'इसके हाथ में जान नहीं है, गेंद दूर तक नहीं जाएगी'- जब मार्कंडे के पीछे पड़े ईशान किशन, VIDEO

नई दिल्ली: दलीप ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में भारत के उभरते खिलाड़ियों के ऊपर चयनकर्ताओं की नजरें जमी हुई हैं। टीम इंडिया में इस समय धोनी की अनुपस्थिति के बीच पंत मुख्य विकेटकीपर की भूमिका निभा रहे हैं। पंत के कार्यभार को कम करने के अलावा एक और शानदार विकेटकीपर तैयार करना चयनकर्ताओं की प्राथमिकता सूची में शामिल है। इसके लिए दलीप ट्रॉफी खेल रहे ईशान किशन पर सबकी नजरें टिकी हैं। इस प्रतियोगिता में इंडिया ग्रीन और इंडिया रेड के बीच फाइनल मुकाबला एम चिन्नास्वामी स्टेडियम, बेंगलुरु में बुधवार से खेला जा रहा है।

ईशान किशन की टोंट से छूटी हंसी-

ईशान किशन की टोंट से छूटी हंसी-

21 साल के इस विकेटकीपर बल्लेबाज को भारत के धोनी युग के बाद भारत का अगले बड़े प्रतिभाशाली विकेटकीपर के तौर पर देखा जा रहा है। मैच के पहले दिन किशन काफी बिजी दिखाई दिए और उनका अधिकतर समय बातचीत करने में गुजरा। इस मैच में इंडिया ग्रीन के कप्तान फैज फजल टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। हालांकि उनकी टीम के लिए खास दिन नहीं रहा और पहले दिन हुए केवल 49 ओवर में ही इस टीम के 147 रन पर ही 8 विकेट गिर गए। ग्रीन टीम के नंबर 8 के बल्लेबाज मयंक मार्कंडे टीम के उच्चतम स्कोरर रहे और उन्होंने 32 रन बनाए। किशन की उनके साथ हुई बातचीत मैच का मजेदार किस्सा बन गई।

'इसके हाथ में जान नहीं, शॉट दूर तक नहीं जाएगा'

मार्कंडे जब बैटिंग करने आए तब ग्रीन टीम के 6 विकेट केवल 99 रन पर ही गिर चुके थे और 34वां ओवर चल रहा था। किशन ने उनके बैटिंग पर आते ही निशाना साधना शुरू कर दिया और मार्कंडे के बारे में फील्डर्स से बात करनी शुरू कर दी। स्टंप माइक्रोफोन ने यह बात सुन ली। किशन ने फील्डर्स से कहा, 'उसका शॉट ज्यादा दूर तक नहीं जाएगा। गेंद सीधे आपके सामने आएगी।' किशन ने यह बात डीप पॉजिशन में तैनात फील्डर्स से कही और तब गेंदबाजी लेग स्पिनर आदित्य सरवटे कर रहे थे।

रोहित शर्मा ने शुरू की 'बैटिंग' की नई पारी, अब इस रोल में नजर आएंगे

'भाई को खेलने का मन नहीं है'

'भाई को खेलने का मन नहीं है'

किशन की बात पर स्लिप फील्डर्स के साथ बल्लेबाज को भी हंसी आ गई। ईशान साफ कहते हुए बार-बार सुने जा सकते थे- इसके (मयंक) हाथ में इतनी जान नहीं है। इसका गेंद इतना दूर तक नहीं जाएगा।' इतना ही नहीं इसी ओवर में ईशान ने मयंक के लिए यह भी कहा- 'खेलने का मन नहीं है भाई को।' ईशान की इस बातचीत को आप यहां पर सुन सकते हैं। बता दें कि मयंक ने इस मैच में दूसरे दिन शानदार बल्लेबाजी की और 7 चौकों की सहायता से 76 रन बनाए जिसके दम पर ग्रीन टीम 231 रन बना सकी। जयदेव उनादकट ने इस पारी में 4 विकेट लिए।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, September 5, 2019, 13:47 [IST]
Other articles published on Sep 5, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X