IND vs ENG: प्रसिद्ध कृष्णा के जबरदस्त डेब्यू में चमका ऑस्ट्रेलिया के सबसे तूफानी बॉलर का नाम

नई दिल्लीः प्रसिद्ध कृष्णा टीम इंडिया की लेटेस्ट तेज गेंदबाजी सेंसेशन हैं। प्रसिद्ध ने अपना इंटरनेशनल डेब्यू इंग्लैंड के खिलाफ पहले एकदिवसीय मुकाबले में किया। दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने भारत के सबसे सफल मैच बॉलर के तौर पर अपने आंकड़ों को खत्म किया जहां उन्होंने 54 रन देकर चार विकेट लिए। प्रसिद्ध कृष्णा ने भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई, वह मुकाबला इंग्लैंड 66 रनों से हार गया था।

25 साल के इस गेंदबाज की शुरुआत काफी खराब हुई थी क्योंकि जॉनी बेयरस्टो और जेसन रॉय सातवें आसमान पर बल्लेबाजी कर रहे थे और लग रहा था कि वह यह मैच 25 या 3 0ओवर में ही 300 रन बनाकर समाप्त करने की फिराक में है। ऐसे में इन ओपनर्स के रौद्र रूप के चलते कृष्णा ने शुरुआती 3 ओवर में 37 रन खर्च कर दिए और उसके बाद कोहली ने उनको अटैक से हटा दिया। लेकिन भारतीय कप्तान ने डेब्यूटेंट को 15 ओवर में फिर से गेंदबाजी दी और इस बार कोहली का फैसला काम कर गया। पहली गेंद पर चौका लगने के बाद प्रसिद्ध ने जेसन रॉय को आउट करके 135 रनों की शुरुआती साझेदारी को तोड़ दिया और इसकी भारत को उस समय बहुत जरूरत थी।

IPL 2021: 5 धाकड़ पेसर जो रह गए अनसोल्ड, पर अब भी ले सकते हैं किसी चोटिल खिलाड़ी की जगह

कृष्णा की सफलता में ज्योफ थॉमसन की चर्चा-

कृष्णा की सफलता में ज्योफ थॉमसन की चर्चा-

उसी ओवर में ही उन्होंने बेन स्टोक्स को 1 रन पर चलता करके भारत को मैच में वापस ला दिया। बाद में उन्होंने सैम बिलिंग्स का भी विकेट लिया जो कि बहुत नाजुक समय था और आखिर में मैच का अंतिम विकेट भी लेकर ताबूत में आखिरी कील ठोक दी।

प्रसिद्ध कृष्णा अभी भी आस्ट्रेलिया का दौरा नहीं कर पाए हैं लेकिन उनकी चर्चा में अभी से ही कंगारू दिग्गज ज्योफ थॉमसन का नाम आ रहा है। 2017 में उन्होंने आस्ट्रेलिया का दौरा किया था जहां वे तुषार देशपांडे के साथ गए थे उनके साथ दो अन्य गेंदबाज भी थे। वहां वे ज्योफ थॉमसन के अंडर में ट्रेन हुए थे। उनको आईडीबीआई फेडरल बॉलिंग फाउंडेशन में ट्रेनिंग मिली थी। पूर्व क्रिकेट एडमिनिस्ट्रेटर और कॉलमनिस्ट मकरंद वैनगंकर का कहना है की क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया में मिली ट्रेनिंग प्रसिद्ध के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हुई है।

ग्लेन मैकग्रा से भी सीखें हैं तेज गेंदबाजी के गुर-

ग्लेन मैकग्रा से भी सीखें हैं तेज गेंदबाजी के गुर-

मकरंद वैनगंकर का यह भी कहना है कि प्रसिद्ध के पास काफी हुनर है और उन्होंने दिखाया है कि किस तरह से पहले ही अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में शुरुआती चोट खाने के बाद वापसी कैसे की जाती है। उन्होंने टाइम्स ऑफ इंडिया के हवाले से बात करते हुए कहा, "प्रसिद्ध कृष्णा को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अकादमी में जो एक्सपोजर मिला उसने इस गेंदबाज की सहायता की और उनके कौशल को इंप्रूव करने में भी बहुत मदद की। वह काफी इंटेलिजेंट हैं और मैं उनकी क्रिकेट इंटेलिजेंस की बात कर रहा हूं। उसी वजह से वह अंग्रेजों से मार खाने के बाद भी वापसी कर पाए। और यही बात इस लड़के के चरित्र को दिखाती है।"

थॉमसन से सीखने के अलावा प्रदीप कृष्णा ने एक और कंगारू दिग्गज ग्लेन मैकग्रा से एमआरएफ पेस फाउंडेशन में गेंदबाजी के गुर सीखे हैं।

भारतीय टीम मैनेजमेंट पर वीरेंद्र सहवाग ने उठाया सवाल- टीम चयन में हो रहा है भेदभाव

ब्रेट ली जैसी तेजी के कायल, मसाला डोसा है पसंद-

ब्रेट ली जैसी तेजी के कायल, मसाला डोसा है पसंद-

2019 में वह ब्रिसबेन में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सेंटर गए थे जहां पर वह काफी कुछ सीख कर आए हैं। इसके अलावा प्रसिद्ध कृष्णा आस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली को अपना आदर्श मानते हैं। ऐसा कृष्णा के पिता का कहना है। प्रसिद्ध के पिता ने अपने बेटे के बारे में बात करते हुए बताया, " प्रसिद्ध 11 साल की उम्र से ही खेल रहे हैं और उन्होंने ऑलराउंडर के तौर पर स्कूल में अच्छा काम किया था। 14 साल की उम्र में वह तेज गेंदबाजी को लेकर गंभीर हो गए थे। उनके इस फैसले में परिवार ने सहयोग दिया। वह ब्रेट ली के एक बड़े फैन हैं और उन्हीं की तरह आग उगलती हुई तेज गति की गेंदबाजी करना चाहते हैं। और वह मसाला डोसा भी खाना पसंद करते हैं।"

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, March 24, 2021, 17:23 [IST]
Other articles published on Mar 24, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X