्ग यूनिवर्सिटी अस्पताल के शोधकर्ताओं के अनुसार, ऐसा इसलिए था क्योंकि महत्वपूर्ण फुटबॉल इवेंट उत्साह, तनाव और क्रोध को बढ़ावा दे सकते हैं।

जर्नल साइंटिफिक रिपोर्ट्स में गुरुवार को प्रकाशित अध्ययन में कहा गया है कि 34.5 मिलियन से अधिक लोगों ने फाइनल सहित विश्व कप देखा था। यह जर्मनी की आधे से ज्यादा आबादी है। विश्व कप फाइनल के दिन दिल का दौरा पड़ने से अस्पताल में मृत्यु दर सबसे अधिक थी।

WTC Final: तीसरे दिन भी सही नहीं मौसम का हाल, जानिए इस बार कितने हैं बारिश के आसारWTC Final: तीसरे दिन भी सही नहीं मौसम का हाल, जानिए इस बार कितने हैं बारिश के आसार

दिल के दौरे और फुटबॉल की घटनाओं के बीच संबंध दिखाने वाला यह पहला अध्ययन नहीं है। 2002 में, एक अध्ययन से पता चला है जब फ्रांस में 1998 के विश्व कप के दौरान इंग्लैंड पेनल्टी शूट-आउट में अर्जेंटीना से हार गया उसके दो दिन बाद तक इस देश में दिल के दौरे के कारण भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या में 25 प्रतिशत तक बढ़ोतरी होने का जोखिम बढ़ गया था। .

शोधकर्ताओं ने अध्ययन में लिखा, "चूंकि जर्मन टीम फीफा डब्ल्यूसी 2014 में पराजित नहीं हुई थी और चैंपियनशिप जीती थी, इसलिए हम मैच के दिनों में हार और जीत के बीच अंतर नहीं कर पाए।"

"हालांकि, हमारे अध्ययन ने अधिकांश अध्ययनों के अनुसार ही सहमति को प्रदर्शित किया कि फुटबॉल विश्व कप कार्यक्रम मायोकार्डियल इंफार्क्शन (दिल के दौरे) के शक्तिशाली कारण हैं जिन्हें कम करके आंका नहीं जाना चाहिए।"

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
भविष्यवाणियों
VS

Story first published: Sunday, June 20, 2021, 11:55 [IST]
Other articles published on Jun 20, 2021
+ अधिक
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X