रिकी पोंटिंग ने फिर याद दिलाई 2003 विश्व कप की शर्मनाक हार, फैन्स ने पूछा-बल्ले की स्प्रिंग तो दिखाओ

नई दिल्ली। सौरव गांगुली की कप्तानी में क्रिकेट देखने वाले हर शख्स को 23 मार्च 2003 में खेला गया भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया को वो विश्व कप फाइनल जरूर याद होगा जिसमें कंगारू टीम के कप्तान रिकी पोंटिंग ने भारतीय गेंदबाजों की जमकर धुलाई की थी। कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच इन दिनों सभी खिलाड़ी अपने घर पर हैं और परिवार के साथ समय बिता रहे हैं। इस बीच ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने 2003 विश्व कप के उस फाइनल मैच को याद करते हुए अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर उस बैट की तस्वीर शेयर की जिससे उन्होंने उस मैच में भारतीय बल्लेबाजों की जमकर धुनाई की थी।

संजय मांजरेकर ने बताया कौन है भारत के नंबर 4 और 5 पोजिशन के बेस्ट बल्लेबाज

रिकी पोंटिंग ने इस मैच में 121 गेंद में नाबाद 140 रनों की पारी खेली थी और भारत के सामने 50 ओवर में 2 विकेट खोकर 359 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया था। इस मैच के भारतीय फैन्स के बीच एक मजेदार अफवाह उड़ निकली थी कि जिस बल्ले से रिकी पोंटिंग ने बैटिंग की उसमें स्प्रिंग लगी हुई थी इसीलिये उन्होंने इस मैच में इतने रन बना डाले।

PSL 2020: पीसीबी का बड़ा ऐलान, बताया- कब होंगे टूर्नामेंट के बचे मैचों का आयोजन

बल्ले की फोटो शेयर कर जानें क्या बोले पोंटिंग

रिकी पोंटिंग ने ट्विटर पर भारत के खिलाफ 2003 विश्व कप फाइनल में इस्तेमाल किये गये बल्ले की फोटो शेयर करते हुए लिखा कि यह वही बैट है जिससे फाइनल मैच में मैंने भारतीय गेंदबाजों की कमर तोड़ी थी।

उन्होंने पोस्ट में लिखा, 'हम सभी को थोड़ा समय मिला है क्योंकि हमसब घर पर हैं। मैंने सोचा कि मैंने अपने करियर में जो कुछ भी रखा है उसे आप सब के बीच साझा करूंगा। यह वह बल्ला है, जिसे मैंने 2003 विश्व कप के फाइनल में इस्तेमाल किया था।'

फैन्स ने पूछा स्प्रिंग कहां है

रिकी पोंटिंग के इस ट्वीट पर कई सारे मजेदार जवाब आये और भारतीय फैन्स ने भी बढ़ चढ़कर सवाल पूछे। इस दौरान एक सवाल ऐसा था जो ज्यादातर भारतीय फैन्स ने रिकी पोंटिंग से पूछा।

फैन्स ने पोंटिंग से पूछा,'बल्ला तो ठीक है पर इसमें लगी स्प्रिंग किधर है।'

पूरे टूर्नामेंट में सिर्फ ऑस्ट्रेलिया से हारा था भारत

पूरे टूर्नामेंट में सिर्फ ऑस्ट्रेलिया से हारा था भारत

गौरतलब है कि सौरव गांगुली की कप्तानी वाली उस भारतीय टीम का विश्व कप अभियान काफी शानदार रहा था। ग्रुप स्टेज के दौरान यह दोनों टीमें एक ही ग्रुप में थी। ऑस्ट्रेलिया की टीम ने भारत को लीग स्टेज में भी हराया था जिसके बाद भारतीय टीम ने लगातार सारे मैच जीतकर फाइनल में जगह बनाई थी। 1983 के बाद पहली बार भारत विश्व कप फाइनल में पहुंचा था जहां पर उसे एक बार फिर ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा।

ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में 359 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था जिसके जवाब में भारतीय टीम महज 234 रनों पर ऑल आउट हो गई थी और 125 रनों से मैच को हार गई थी।

जहीर खान की हुई थी जमकर पिटाई, कंगारू बल्लेबाजों का रहा था बोलबाला

जहीर खान की हुई थी जमकर पिटाई, कंगारू बल्लेबाजों का रहा था बोलबाला

इस मैच में कप्तान रिकी पोंटिंग नाबाद 140 रनों की पारी खेलकर वापस लौटे थे, जबकि डेमियन मार्टिन ने भी नाबाद 88 रन बनाए थे। वहीं एडम गिलक्रिस्ट ने 48 गेंद पर 57 रनों की पारी खेली थी जबकि मैथ्यू हेडेन 37 रन बनाकर वापस पवेलियन लौटे थे।

मैच में जहीर खान ने 7 ओवर में 67 रन खर्च डाले थे, भारत ने उस मैच में 8 गेंदबाजों का इस्तेमाल किया था, लेकिन कोई भी पोंटिंग की रनों की रफ्तार पर काबू नहीं पा सका था। जो दो विकेट गिरे थे, वो हरभजन सिंह के खाते में गए थे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Monday, March 23, 2020, 20:46 [IST]
Other articles published on Mar 23, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X