नेशनल स्पोर्ट्स डे: जानिए ध्यानचंद से जुड़े रोचक किस्से, इस बार इन खिलाड़ियों को मिलेगा अवॉर्ड

नई दिल्ली: आज (29 अगस्त) को भारत में नेशनल स्पोर्ट्स डे मनाया जा रहा है। हर साल 29 अगस्त को मनाया जाने वाले राष्ट्रीय खेल दिवस भारत के महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यान चंद के जन्मदिवस के उपलक्ष में मनाया जाता है। हर साल, इसी दिन भारत सरकार के तहत मिनिस्टरी ऑफ यूथ अफेयर्स एंड स्पोर्ट्स खिलाड़ियों को खेल अवॉर्ड प्रदान करता हैं। इस बार के खेल अवॉर्ड भी राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति द्वारा नई दिल्ली में प्रदान किए जाएंगे। भारतीय हॉकी को दुनिया भर में रोशन करने वाले हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद ने भारत को ओलंपिक खेलों में गोल्ड मेडल दिलवाया था। इसकी वजह से भारत की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनी थी। यानी ध्यानचंद की जयंती के दिन ही भारतीय खिलाड़ियों को राजीव गांधी खेल रत्न, ध्यानचंद पुरस्कार और द्रोणाचार्य पुरस्कारों के अलावा अर्जुन पुरस्कारों से सम्मानित किया जाता है।

हॉकी के गोल्डन हीरो-

हॉकी के गोल्डन हीरो-

ध्यानचंद का हॉकी में वहीं स्थान हैं जो क्रिकेट में ब्रेडमैन और फुटबॉल में पेले का है। बताया जाता है कि जर्मनी का तानाशाह एडोल्फ हिटलर भी ध्यानचंद की स्टिक के जादू का कायल था और उसने ध्यानचंद से जर्मनी के लिए खेलने की पेशकश भी की थी जिसको ध्यानचंद ने विनम्रता से ठुकरा दिया था। ध्यानचंद खुद भी सिपाही बैकग्राउंड के रहे थे। शुरुआती शिक्षा के बाद वे 16 साल की उम्र में सिपाही के तौर पर भर्ती हो गए थे। बता दें कि ध्यानचंद का जन्म 29 अगस्त 1905 को इलाहाबाद में हुआ था। ध्यानचंद का हॉकी के प्रति रूझान सेना में भर्ती के बाद धीरे-धीरे बढ़ना शुरू हुआ। एक बार हॉकी में प्रवेश करने के बाद ध्यानचंद ने वापस मुड़कर नहीं देखा। उनका सक्रिय खेल जीवन भारतीय हॉकी का गोल्डन पीरियड कहा जाता है।

ध्यानचंद से जुड़ा मजेदार किस्सा-

ध्यानचंद से जुड़ा मजेदार किस्सा-

ध्यानचंद ने तीन तीन ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व किया और तीनों बार देश को स्वर्ण पदक दिलाया। उनकी स्टिक में जो जादू था उसके बाद कई लोगों को शक होता था कि यह खिलाड़ी हॉकी में चुंबक या गोंद लगाकर खेलता है। मजेदार तथ्य हॉलैंड में एक मैच के दौरान हॉकी में चुंबक होने की आशंका में उनकी स्टिक तोड़कर देखी गई। वहीं जापान में एक मैच के दौरान उनकी स्टिक में गोंद लगे होने की बात भी कही गई। उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में 400 से भी ज्यादा गोल किए थे।

PKL 2019, Preview: सीजन के 64वें मैच में आमने-सामने होंगे वारियर्स और थलाइवाज

इस बार मिलने इन खिलाड़ियों के नाम हुए खेल अवॉर्ड-

इस बार मिलने इन खिलाड़ियों के नाम हुए खेल अवॉर्ड-

बता दें कि इस बार खेल दिवस पर बजरंग पुनिया (कुश्ती) और दीपा मलिक (पैरा एथलेटिक्स) को राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड दिया जा रहा है। ये भारत में खेलों की दुनिया में दिया जाने वाले सबसे बड़ा अवॉर्ड होता है। इसके अलावा द्रोणाचार्य अवॉर्ड (नियमित) में विमल कुमार (बैडमिंटन), संदीप गुप्ता (टेबल टेनिस) और मोहिंदर सिंह ढिल्लों (एथलेटिक्स) का नाम शामिल हैं जबकि द्रोणाचार्य अवॉर्ड (लाइफ टाइम) मरजबान पटेल (हॉकी), रामबीर सिंह खोखर (कबड्डी) और संजय भारद्वाज (क्रिकेट) को दिया जा रहा है। वहीं ध्यानचंद अवॉर्ड में मैनुअल फ्रेडरिक्स (हॉकी), अरूप बसाक (टेबल टेनिस), मनोज कुमार (कुश्ती), नितिन कीर्तने (टेनिस) और सी लालरेमसांगा (तीरंदाजी) का नाम शामिल है। इसके अलावा 29 अगस्त को अर्जुन अवॉर्ड, राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार आदि भी दिए जाएंगे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, August 29, 2019, 11:21 [IST]
Other articles published on Aug 29, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X