5 दिन में टीम इंडिया ने दूसरी बार किया पाक पर 'सर्जिकल स्ट्राइक', बनाए एक पे एक 11 रिकॉर्ड

By गौतम सचदेव
rohit shrama and shikhar dhawan Match creates 11 amazing cricket records

नई दिल्ली : टीम इंडिया ने एशिया कप की शुरुआत हॉन्गकॉन्ग के साथ की जो धीमी और लचर कही गई लेकिन पाकिस्तान को पिछले 5 दिनों में में दो बार हराकर मौजूदा टूर्नामेंट में अपनी प्रबल दावेदारी पेश की है। एशिया कप को विश्व कप-2019 की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है। टीम इंडिया के ओपनर रोहित और धवन की धमाकेदार पारियों ने पाकिस्तान के खिलाफ दूसरे मैच में कई नए क्रिकेट इतिहास लिखने में अहम भूमिका निभाई। दो धमाकेदार पारियों से बने रिकॉर्ड की पूरी कहानी।

पाकिस्तान पर भारत की सबसे बड़ी जीत

पाकिस्तान पर भारत की सबसे बड़ी जीत

दुबई में टीम इंडिया के 'गब्बर' और 'हिटमैन' (धवन और रोहित) ने एक ऐसी पारी खेली जो भारतीय क्रिकेट इतिहास में टीम इंडिया की पाकिस्तान टीम के खिलाफ सबसे बड़ी जीत लेकर आई। धवन (100 गेंदों में 114 रन,16 चौके और 2 शानदार छक्के) शतक जड़ने के बाद दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन-आउट हो गए। टीम इंडिया ने 63 गेंदें शेष रहते ही यह मुकाबला जीत लिया। भारतीय टीम ने महज 39.3 ओवर में 238 रनों का लक्ष्य हासिल किया और पाकिस्तान को 9 विकेट से मात दी। भारतीय टीम ने पहली बार पाकिस्तान को किसी ODI मुकाबले में 9 विकेट के अंतर से हराया है।

Shikha-THE-ONE : (धवन का बड़ा धमाका)

Shikha-THE-ONE : (धवन का बड़ा धमाका)

अंग्रेजी कमेंटेटर्स (खासकर विदेशी) शिखर धवन को Shikha-THE-ONE उच्चारित करते हैं और टीम इंडिया के इस दबंग खिलाड़ी ने अपने इस उपनाम को भी सही साबित किया। मौजूदा एशिया कप में दो शतक जड़ते ही शिखर धवन पहले ऐसे भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं जिनके नाम एशिया कप, चैंपियंस ट्रॉफी और वर्ल्ड कप में दो शतक हैं। इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज में खराब फॉर्म से गुजर रहे धवन ने वर्ल्ड कप-2019 से पहले दुनिया को अपनी आतिशी पारियों से चेतावनी दे दी है कि 'गब्बर इज बैक'।

READ MORE :गांगुली और द्रविड़ ने एक दूसरे के बारे में बताईं कई अनसुनी बातें

एलीट क्लब में धवन

एलीट क्लब में धवन

हाल के दिनों में अपने खरान फॉर्म को लेकर आलोचनाओं को झेल रहे धवन ने शतकीय पारी से आलोचकों को खामोश कर दिया। शिखर धवन ने अपने शतक से 15 शतक लगाने वालों की एलिट क्लब में भी दस्तक दे दी है। उन्होंने ODI में यह उपलब्धि हासिल करने के लिए 108 मैचों का समय लिया वहीं टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने यह कमाल 106 मैचों में तो दक्षिण अफ्रीकी दिग्गज हाशिम अमला ने महज 86 मैचों में इस उपलब्धि के आगे अपना नाम अंकित कर लिया था। पाकिस्तान के सईद अनवर ने यह मुकाम 143 ODI मुकाबलों में हासिल किया।

