5 भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने 2021 में किया धमाकेदार डेब्यू, पहले ही मैच से बने जीत के हीरो

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट का साल 2021 खत्म होने की कगार पर है और नये साल के साथ भारतीय टीम एक नया अध्याय लिखने की कोशिश में नजर आयेगी। 2021 का साल भारतीय टीम के लिये काफी मिला जुला रहा, जिसमें उसे दो बार आईसीसी खिताब जीतने का मौका मिले लेकिन दोनों बार वो उस सूखे को खत्म करने में नाकाम रही। हालांकि इस नाकामी को छोड़ दिया जाये तो भारत के लिये काफी सारी बेहतरीन चीजें भी हुई हैं। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर महज 36 रन पर ऑल आउट होने के बाद जिस तरह से भारतीय टीम ने वापसी की और 2-1 से सीरीज जीती वह काबिल ए तारीफ रहा। कंगारू टीम के लिये जीत का गढ़ माने जाने वाले गाबा के मैदान पर शायद ही किसी ने सोचा होगा कि चोट से जूझ रही भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया की इतनी शानदार टीम को मात दे सकेगी।

और पढ़ें: खत्म होने की कगार पर है शिखर धवन का करियर, 3 खिलाड़ी जो 2022 में ले सकते हैं उनकी जगह

घर में इंग्लैंड से पहले ही टेस्ट मैच में हार का सामना करने के बाद वापसी करना और 3-1 से सीरीज को अपने नाम कर टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचना भी भारतीय टीम की कामयाबियों का हिस्सा रहा। इस दौरान कई युवा भारतीय खिलाड़ियों ने अपना अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू भी किया और पहले ही मैच में शानदार प्रदर्शन कर टीम को जीत दिलाई। 2022 में अब भारतीय टीम नये कप्तान रोहित शर्मा और नये हेड कोच राहुल द्रविड़ के नेतृत्व में नया अध्याय लिखना शुरू करेगी और ऑस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले टी20 विश्वकप में जीत हासिल करना चाहेगी। ऐसे में यह खिलाड़ी नई भारतीय टीम में एक अलग मजबूती ला सकते हैं और उसके आईसीसी खिताब के सूखे को खत्म कर सकते हैं।

और पढ़ें: 2018 एशिया कप में ही शोएब अख्तर ने हार्दिक पांड्या को किया था वॉर्न, फिर 3 साल में सच साबित हुई चेतावनी

इशान किशन (Ishan Kishan)

इशान किशन (Ishan Kishan)

इस फेहरिस्त में पहला नाम युवा विकेटकीपर बल्लेबाज इशान किशन का है, जिन्हें इस साल पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ घर पर खेली टी20 सीरीज में डेब्यू का मौका मिला। इशान किशन ने अपने पहले ही मैच में डेब्यू करते हुए अर्धशतक जड़ा और 56 रनों की पारी खेल डाली। उनकी इस पारी की बदौलत जो भारतीय टीम लड़खड़ाती हुई नजर आ रही थी उसने अचानक ही तेजी पकड़ ली और मैच को जीत लिया। किशन ने इसके बाद श्रीलंका दौरे पर पहुंची भारत की बी टीम के साथ अपना वनडे डेब्यू किया, जहां पर 2 मैचों में उन्होंने 60 रन बनाये। पहले मैच में सिर्फ एक रन पर आउट होने वाले इशान किशन ने अपने दूसरे मैच में 59 रनों की पारी खेलते हुए अर्धशतक पूरा किया और टीम को यहां पर भी जीत दिलाई।

इशान किशन उन खिलाड़ियों में शामिल हैं जो टॉप ऑर्डर में विस्फोटक बल्लेबाजी कर सकते हैं तो वहीं पर विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी भी संभाल सकते हैं। हालांकि ऋषभ पंत के फॉर्म में वापसी करने की वजह से इशान किशन को तीसरे-चौथे नंबर के विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में तैयार किया जा रहा है, जो कि ऑस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले टी20 विश्वकप में डार्क होर्स साबित हो सकते हैं।

सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav)

सूर्यकुमार यादव (Suryakumar Yadav)

लंबे समय से चयनकर्ताओं की नजरअंदाजी की मार झेल रहे सूर्यकुमार यादव का भारतीय टीम के लिये खेलने का सपना आखिरकार इस साल पूरा हो गया है। इशान किशन की तरह ही सूर्यकुमार यादव को भी इंग्लैंड के खिलाफ घर पर खेली गई टी20 सीरीज में डेब्यू करने का मौका मिला, जहां पर उन्होंने अपने पहले ही मैच में अर्धशतक तो नहीं जड़ा लेकिन मैच जिताऊ पारी जरूर खेली। सूर्यकुमार यादव के टीम में आने के बाद से मध्यक्रम को काफी मजबूती मिली है, जो कि न सिर्फ पारी को संभालते हैं बल्कि कभी भी रनों की रफ्तार को बढ़ाकर तेजी से रन बना सकते हैं। सूर्यकुमार यादव की काबिलियत का ही नतीजा रहा कि उन्हें टी20 विश्वकप में भी खेलने का मौका मिला।

सूर्यकुमार यादव अब तक 11 टी20 मैच की 9 पारियों में 34.66 की औसत से 244 रन बना चुके हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 3 अर्धशतक आ चुके हैं। वहीं वनडे प्रारूप में भी सूर्यकुमार यादव को श्रीलंका दौरे पर डेब्यू का मौका मिला, जहां पर 3 मैचों में एक अर्धशतक के साथ उन्होंने 124 रन बनाये।

