भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच के भविष्य को लेकर आईसीसी ने दी अहम जानकारी

नई दिल्लीः अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने भारत और पाकिस्तान क्रिकेट के भविष्य पर बात की है। दोनों देशों के बीच क्रिकेट पूरी दुनिया देखना चाहती है लेकिन कुछ राजनीतिक कारणों से यह संभव नहीं हो पा रहा है। पिछले 13 सालों में दोनों देशों के क्रिकेट संबंध लगभग ठप पड़े हैं। यह क्रिकेट के नजरिए से एक अफसोस भरी है बात है लेकिन अब यह भारत की पाकिस्तान के प्रति नीति का भी एक हिस्सा है।

हालांकि पाकिस्तान की ओर से कई बार कहा जा चुका है कि वह भारत के साथ क्रिकेट रिश्तों की बहाली के लिए बेहद उत्सुक है। पीसीबी का काम भारत के खिलाफ ना खेलकर चल भी नहीं पा रहा है। दूसरी और भारत के आप अपना मजबूत आर्थिक ढांचा है और उसको पाकिस्तान के साथ खेलने की वैसी गरज नहीं है। भारत अपने तरीकों पर अडिग है।

ICC ने कहा- भारत और पाकिस्तान के बीच फिलहाल चांस नहीं

ICC ने कहा- भारत और पाकिस्तान के बीच फिलहाल चांस नहीं

अब आईसीसी के कार्यवाहक मुख्य कार्यकारी ज्योफ एलार्डिस का मानना ​​है कि निकट भविष्य में भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय संबंधों के फिर से शुरू होने की संभावना नहीं है।

भारत ने आखिरी बार 2013 में अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वियों के साथ अपने घर में खेला था, लेकिन 13 वर्षों में तनावपूर्ण संबंधों के कारण देशों के बीच यह एकमात्र श्रृंखला रही है।

दोनों टीमें वर्तमान में केवल वैश्विक आईसीसी आयोजनों में आमने-सामने होती हैं। हाल ही में पाकिस्तान तब झूम उठा था जब उसने टी20 वर्ल्ड कप में भारत पर एक बड़ी जीत दर्ज करके अपने अभियान की धमाकेदार शुरुआत की थी। इसके साथ पाकिस्तान के ऊपर वर्ल्ड कप में भारत का अपराजेय सिलसिला भी टूट गया था।

IND vs NZ: इस वजह से श्रेयस अय्यर को दिया गया टेस्ट टीम में मौका

ये दो बोर्ड की आपसी सहमति का मामला है-

ये दो बोर्ड की आपसी सहमति का मामला है-

एलार्डिस ने बेलफास्ट टेलीग्राफ के हवाले से कहा, "जब वे हमारे इवेंट (वर्ल्ड कप या चैम्पियंस ट्रॉफी) में एक-दूसरे के साथ खेलते हैं तो हम स्पष्ट रूप से आनंद लेते हैं। लेकिन दोनों देशों और बोर्डों के बीच संबंध कुछ ऐसा है जिसे आईसीसी बदलने में सक्षम नहीं है।"

"किसी भी द्विपक्षीय क्रिकेट की तरह, अगर दोनों बोर्ड सहमत होते हैं, तो वे खेलते हैं। यदि वे नहीं सहमत हैं, तो वे नहीं करते हैं। मुझे लगता है कि हम ज्यादा बदलाव नहीं देख रहे हैं। "

टेस्ट चैम्पियनशिप में भारत-पाक के ना खेलने का कारण बताया-

टेस्ट चैम्पियनशिप में भारत-पाक के ना खेलने का कारण बताया-

हालांकि विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप भी आईसीसी का ही प्रोग्राम है लेकिन यह द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज के नतीजों पर टिका होता है। इसका मतलब यह है कि टेस्ट चैम्पियनशिप के ग्रुप चरण में भी भारत और पाकिस्तान एक-दूसरे का सामना नहीं करेंगे और फाइनल में पहुंचने पर तटस्थ स्थान का उपयोग किया जाएगा जहां वे खेल सकते हैं।

आईसीसी ने क्लियर किया है कि भारत और पाकिस्तान के बीच जो भी माहौल है उसको देखते हुए टेस्ट मैचों में दोनों को अलग किया गया है ताकी टेस्ट चैम्पियनशिप बिना किसी विवाद के आगे बढ़ती जाए और अगर दोनों देश फाइनल में पहुंच जाते हैं तो फिर एक थर्ड प्लेस पर मुकाबला कराया जाएगा।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Saturday, November 13, 2021, 10:44 [IST]
Other articles published on Nov 13, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X