पाकिस्तान के खिलाफ 3 बड़ी साझेदारी

पाकिस्तान के खिलाफ 3 बड़ी साझेदारी

पाकिस्तान के खिलाफ किसी भी मैच में टीम इंडिया के दिग्गजों का बल्ला जमकर बोलता है। रोहित और धवन के धमाके से ODI इतिहास (धवन-रोहित 210 रन पहले विकेट के लिए) में पाकिस्तान के खिलाफ पहले विकेट लिए सबसे बड़ी साझेदारी हुई। इससे पहले भी भारतीय दिग्गजों ने पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर धुनाई की है। तेंदुलकर और सिद्धू के बीच शारजाह (1996) में दूसरे विकेट के लिए 231रनों की साझेदारी हुई थी। वहीं कोच्चि में सहवाग-द्रविड़ के बीच तीसरे विकेट के लिए (साल 2005) 201 रनों की साझेदारी हुई थी।

पिछले 5 सालों में रोहित-धवन का धमाका

पिछले 5 सालों में रोहित-धवन का धमाका

रोहित और धवन की जोड़ी ने पिछले पांच सालों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक से बढ़कर एक धमाकेदार पारी खेली है। अगर इस जोड़ीदार के आंकड़ों पर नजर डाला जाए तो एक से बढ़कर एक रिकॉर्ड उनके नाम दर्ज हैं। नागपुर में धवन-रोहित की जोड़ी ने साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 178 रनों की पारी खेली। इसी साल (2013) उन्होंने जयपुर में इस जोड़ी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 176 रनों की साझेदारी की। हैमिल्टन ने इन्होंने 174 रनों की साझेदारी निभाई और पाकिस्तान के खिलाफ मौजूदा एशिया कप के लीग मुकाबले में 171 रनों की साझेदारी निभाई है।

सबसे तेज 19वां शतक लगाने वाले 5वें बल्लेबाज

सबसे तेज 19वां शतक लगाने वाले 5वें बल्लेबाज

विराट की अनुपस्थिति में रोहित ने बतौर कप्तान शानदार भूमिका निभाई है। वह अब मैच अपने दम पर जिताकर पवेलियन वापस लौटने की कला में महारत हासिल कर रहे हैं। पाकिस्तान के खिलाफ शतक जड़ते ही उन्होंने ODI में अपना 19वां शतक पूरा किया। रोहित पांचवें ऐसे बल्लेबाज बने हैं जिन्होंने सबसे तेज 19 शतक का आंकड़ा छुआ है। उन्होंने यह उपलब्धि 181 पारियों में हासिल की। हाशिल अमला ने यह कमाल 104 तो विराट कोहली ने 124 पारियों में किया था यह कमाल। मिस्टर-360 डिवलियर्स ने 171, गेल ने 189 और रॉस टेलर ने 190 पारियों में पाया यह मुकाम।

'धोनी रिव्यू सिस्टम' में माही हैं अव्वल, ये हैं DRS के दिलचस्प आंकड़े

तीन बार पाक के खिलाफ हुआ यह कमाल

तीन बार पाक के खिलाफ हुआ यह कमाल

कमेंटेटर रमीज राजा ने भारत को मिली जीत के बाद रोहित से एक सवाल पूछा कि आप दोनों (धवन-रोहित) आपस में बहुत बात नहीं करते लेकिन सामने वाली टीम पर एक साथ हावी रहते हैं, क्या आंखों की भाषा में बात होती है। रोहित ने जवाब दिया "साथ खेलते-खेलते हम एक दूसरे की गेम को बहुत अच्छे से जान गए हैं ' ऐसा कहा जाता है कि किसी भी टीम की जीत में ओपनर बल्लेबाजों की बड़ी भूमिका होती है और अगर वो बल्लेबाज रोहित और धवन हों तो क्या कहने। यह तीसरा मौका था जब पाकिस्तान के खिलाफ किसी भी एकदिवसीय मुकाबले में दो खिलाड़ियों ने शतक जड़ा हो। इससे पहले साल 1996 में सचिन तेंदुलकर (118) और नवजोत सिद्धू (101) ने शतकीय पारी खेली थी वहीं कोच्चि में सहवाग (108) और राहुल द्रविड़ (104) ने भी साल 2005 में यह कमाल किया था।

