IPL 2021: पृथ्वी शॉ का खुलासा, बताया- बैटिंग में किन बदलावों के चलते 38 गेंद में ठोंके 72 रन

IPL 2021
Photo Credit: BCCI/IPL

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में दिल्ली कैपिटल्स और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज में फ्लॉप होने के बाद टीम से बाहर होने वाले सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने आईपीएल के 14वें सीजन में शानदार आगाज करते हुए रविवार को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ महज 38 गेंदों में 72 रन ठोंकने का काम किया। इतना ही नहीं पृथ्वी शॉ ने इस मैच में शिखर धवन के साथ पहले विकेट के लिये 138 रनों की साझेदारी करते हुए चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ सबसे ज्यादा रनों की दूसरी बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया। मैच के बाद जब पृथ्वी शॉ से बल्लेबाजी स्किल्स में बदलाव करने को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि टीम से ड्रॉप होने के बाद वो काफी दुखी हो गये थे लेकिन फिर वापसी करने के लिये अपनी तकनीक पर काम किया जिसका फायदा आईपीएल 14 के पहले मैच में भी देखने को मिला।

उल्लेखनीय है कि रविवार को पृथ्वी शॉ की इस शानदार पारी के चलते दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने 189 रनों के लक्ष्य को 3 विकेट खोकर 8 गेंद पहले आसानी से हासिल कर लिया। टीम से ड्रॉप होने के बाद पृथ्वी शॉ ने पूर्व भारतीय बल्लेबाज प्रवीण आमरे की देख रेख में तकनीक पर काम किया।

और पढ़ें: SRH vs KKR: आखिरी 5 ओवर्स में हैदराबाद ने की वापसी, 5 विकेट झटक दिये सिर्फ 42 रन

उन्होंने कहा,'आईपीएल से पहले मैंने अपनी बल्लेबाजी में कुछ तकनीकी बदलाव किये और उन सभी गलतियों को कम किया जो लगातार कर रहा था। इसके लिये मैं कड़ी मेहनत कर रहा था।'

गौरतलब है कि पृथ्वी शॉ अपनी बल्लेबाजी में जिन बदलावों की बात कर रहे हैं उसमें शॉट खेलते समय पहले उनके बल्ले और पैर के बीच ज्यादा गैप होता था और वो ऑफ स्टंप पर फंस जाते थे। लेकिन प्रवीण आमरे की देख-रेख में अभ्यास करने के बाद अब उनका बल्ला सीधा चलता है और अंदर आने वाली गेंदों पर उन्हें परेशानी नहीं होती है।

और पढ़ें: SRH vs KKR: कोलकाता के लिये संकटमोचक बने नितीश राणा, राहुल त्रिपाठी ने भी बनाया रिकॉर्ड

आपको बता दें कि पृथ्वी शॉ के लिये आईपीएल का पिछला सीजन कुछ खास नहीं रहा था और आगे चलकर उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था। लेकिन अपनी तकनीक को लेकर पृथ्वी शॉ नें पहले स्ट्रेंथ और अनुकूलन कोच रजीनकांत सिवागनानम और फिर प्रवीण आमरे की देखरेख में 15 दिन प्रैक्टिस जिसके बाद उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में रनों की बरसात की और 8 मैचों में 827 रन बनाए।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, April 11, 2021, 22:24 [IST]
Other articles published on Apr 11, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X