कमाल के बल्लेबाज हैं रोहित, लेकिन टेस्ट में पीछे क्यों रह गए, पूर्व इंग्लिश कप्तान ने बताया कारण

नई दिल्ली: भारत के उप-कप्तान रोहित शर्मा टेस्ट की तुलना में इस समय सीमित ओवरों के क्रिकेट में बड़े नाम हैं। जब से रोहित को 2013 में बल्लेबाजी क्रम के शीर्ष पर भेजा गया, तब से वह एक ना रुकने वाले खिलाड़ी हैं। रोहित ने वनडे में तीन दोहरे शतक बनाए हैं, जो किसी भी खिलाड़ी द्वारा सबसे अधिक है। रोहित ने चार T20I शतक भी बनाए हैं, जो किसी भी खिलाड़ी द्वारा सबसे ज्यादा है। रोहित ने विश्व कप 2019 में पांच शतक बनाए, जो किसी भी खिलाड़ी द्वारा विश्व कप के किसी भी संस्करण में सबसे अधिक है। विराट कोहली के बाद में रोहित ही टी -20 में दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज भी हैं। लेकिन सीमित ओवरों के क्रिकेट में इस तरह के सनसनीखेज रिकॉर्ड के बावजूद, बल्लेबाज को टेस्ट क्रिकेट में समान स्तर पर सफलता नहीं मिली है।

रोहित का टेस्ट सफर सफेद गेंद से कमतर क्यों-

रोहित का टेस्ट सफर सफेद गेंद से कमतर क्यों-

वैसे रोहित टेस्ट क्रिकेट में उतने बुरे नहीं रहे। उन्होंने 32 खेलों में 6 शतक बनाए हैं और सबसे लंबे प्रारूप में 2,141 रन बनाए हैं। लेकिन उनके कद के खिलाड़ी के लिए, करियर में इस समय अधिक टेस्ट खेलने और अधिक रिकॉर्ड बनाने की उम्मीद होती है।

कोहली की कमान में कैसा है टेस्ट उप-कप्तान बनना, अजिंक्य रहाणे ने बताया अपना अनुभव

क्रिकेट डॉट कॉम द्वारा इंग्लैंड के पूर्व कप्तान डेविड गोवर से पूछा गया था कि क्या वह इस तथ्य से आश्चर्यचकित हैं कि रोहित को टेस्ट क्रिकेट में सफलता का वह स्तर नहीं मिल पाया है। अपनी प्रतिक्रिया में, गोवर ने कहा: "मैं चौंका नहीं, इससे बहुत दूर। अपार प्रतिभा वाले खिलाड़ियों ऐसे बहुत से खिलाड़ी हैं, मैं आपको दर्जन भर खिलाड़ियों का नाम दे सकता हूं जो संभवत: सफेद गेंद वाले क्रिकेट में बहुत अच्छे हैं, लेकिन लाल गेंद वाले क्रिकेट में निराश हैं।

जेसन रॉय का उदाहरण देकर डेविड गोवर ने समझाया-

जेसन रॉय का उदाहरण देकर डेविड गोवर ने समझाया-

"इसका मतलब यह नहीं है कि वे प्रतिभाशाली नहीं हैं। उदाहरण के लिए, हमारे पास इंग्लैंड में एक है - जेसन रॉय, जो बहुत ही प्रतिभाशाली खिलाड़ी है। पिछले साल इंग्लैंड के विश्व कप जीत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा थे। मुझे उम्मीद थी कि वह टेस्ट मैच स्तर पर खुद को बेहतर तरीके से नियंत्रित करना सीख सकता है और रन बना सकता है। एशेज में जो कुछ हुआ, उससे वह सारी उम्मीद अब थोड़ी दूर लग रही है। "

गोवर ने कहा- खिलाड़ियों की कलई खोलता है टेस्ट क्रिकेट

गोवर ने कहा- खिलाड़ियों की कलई खोलता है टेस्ट क्रिकेट

गोवर ने कहा- खिलाड़ियों की कलई खोलता है टेस्ट क्रिकेट

उन्होंने आगे कहा: "यही कारण है कि आप कहते हैं कि अंतिम परीक्षण टेस्ट मैच क्रिकेट है क्योंकि यह लोगों को विभिन्न समस्याओं को उजागर करता है। बहुत से खिलाड़ी सफेद गेंद क्रिकेट में शानदार करते हैं लेकिन जब बात एक कदम आगे बढ़ाने की आती है तो उनकी कलई खुलने लगती है और मैं हमेशा टेस्ट मैचों को एक कदम आगे बढ़ाने जैसी चीजों में शामिल करता हूं।"

कोरोना पॉजिटिव अमिताभ बच्चन के लिए सचिन, शोएब समेत इन क्रिकेटरों ने मांगी दुआ

'क्रिकेट में सबकी जगह लेकिन सर्वाधिक सम्मान टेस्ट मैचों का'

'क्रिकेट में सबकी जगह लेकिन सर्वाधिक सम्मान टेस्ट मैचों का'

गोवर ने आगे कहा: "जो सभी प्रारूपों में रन बनाते हैं, वे वही होते हैं जिनकी आपको सबसे अधिक प्रशंसा करनी होती है। इसका मतलब यह नहीं है कि आप ऐसे लोगों की गुणवत्ता की प्रशंसा ना करें जो आईपीएल में सबसे मूल्यवान खिलाड़ी बन जाते हैं या जो आपको 50 ओवरों में विश्व कप जीतते हैं या आप टी 20 में विश्व कप जीतते हैं। वे सभी योग्यताएं प्राप्त कर चुके हैं, वे सभी कौशल प्राप्त कर चुके हैं, उन्होंने उन सभी चीजों को प्राप्त किया है जो जनता का मनोरंजन करती हैं जो कि व्यवसाय का भी हिस्सा है। यह एक ऐसा व्यवसाय है जो एक मनोरंजन है और इसे लोगों को टेलीविजन पर या मैदान पर देखने की जरूरत है। इसलिए, सभी के लिए जगह है। लेकिन मेरे दिल में उन लोगों के लिए सबसे अधिक सम्मान है जो किसी भी प्रारूप में प्रदर्शन कर सकते हैं, विशेषकर टेस्ट मैच क्रिकेट में। "

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, July 12, 2020, 13:00 [IST]
Other articles published on Jul 12, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X