बड़े टूर्नामेंट में धवन का धमाका

बड़े टूर्नामेंट में धवन का धमाका

टीम इंडिया के ओपनर धवन ब्लू जर्सी में कई बड़े-बड़े धमाके कर चुके हैं, उनके रिकॉर्ड इस बात की गवाही देते हैं। धवन बड़े टूर्नामेंट में विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए माहिर हैं। उनकी बल्लेबाजी औसत ही इसकी पूरी कहानी बताता है। वर्ल्ड कप में धवन ने 51.50 की औसत से रन बनाए हैं। एशिया कप में भी उन्होंने 70.57 की औसत से अब तक रन बनाए हैं वहीं चैंपियंस ट्रॉफी की 10 पारियों में 77.88 के औसत से रन बनाए हैं। उनका यह औसत 5 या उससे अधिक मैचों के टूर्नामेंट में है।

एशिया कप में भारतीय बल्लेबाजों की दहाड़

एशिया कप में भारतीय बल्लेबाजों की दहाड़

एशिया कप में टीम इंडिया के कई खिलाड़ियों ने बड़े धमाके किए हैं। धवन ने 4 मैचों में 81.75 की औसत से अब तक 327 रन बना लिए हैं। वहीं इस टूर्नामेंट में सबसे अधिक रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाजों की सूची में सुरेश रैना (साल 2008) 372 रन के साथ टॉप पर हैं। विराट कोहली (2012) इस लिस्ट में 357 रन के साथ दूसरे नंबर पर हैं। साल (2008) वीरेंद्र सहवाग इस सूची में 348 रन के साथ तीसरे और धवन-धोनी (2018 और 2008) संयुक्त रूप से चौथे नंबर पर हैं।

राशिद खान: अपनी अम्मी से क्यों बोलता है बार-बार झूठ

पाकिस्तान पर भारत की 4 बड़ी जीत

पाकिस्तान पर भारत की 4 बड़ी जीत

आधुनिक क्रिकेट में हाल के दिनों में बदलते नियमों की वजह से कोई भी टीम विपक्षी टीम पर हावी होकर जीतती है। एशिया कप में टीम इंडिया ने पाकिस्तान के खिलाफ दो बड़ी जीत दर्ज की है। पाक के खिलाफ लीग मैच में 163 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने 126 गेंदें शेष रहते मैच जीत लिया। मुल्तान में 162 का लक्ष्य साल 2006 में टीम इंडिया ने 105 गेंदें शेष रहते हुए जीता। 1997 में टोरंटो में 117 रनों का टारगेट 92 गेंदें शेष रहते हासिल किया और एशिया कप में 63 गेंदें शेष रहते ही 238 रनों का लक्ष्य हासिल किया।

एकतरफा हो रहे भारत-पाक मुकाबले

एकतरफा हो रहे भारत-पाक मुकाबले

टीम इंडिया और पाकिस्तान के मुकाबले को हाल के दिनों में आवश्यकता से अधिक हाइप मिली है लेकिन आंकड़ों में देखेंगे तो इन दो टीमों के बीच पिछले पांच मुकाबले एकतरफा हुए हैं। टीम इंडिया ने पाकिस्तान को 2015 के वर्ल्ड-कप मुकाबले में 76 रनों से मात दी। चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में भारत ने पाकिस्तान को 117 रनों से एकतरफा मुकाबले में मात दी। चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल (2017) में पाकिस्तान ने भारत को 180 रनों से मात दी और एशिया कप के लीग स्टेज मुकाबले में (2018) टीम इंडिया ने 8 विकेट से हराया और दुबई के ग्रुप मुकाबले में 9 विकेट से पटखनी दी।

'हिटमैन' रोहित शर्मा की पारी एक रिकॉर्ड अनेक, जानिए किस-किस को छोड़ा पीछे

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

    क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

    Story first published: Monday, September 24, 2018, 15:15 [IST]
    Other articles published on Sep 24, 2018
    POLLS

    MyKhel से प्राप्त करें ब्रेकिंग न्यूज अलर्ट

    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Mykhel sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Mykhel website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more