BBC Hindi

कमाई कितनी, कि आराम नहीं करते क्रिकेटर?

Posted By: BBC Hindi
कोहली

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शिकायत की है कि इतने ज़्यादा मैच होने की वजह से टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका के दौरे जैसी बड़ी सिरीज़ के लिए वाजिब तैयारी करने का वक़्त नहीं मिला.

और इस शिकायत के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) भी गंभीर होता दिख रहा है.

बोर्ड के कार्यवाहक अध्यक्ष सी के खन्ना ने कहा, ''विराट भारतीय टीम के कप्तान हैं और क्रिकेट के मुद्दों पर उनके नज़रिए को पूरी गंभीरता से लिया जाता है. टीम के प्रदर्शन पर हमें गर्व है लेकिन अगर खिलाड़ी थकान महसूस कर रहे हैं तो हमें इस मुद्दे को गंभीरता से लेना चाहिए.''

कितने मैच खेलती है टीम इंडिया?

भारतीय टीम

इस शिकायत और चिंता में वाक़ई दम है? शायद हां. क्योंकि भारतीय खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की शुरुआत से लगातार क्रिकेट खेल रहे हैं.

चैम्पियंस ट्रॉफ़ी, वेस्टइंडीज़ और श्रीलंका का दौरा, फिर उसके बाद ऑस्ट्रेलिया, न्यूज़ीलैंड और श्रीलंका से घर में सिरीज़.

दिलरुवान का विकेट क्या ड्रेसिंग रूम ने बचाया?

अश्विन-जड़ेजा-ईशांत की तिकड़ी ने श्रीलंका को समेटा

कुल मिलाकर 23 मैच जिनमें तीन टेस्ट मैच, 11 वनडे मैच और 9 टी20 इंटरनेशनल मैच शामिल हैं. इन दिनों श्रीलंका, भारत के दौरे पर है और फिलहाल दूसरा टेस्ट जारी है.

द. अफ्रीका जाएगी टीम

कोहली

भारतीय टीम 24 दिसंबर को श्रीलंका से आख़िरी टी 20 मैच खेलेगी और फिर उसे 27 दिसंबर को दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना होना है.

पिछले कुछ वक़्त से भारतीय टीम घर में खेल रही हैं, ऐसे में दक्षिण अफ्रीका बेहद ज़रूरी दौरा है. वहां उसे तीन टेस्ट मैच, छह वनडे मैच और तीन टी20 इंटरनेशनल मैच खेलने हैं.

जब खिलाड़ी और क्रिकेट बोर्ड, दोनों ये बात मान रहे हैं कि खिलाड़ियों की थकान वाली बात में दम है तो मैच होते क्यों हैं. कमाई की वजह से?

कितना कमाता है बोर्ड?

भारतीय टीम

ज़्यादा मैच का मतलब है पैसा. क्रिकेट बोर्ड के लिए और खिलाड़ियों के लिए भी.

जून 2017 में आई ख़बर के मुताबिक आईसीसी के रेवेन्यू शेयरिंग मॉडल के मुताबिक भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को 40.5 करोड़ डॉलर मिलेंगे, जो इंग्लैंड से 26.6 करोड़ डॉलर ज़्यादा है.

कमाई के मामले में भारतीय क्रिकेट बोर्ड कितना आगे है, इसका अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि इस मॉडल के तहत ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, वेस्टइंडीज़, न्यूज़ीलैंड, श्रीलंका और बांग्लादेश को 12.8-12.8 करोड़ डॉलर मिलने हैं.

और खिलाड़ियों की कमाई?

कोहली

आईसीसी की कुल साझा कमाई 153.6 करोड़ डॉलर है और इसमें भारतीय टीम की हिस्सेदारी सबसे ज़्यादा 22.8 फ़ीसदी है.

इसके अलावा मैच जितने ज़्यादा होते हैं, प्रसारण और विज्ञापनों से उतनी ज़्यादा कमाई भी भारतीय बोर्ड को होती है, जो इस मॉडर में हिस्सेदारी से अलहदा है.

अब बात खिलाड़ियों की कमाई की. इसी साल की शुरुआत में बोर्ड की कमेटी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेटर्स ने भारतीय टीम के 32 सेंट्रल कॉन्ट्रेक्ट वाले खिलाड़ियों की रिटेनरशिप फ़ीस बढ़ाकर दोगुनी कर दी थी.

बेंच स्ट्रेंथ की दिक्कत?

कोहली

इसमें ग्रेड ए के खिलाड़ियों को सालाना 2 करोड़, ग्रेड बी के खिलाड़ियों को 1 करोड़ और ग्रेड सी खिलाड़ी को 50 लाख रुपए देने का फ़ैसला हुआ था.

उसी वक़्त टेस्ट मैचों के लिए मिलने वाली मैच फ़ीस 7.50 लाख रुपए से बढ़ाकर 15 लाख रुपए कर दी गई थी. जबकि वनडे और टी20 मैचों के लिए मिलने वाली फ़ीस 6 लाख और 3 लाख रुपए कर दी गई थी.

कमाई के अलावा एक और वजह है कि खिलाड़ी ज़्यादा मैच मिस नहीं करना चाहते. इसका कारण है भारतीय टीम की मज़बूत बेंच स्ट्रेंथ.

टेस्ट, वनडे या टी20 मैच, भारतीय टीम में कुछ ही खिलाड़ी जो तीनों फॉर्मेट में अपनी जगह पक्की मान सकते हैं. बाकी सभी को इस बात का डर हमेशा बना रहता है कि वो कुछ मैचों से रेस्ट लेते हैं तो कोई दूसरा खिलाड़ी उनकी जगह ले या भर ना दे.

ये किसी भी टीम के लिए शुभ संकेत है, लेकिन इसकी अपनी परेशानियां भी हैं.

BBC Hindi
Story first published: Friday, November 24, 2017, 17:54 [IST]
Other articles published on Nov 24, 2017
Please Wait while comments are loading...