संन्यास की घोषणा से पहले चेन्नई में इस काम में व्यस्त थे धोनी, देखिए तस्वीरें

नई दिल्ली: एमएस धोनी ने शनिवार को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दुनिया को चौंका दिया। शानदार करियर के लिए अलविदा कहने के लिए 39 वर्षीय ने इंस्टाग्राम पर लिखा, "आपके प्यार और समर्थन के लिए बहुत बहुत धन्यवाद। 1929 (7 बजकर 29 मिनट) बजे से मुझे रिटायर्ड के रूप में माना जाए।"

लीजेंड ने कहा- अलविदा इंटरनेशनल क्रिकेट

लीजेंड ने कहा- अलविदा इंटरनेशनल क्रिकेट

सीमित ओवरों के क्रिकेट में सबसे विध्वंसक फिनिशरों में से एक, धोनी ने टीम इंडिया को कई गौरवशाली खेलों तक पहुंचाया। "यह एक युग का अंत है। वह देश और विश्व क्रिकेट के लिए जबरदस्त खिलाड़ी रहे हैं। उनके नेतृत्व के गुण कुछ हैं, जो कि कही और मिलनी कठिन होगी, खासकर खेल के छोटे प्रारूप में, "बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा।

संन्यास की घोषणा से पहले क्या कर रहे थे धोनी-

संन्यास की घोषणा से पहले क्या कर रहे थे धोनी-

शनिवार को संन्यास का बम गिराने से पहले धोनी उसी चीज को करने में व्यस्त थे जिससे वे सबसे ज्यादा प्यार करते हैं। सीएसके के कप्तान चेन्नई में थे, जहां वह एक दिन पहले आगामी इंडियन प्रीमियर लीग के लिए प्रशिक्षण के लिए पहुंचे, जो अगले महीने यूएई में होने वाला था। भारत के पूर्व कप्तान को सुरेश रैना और बाकी खिलाड़ियों के साथ छह दिवसीय शिविर में पसीना बहाते हुए देखा गया था। रैना ने भी झारखंड के क्रिकेटर के कुछ मिनटों बाद अपने रिटारमेंट की घोषणा की।

धोनी की विदाई पर पत्नी साक्षी ने शेयर किए जज्बात- जानती हूं आपने अपने आंसुओं को थाम रखा है

चेन्नई में CSK कैम्प में बहा रहे थे पसीना-

चेन्नई में CSK कैम्प में बहा रहे थे पसीना-

एमएस धोनी, सुरेश रैना, केदार जाधव, दीपक चाहर और पीयूष चावला स्थानीय तौर पर चेन्नई सुपर किंग्स के उन खिलाड़ियों में शामिल थे, जो शुक्रवार को एक छोटे से आईपीएल तैयारी शिविर के लिए चेन्नई पहुंचे। गैरमौजूदा लोगों में रवींद्र जडेजा और हरभजन सिंह शामिल थे, जो 21 अगस्त को यूएई जाने से पहले टीम के साथ जुड़ेंगे। ऐसे में किसी को उम्मीद नहीं थी कि धोनी आईपीएल पहले से ऐसे संन्यास ले लेंगे। लेकिन लगता है अब वे पूरी तरह से अपना फोकस आईपीएल और अन्य चीजों पर करना चाहते हैं।

चौथी बार चेन्नई को आईपीएल जिताने पर जोर-

चौथी बार चेन्नई को आईपीएल जिताने पर जोर-

धोनी इंडियन प्रीमियर लीग में सफल कप्तान भी रहे हैं। उन्होंने टूर्नामेंट शुरू होने के बाद से चेन्नई सुपर किंग्स को तीन आईपीएल खिताब दिलाए। उनकी कप्तानी में, चेन्नई 2010-11 में अपना आईपीएल खिताब बरकरार रखने वाला पहली और एकमात्र टीम बनी, जबकि पांच अन्य मौकों पर उपविजेता रहा।

धोनी ने भारत के पहली आईसीसी ट्रॉफी 2007 में टी20 वर्ल्ड कप के तौर पर जिताई थी। दूसरी ट्रॉफी 2011 में जीती गई जो 28 साल बाद 50 ओवरों के वर्ल्ड कप को जीतने पर मिली थी। तीसरी ट्रॉफी 2013 की आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी थी। धोनी को 2007 में राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड दिया गया था, 2009 में पद्मश्री दिया गया और 2018 में पद्म भूषण। वे 2008 और 2009 में आईसीसी के वनडे खिलाड़ी ऑफ द ईयर भी रहे।

नहीं खेल पाए भारत के लिए एक और विश्व कप-

नहीं खेल पाए भारत के लिए एक और विश्व कप-

धोनी ने भारत के लिए 90 टेस्ट खेले और 38.09 की औसत से 4876 रन बनाए। इसके अलावा उन्होंने वनडे क्रिकेट में अपना सिक्का कहीं अधिक जमाया। उन्होंने 350 वनडे मैच खेले और 50.57 की औसत के साथ 10,773 रन बनाए। इसके अलावा 98 टी-20 में उन्होंने 1282 रन बनाए और औसत 37 का रहा।

धोनी के संन्यास पर कोहली ने कहा- दुनिया ने आपकी उपलब्धियां देखी, मैंने इंसान को देखा

धोनी ने पिछले साल न्यूजीलैंड के खिलाफ 2019 विश्व कप के सेमीफाइनल में भारत के लिए अपना अंतिम खेल खेला था, भारत मैच 18 रन से हार गए था और विश्व कप से बाहर हो गया था।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Sunday, August 16, 2020, 8:26 [IST]
Other articles published on Aug 16, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X