FIFA world cup पर आतंकी साया, ISIS ने 'ड्रोन' और आत्मघाती हमलावरों से अटैक करने की बनाई योजना

Posted By:
FIFA world cup पर आतंकी साया, ISIS ने ड्रोन और आत्मघाती हमलावरों से अटैक करने की बनाई योजना

नई दिल्ली। इसी साल रूस में होने वाले फीफा वर्ल्डकप पर आतंकी साया मंडरा रहा है। दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस ने कहा है कि उसकी फीफा वर्ल्ड कप पर हमले की बड़ी योजना है। यह टूर्नामेंट रुस के 11 शहरों में 14 जून से 15 जुलाई तक खेला जाएगा, जिसका फाइनल मुकाबला मॉस्को में होगा।

मिरर यूके की खबर के मुताबिक आईआईएसएस इस बार ड्रोन और उड़ते हुए आत्मघाती हमलावरों से आतंकी हमला कराने की योजना बना रहा है। बता दें कि इससे पहले कई बार फीफा वर्ल्ड कप के दौरान आतंकी हमले की खबरें आ चुकी हैं। लेकिन ताजा तस्वीरों ने सभी के होश उड़ा दिए हैं। कई फोटो मैसेंजिंग एप टेलीग्राम पर शेयर की गई हैं जो कथित तौर पर हमलों के लिए तैयारियां दिखाती हैं। तस्वीरों में ड्रोन को हथगोले, मिसाइलों और मोर्टारों से लैस किया जा रहा है, जो टार्गेट पर छोड़े जा सकते हैं। आपको बता दें कि हथियार वाले ड्रोन पहले ही सीरिया और इराक में आईएसआईएस आतंकियों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे हैं।

हालांकि वे ड्रोन आम तौर पर फिल्म निर्माताओं और शौकियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले सस्ते के हैं, लेकिन घातक बमों के साथ लैस हैं। आईआईएसएस द्वारा ये भी दावा किया जा रहा है कि वह आत्मघाती हमलावरों को एक टर्बो-जेट पैक दे सकता है जिससे वे सिक्योरिटी से बच सकते हैं। रविवार को स्टार ने एक पोस्ट में बताया कि: "क्या आपने कभी एक उड़ान वाले आत्मघाती हमलावर के बारे में सोचा है जो दीवारों के ऊपर उड़ सकता है?

ये खबरें उस वक्त आई हैं जब कुछ समय पहले आईएसआईएस समर्थकों ने दक्षिणी रूस में वोल्गोग्राड एरिना के बैकग्राउंड में एक सब-मशीन गन और बम लगाने की धमकी देते हुए तस्वीरें शेयर की गईं थी। आपको बता दें कि इसी स्टेडियम में इंग्लैंड को भी अपना एक वर्ल्ड कप मैच खेलना है।

इस आतंकी संगठन ने घटना को अंजाम देने से पहले ही लोगों में खौफ पैदा कर दिया है। आईएसआईएस ने फुटबॉलर लियोनल मेसी के पोस्टर का सहारा लिया है जिसमें वह उन्हें खून के आंसू रुलाते दिख रहे हैं। यह पोस्टर आईएसआईएस के माउथपीस वाफा फाउंडेशन ने इस पोस्टर को जारी किया है। पोस्टर में मेसी के फोटो के अलावा अरबी और अंग्रेजी में धमकी भरे संदेश भी लिखे हुए हैं।

पोस्टर के नीचे 'जस्ट टेरेरिज्म' टैग लाइन लिखी हुई है। वहीं दाई ओर लिखा है-"आप एक ऐसे स्टेट से लड़ रहे हैं जिसकी डिक्शनरी में नाकामयाबी जैसा कोई शब्द ही नहीं है।" यह पोस्टर सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है और रुस के लोगों में वर्ल्ड कप शुरु होने से पहले डर पैदा होने लगा है। आतंक फैलाने के मकसद से जारी किए गए इन पोस्टरों को सीरिया और इराक के जिहादियों पर रूस द्वारा की गई बमबारी का बदला माना जा रहा है।

Story first published: Sunday, April 1, 2018, 15:56 [IST]
Other articles published on Apr 1, 2018
+ अधिक
POLLS

MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट