हेडिंग्ले में कोहली का खराब फैसला या भारत की शर्मनाक बल्लेबाजी, जानें किस कारण 78 पर सिमटी विराट सेना

IND vs ENG
Photo Credit: ICC/Twitter
India vs England, 3rd Test Day 1: Team India all-out for 78, Anderson pick 3 wkts | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही 5 मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मैच हेडिंग्ले के मैदान पर खेला जा रहा है जिसमें भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लॉर्डस में जीत के बाद कप्तान विराट कोहली के हौंसले काफी बुलंद नजर आ रहे थे और उसी आत्म-विश्वास के चलते विराट सेना इस मैच में पहले बल्लेबाजी के लिये उतरी। हालांकि भारतीय टीम के लिये यह फैसला कुछ खास साबित नहीं हुआ और इंग्लिश गेंदबाजों के सामने वह पूरी तरह से बेबस नजर आये और टेस्ट क्रिकेट में अपने 9वें न्यूनतम स्कोर पर ऑल आउट हो गई।

और पढ़ें: 'हर ऐरा-गैरा क्रिकेट का एक्सपर्ट बन चुका है', डेविड मलान ने चयनकर्ताओं पर साधा निशाना

भारतीय टीम ने हेडिंग्ले में खेले गये इस टेस्ट मैच में महज 40.4 ओवर बल्लेबाजी की और सिर्फ 78 रन पर ऑल आउट हो गई। यह भारतीय टीम की ओर से टेस्ट क्रिकेट में बनाया गया 9वां सबसे न्यूनतम स्कोर है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या टॉस जीतने के बाद विराट कोहली से फैसला लेने में गलती हुई है या फिर भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन इतना खराब रहा कि वो टीम के लिये अच्छा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे हैं।

और पढ़ें: IND vs ENG: हेडिंग्ले में एक बार फिर जेम्स के सामने बेबस हुए कोहली, एंडरसन ने बनाया बड़ा रिकॉर्ड

एंडरसन ने साबित किया कोहली का फैसला गलत

एंडरसन ने साबित किया कोहली का फैसला गलत

हेडिंग्ले में खेले जा रहे इस टेस्ट मैच में टॉस जीतने के बाद विराट कोहली ने पल भर की देरी नहीं लगाई और बल्लेबाजी का फैसला किया। कोहली का मानना था कि पिच पर कोई ज्यादा घास नहीं है जिसके चलते गेंदबाजों की तुलना में बल्लेबाजों को फायदा मिलेगा और बैटिंग करेंगे। हालांकि जेम्स एंडरसन ने विराट कोहली के फैसले को गलत साबित किया और पारी के पहले ही ओवर की पांचवी गेंद पर इन फॉर्म केएल राहुल को बिना खाता खोले वापस पवेलियन भेज दिया। चेतेश्वर पुजारा एक बार फिर फ्लॉप साबित हुए और जेम्स एंडरसन ने उन्हें राहुल की ही तरह बटलर के हाथों कैच कराया और 4 रन के स्कोर पर भारत को दूसरा झटका दिया। कप्तान कोहली ने रोहित के साथ साझेदारी करने की कोशिश की लेकिन 7 रन बनाकर वो भी एंडरसन के जाल का शिकार बने।

भारतीय टीम ने महज 21 रन पर अपने 3 विकेट खो दिये और विराट सेना खतरे में नजर आयी। हालांकि अजिंक्य रहाणे (18) और रोहित शर्मा (19) ने चौथे विकेट के लिये 35 रनों की साझेदारी कर टीम की वापसी का इशारा किया लेकिन लंच से पहले ऑली रॉबिन्सन ने रहाणे को बटलर के हाथों कैच कराकर भारत को चौथा झटका दिया।

रोहित से फिर हुई गलती, पुल शॉट पर खोया विकेट

रोहित से फिर हुई गलती, पुल शॉट पर खोया विकेट

वहीं पर लंच के बाद भारतीय टीम जब वापसी करने उतरी तो उसकी सोच थी कि वो धीरे-धीरे साझेदारी कर एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचे, हालांकि ऐसा हो न सका। लंच के बाद बल्लेबाजी करने आये ऋषभ पंत (2) को रॉबिन्सन ने बटलर के हाथों कैच कराकर भारत को 5वां झटका दिया। भारतीय टीम ने महज 58 रन के स्कोर पर अपने 5 विकेट खो दिये थे लेकिन दूसरे छोर पर रोहित शर्मा अच्छी बल्लेबाजी करते हुए अभी भी टिके हुए थे। हालांकि यह ज्यादा देर हुआ नहीं और एक बार फिर अपने पसंदीदा शॉट पर रोहित शर्मा अपना विकेट गंवा बैठे।

क्रेग ओवरटर्न ने मैच में पहली बार बाउंसर मारी और उस पर पुल शॉट मारने के चक्कर में रोहित शर्मा गेंदबाज के साथ खड़े रॉबिन्सन को कैच थमा बैठे और सीरीज में तीसरी बार अपने पसंदीदा शॉट पर रन बनाने के बजाय विकेट खो बैठे।

22 रन में भारत ने खोये 6 विकेट

22 रन में भारत ने खोये 6 विकेट

इसके बाद भारतीय टीम ने अगले ही गेंद पर मोहम्मद शमी को रॉरी बर्न्स के हाथों कैच कराकर भारत का 7वां विकेट हासिल किया। ओवर्टर्न के बाद सैम कर्रन ने जलवा दिखाया और 2 गेंद में लगातार 2 विकेट (पहले जडेजा और फिर बुमराह) हासिल कर भारतीय टीम को ऑल आउट के करीब भेजा। भारतीय टीम ने अपने आखिरी 6 विकेट महज 22 रन के अंदर खो दिये और पूरी टीम 78 रन पर ऑल आउट हो गई, जो कि उसके टेस्ट इतिहास का 9वां न्यूनतम स्कोर है। भारतीय टीम के इतिहास की बात करें तो उसका सबसे न्यूनतम स्कोर 36 रन (ऑस्ट्रेलिया, 2020), 42 (इंग्लैंड, 1974), 58 (ऑस्ट्रेलिया, 1947), 58 (इंग्लैंड, 1952), 66 (साउथ अफ्रीका, 1996), 67 (ऑस्ट्रेलिया, 1948), 75 (वेस्टइंडीज, 1987) और 77 (साउथ अफ्रीका, 2008) शामिल है।

गौरतलब है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली के लिये विदेश में खेले गये पिछले 2 मैचों में टॉस जीतना अनलकी साबित हुआ है, इससे पहले जब मेलबर्न में उन्होंने टॉस जीता था तब भारतीय टीम 36 रन के स्कोर पर ऑल आउट हो गई थी और जब हेडिंग्ले में जीते तो भारतीय टीम 78 रन पर ऑल आउट हो गई।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Wednesday, August 25, 2021, 19:30 [IST]
Other articles published on Aug 25, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X