हर्षल पटेल (Harshal Patel)

हर्षल पटेल (Harshal Patel)

इस फेहरिस्त में तीसरा नाम उस खिलाड़ी का है जो लंबे समय से अपने आपको साबित करने की कोशिश में लगा हुआ था और आखिरकार आईपीएल 2021 के दौरान किये गये उसके प्रदर्शन ने न सिर्फ चयनकर्ताओं को बल्कि दुनिया भर के दिग्गजों को उसे पहचानने पर मजबूर कर दिया। आईपीएल के एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले अनकैप्ड खिलाड़ी हर्षल पटेल के लिये यह सीजन काफी शानदार रहा, जहां पर आरसीबी के लिये खेलते हुए उन्होंने 32 विकेट चटकाये और सीजन में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज की लिस्ट में ड्वेन ब्रावो के रिकॉर्ड की बराबरी की। हर्षल पटेल पहले गेंदबाज बने जिसने मुंबई इंडियंस के खिलाफ 5 विकेट हॉल लिया तो दूसरे लेग के दौरान हैट्रिक भी हासिल की। हर्षल पटेल के लगातार अच्छे प्रदर्शन के चलते चयनकर्ता इस खिलाड़ी को मौका देने के लिये मजबूर हो गये।

टी20 विश्वकप के बाद जब न्यूजीलैंड की टीम भारत के साथ 3 मैचों की टी20 सीरीज खेलने आयी तो हर्षल पटेल को टीम में शामिल किया गया लेकिन डेब्यू का मौका उन्हें दूसरे मैच में जाकर मिला। जहां पर हर्षल पटेल ने अपने डेब्यू मैच में 25 रन देकर 2 अहम विकेट चटकाये तो वहीं पर बल्ले से भी 18 रनों का योगदान दिया और मैन ऑफ द मैच बने। अगले मैच में भी हर्षल ने 2 विकेट चटकाये और कीवी टीम को क्लीन स्वीप करने में अहम योगदान दिया।

वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer)

वेंकटेश अय्यर (Venkatesh Iyer)

आईपीएल 2021 के दूसरे लेग में एक नाम अचानक से सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा, जिसने न सिर्फ अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी से फैन्स का मनोरंजन किया बल्कि पहले 7 में से 5 मैचों में हार का सामना कर यूएई पहुंची कोलकाता नाइट राइडर्स की किस्मत भी बदल दी और उसे फाइनल में पहुंचाया। केकेआर की टीम के लिये ओपनिंग करते हुए वेंकटेश अय्यर ने 10 मैचों में 370 रन बनाये, हालांकि फाइनल में सीएसके के सामने उनकी टीम खिताब नहीं जीत सकी लेकिन इस खिलाड़ी की किस्मत जरूर बदल गई। टी20 विश्वकप के बाद वेंकटेश अय्यर को न्यूजीलैंड के खिलाफ डेब्यू का मौका मिला, जहां पहले मैच में वो आखिरी ओवर के दौरान खेलने पहुंचे। इस ओवर में भारत को जीत के लिये लगभग 13 रन की दरकार थी और अय्यर ने पहली ही गेंद पर चौका लगाकर टीम पर बन रहे दबाव को कम किया। मैच को भले ही पंत ने खत्म किया हो लेकिन अय्यर के इस चौके का भी अहम योगदान रहा।

टीम मैनेजमेंट वेंकटेश अय्यर को हार्दिक पांड्या के विकल्प को तौर पर देख रहा है जो निचले मध्यक्रम में आकर विस्फोटक बल्लेबाजी कर सके और गेंदबाजी से अहम मौकों पर विकेट भी दिला सके। फिलहाल अय्यर अपने इस रोल को विजय हजारे ट्रॉफी में बखूबी निभा रहे हैं और दो शतक एवं एक अर्धशतक के दम पर मध्यप्रदेश को जीत की राह पर बनाये हुए हैं।

ऋतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad)

ऋतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad)

इस फेहरिस्त में आखिरी नाम ऋतुराज गायकवाड़ का है जिनको लेकर माना जा रहा है कि वो अगले साल भारतीय टीम में शिखर धवन का विकल्प हो सकते हैं। ऋतुराज गायकवाड़ ने आईपीएल 2020 में सीएसके के लिये डेब्यू किया और आखिरी के 3 मैचों में लगातार अर्धशतक जड़ कर अपनी बल्लेबाजी से प्रभावित किया। उनका यह प्रदर्शन आईपीएल 2021 के पहले लेग में भी जारी रहा, जहां पर उन्होंने राजस्थान के खिलाफ शतक ठोंक दिया। उनके प्रदर्शन से प्रभावित चयनकर्ताओं ने ऋतुराज गायकवाड़ को श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज में डेब्यू करने का मौका दिया। गायकवाड़ के लिये यह दौरा कुछ खास साबित नहीं हुआ लेकिन वहां से वापस आने के बाद उन्होंने फिर से रनों का अंबार लगा दिया। गायकवाड़ ने आईपीएल 2021 में ऑरेंज कैप अपने नाम की और फिर सैयद मुश्ताक अली टी20 ट्रॉफी की 5 पारियों में 3 बार अर्धशतक जड़ दिया। वहीं अब विजय हजारे ट्रॉफी में लगातार 3 मैचों में 3 शतक जड़ चुके हैं। वह जिस फॉर्म में खेल रहे हैं, उसे देखते हुए वह आने वाले समय में भारत के अगले बड़े खिलाड़ी बन सकते हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, December 13, 2021, 15:49 [IST]
Other articles published on Dec 13, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X