IPL 2022 में 10 टीमों के शामिल होने से कैसे बदल जायेगा पूरा टूर्नामेंट

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे मशहूर टी20 लीग आईपीएल के 15वें सीजन में फैन्स को काफी कुछ नया देखने को मिलने जा रहा है, जहां पर बीसीसीआई ने दो नई टीमों के जुड़ने का ऐलान कर दिया है। बीसीसीआई ने आईपीएल 2022 के लिये पहले ही टीमों की नीलामी के लिये टेंडर निकाल दिये थे और अक्टूबर 2022 में जब इन टीमों की बोली लगी तो अहमदाबाद और लखनऊ की दो नई टीमें शामिल हो गई हैं। आईपीएल के इतिहास में यह दूसरी बार है जब लीग का आयोजन 10 टीम के साथ खेला जायेगा। साल 2008 में शुरू हुए इस टूर्नामेंट के पहले 2 सीजन 8 टीमों के साथ खेले गये थे जबकि 2011 में 10 टीमों के साथ आईपीएल का आयोजन किया गया।

और पढ़ें: 'मुझे निराशा है, अफसोस नहीं', करियर में एक भी ICC खिताब न जीतने पर बोले रवि शास्त्री

2012 और 13 में आईपीएल का आयोजन 9 टीमों के साथ हुआ तो वहीं पर 2014 के बाद से अब तक यह लीग 8 टीमों के साथ ही खेली गई है।जब आईपीएल में टीमें 9 मैच के प्रारूप में खेल रही थी उस वक्त कुल 76 मैचों का आयोजन किया गया था, ऐसे में हमें IPL 2022 में काफी कुछ नया देखने को मिलेगा, आइये एक नजर उन बदलावों पर डालें जो 2 नई टीमों के जुड़ने से होने वाले हैं।

और पढ़ें: AUS vs PAK: सेमीफाइनल में शाहीन के प्रदर्शन से नाराज हुए अफरीदी, कहा- आप ऐसे नहीं फेंक सकते

सुपर ग्रुप स्टेज में खेले जायेंगे आईपीएल के मैच

सुपर ग्रुप स्टेज में खेले जायेंगे आईपीएल के मैच

इंडियन प्रीमयिर लीग के मौजूदा सीजन में मैचों का आयोजन राउंड रॉबिन तरीके से होता है लेकिन 15वें सीजन में कुल 74 मैचों का आयोजन होना है तो यह सुपर स्टेज में खेला जायेगा। आईपीएल 2022 के सीजन में 10 टीमें हिस्सा लेने वाली हैं तो इसमें 5-5 टीमों के दो ग्रुप बनेंगे। हर टीम को अपने होम और अवे वेन्यू पर 9-9 मैच खेलने होंगे। दोनों ग्रुप में टॉप 2 पर काबिज रहने वाली टीमें प्लेऑफ के लिये क्वालिफाई कर जायेंगी।

बढ़ जायेगी आईपीएल से होने वाली कमाई

बढ़ जायेगी आईपीएल से होने वाली कमाई

आईपीएल 2022 में 2 नई टीमों के जुड़ने से बीसीसीआई की कमाई बढ़ना तय है।आईपीएल में फ्रैंचाइजी की कमाई के लिये 3 जरिये हैं एक है सेंट्रल अधिकार से मिलने वाली आय (मीडिया राइडस इनकम और सेंट्रल स्पॉन्सरशिप का एक हिस्सा), टीम स्पॉन्सरशिप और गेट रिवेन्यू। 2017 में स्टार इंडिया की ओर से मीडिया राइटस की रकम अदा करने बाद सभी फ्रैंचाइजियों को लगभग 200 करोड़ रुपये सेंट्रल पूल से मिले थे और 10 टीमों के शामिल होने के बाद इसके बढ़ने के ही आसार हैं। अंदाजन यह इनकम 270-350 करोड़ रुपये हर सीजन प्रति फ्रैंचाइजी होने वाली है। ज्यादातर आईपीएल फ्रैंचाइजियों की आय का सोर्स सेंट्रल मीडिया राइटस पूल होता है। नई फ्रैंचाइजी टीमों को अपने बिड अमाउंट का हिस्सा 10 सालों तक चुकाना होगा जिसके बाद 11वें साल से वो कुल आय का 20 प्रतिशत हिस्सा ही फ्रैचाइजी फीस के तौर पर बीसीसीआई को अदा करेगी।

बदल गये हैं रिटेंशन के नियम

बदल गये हैं रिटेंशन के नियम

गौरतलब है कि आईपीएल 2022 के लिये होने वाले मेगा ऑक्शन को लेकर बीसीसीआई ने रिटेंशन नियमों का ऐलान कर दिया है, जिसके तहत पहले से मौजूद टीमें 4 खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है, जिसमें वो अधिकतम 2 विदेशी खिलाड़ी ही रिटेन किये जा सकते हैं। वहीं घरेलू क्रिकेटर्स की संख्या अधिकतम 3 हो सकती है। वहीं नई फ्रैंचाइजियों के पास खिलाड़ियों के पास यह संख्या 3 है, इसके तहत वो 2 भारतीय और एक विदेशी खिलाड़ी के साथ जा सकते हैं।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, November 12, 2021, 23:29 [IST]
Other articles published on Nov 12, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X