CWG 2018: ऑस्ट्रेलिया से आया बिल,भारतीय एथलीट्स ने तोड़ डाले 75 हजार रुपए के सामान!

Indian athletes damaged things worth 73988 rupees

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से खूब नाम कमाया। लेकिन अब जो मामला सामने आया है वो इन खिलाड़ियों के साख पर बट्टा लगाने वाला है। दरअसल भारतीय ओलंपिक संघ यानी आईओए ने बास्केटबाल, हॉकी और एथलेटिक्स समेत तमाम खेलों की नेशनल फेडरेशंस को एक बिल में लिखी राशि चुकाने को कहा है। यह राशि दरअसल खिलाड़ियों व अधिकारियों द्वारा नुकसान की गई चीजों की रकम है। नुकसान हुई चीजों के भरपाई के लिए आईओए को यह नोटिस आया था। जिसे आईओए ने फेडरेशंस को भेज दिया है।

किसने कितना नुकसान पहुंचाया

बास्केटबाल खिलाड़ियों ने सबसे ज्यादा नुकसान किया है।इन खिलाड़ियों ने 20400 रुपये की संपत्ति खराब की है। एथलीटों ने 11832 रुपए, हॉकी खिलाड़ियों ने 7854, निशानेबाजों और लिफ्टर्स ने 5100, स्क्वॉश खिलाड़ियों ने 3876 रुपए और टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने 2550 रुपए की क्षति पहुंचाई है।

फेडरेशंस से मसला हल करने की बात

आईओए अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने महासचिव राजीव मेहता को ईमेल के जरिए कहा है कि संबंधित फेडरेशन को इस मसले को हल करना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कॉमनवेल्थ गेम्स आयोजन समिति ने 73,988 रुपए का बिल आईओए को भेजा है संबंधित फेडरेशन के स्टाफ और अधिकारियों से भुगतान करने के लिए कहा जाना चाहिए और साथ ही इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि भविष्य में ऐसी घटनाएं ना हो।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    Story first published: Friday, July 27, 2018, 14:07 [IST]
    Other articles published on Jul 27, 2018
    POLLS

    MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट

    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Mykhel sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Mykhel website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more