'मैं चाहता हूं कि अय्यर इसे यादगार टेस्ट मैच बनाए', लक्ष्मण को सताई चिंता

नई दिल्ली। पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने कहा है कि श्रेयस अय्यर को कानपुर टेस्ट में मिले मौके का पूरा फायदा उठाना चाहिए क्योंकि विराट कोहली जब टीम में लाैट आएंगे तो फिर उनकी जगह की कोई गारंटी नहीं होगी। न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में डेब्यू करने वाले अय्यर ने पहले दिन 75 रनों की नाबाद पारी खेली और भारत को रवींद्र जडेजा के साथ मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। अय्यर और जडेजा ने पांचवें विकेट के लिए 113 रनों की नाबाद साझेदारी की, जिसकी बदाैलत भारत पहले दिन 4 विकेट खोकर 258 रन बना सका।

लक्ष्मण ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा, "मैं चाहता हूं कि वह इसे यादगार टेस्ट मैच बनाए क्योंकि एक बार विराट कोहली के वापस आने के बाद इसकी कोई गारंटी नहीं है कि वह प्लेइंग इलेवन में खेलेंगे। इसलिए मुझे उम्मीद है कि वह अपनी क्षमता के अनुसार खेलेंगे और इसका फायदा उठाएंगे।" अय्यर ने 2017 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था, लेकिन उन्हें 4 साल तक टेस्ट डेब्यू करने का माैका नहीं मिल पाया।

यह भी पढ़ें- 'मैं उस गेंद को पढ़ नहीं पाया था', शुबमन गिल ने बताया क्यों हुए OUT

मुंबई और भारत के महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ही थे जिन्होंने अय्यर को टेस्ट कैप भेंट की। लक्ष्मण ने कहा, "सुनील गावस्कर से अपनी टोपी प्राप्त करने वाले श्रेयस अय्यर के लिए क्या ही क्षण है, एक आदर्श जो वह मुंबई में बड़े हुए होंगे। टेस्ट मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए यह एक बहुत बड़ा क्षण है और मुझे यकीन है कि यह अय्यर के लिए एक सुंदर क्षण है।"

लक्ष्मण के अनुसार, अय्यर ने अपना स्वाभाविक आक्रामक खेल खेला, लेकिन डेब्यू पर किसी भी स्तर पर लापरवाह नहीं दिखे। लक्ष्मण ने कहा, "श्रेयस अय्यर को इस बात का बहुत श्रेय दिया जाना चाहिए कि उन्होंने आखिरी प्रथम श्रेणी का मैच लगभग 2 साल पहले खेला था। किसी भी युवा खिलाड़ी के लिए सबसे कठिन चुनौती सफेद गेंद से लाल गेंद वाले क्रिकेट की मानसिकता को बदलना है। उन्होंने किसी भी पहलू पर समझौता नहीं किया, वह वैसे ही खेलने के लिए निकले जैसे वह मुंबई या भारत ए के लिए खेलते हैं। जिस तरह से उन्होंने दबाव को संभाला वह उनके चरित्र को दर्शाता है। उन्होंने दिल्ली कैपिटल्स के लिए, भारत के लिए सफेद गेंद वाले क्रिकेट में ऐसा किया है। भारत के लिए यह बहुत अच्छी खबर है कि एक युवा खिलाड़ी ने अपने डेब्यू पर माैके का लाभ उठाया।"

उन्होंने कहा, "वह बड़े शॉट खेलने से नहीं हिचकिचा रहे थे, उनका स्वाभाविक खेल देखने को मिला। जिस तरह से वह स्पिनरों के खिलाफ खेले, वह रोहित शर्मा की तरह हैं, जो हवाई शाॅट लेना पसंद करते हैं। लाल गेंद वाले क्रिकेट में भी ऐसा करने में कोई बुराई नहीं है। आपको खुद का समर्थन करना होगा, आपको अपनी ताकत हासिल करनी होगी और सावधान रहना होगा।" लक्ष्मण ने कहहा कि अय्यर का पांचवें नंबर पर उनका प्रदर्शन भारत के लिए अच्छी खबर है। उन्होंने कहा, "श्रेयस अय्यर जैसा कोई, जो आक्रामक क्रिकेट खेलना पसंद करता है, वे कभी-कभी लापरवाह शॉट खेल सकते हैं। लापरवाह होने और आक्रामक होने के बीच एक बहुत ही महीन रेखा होती है। मुझे लगा कि वह आक्रामक था। जब भी जैमिसन या साउथी ने अच्छी गेंद फेंकी, तो उन्होंने सम्मान किया। ऐसा नहीं है कि उन्होंने केवल डायमेंशनल क्रिकेट खेला।''

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, November 25, 2021, 20:42 [IST]
Other articles published on Nov 25, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X