AUS vs IND: 3 गलतियां जो पिंक बॉल टेस्ट में भारत पर पड़ सकती हैं भारी, कंगारूओं को गिफ्ट न कर दें जीत

IND vs AUS
Photo Credit: ICC/twitter

Australia vs India 1st Day night Test Day 2: नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बहुप्रतिक्षित बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी टेस्ट सीरीज (Border Gavaskar Test Series) का आगाज हो चुका है और इसका पहला डे-नाइट टेस्ट मैच पिंक बॉल प्रारूप (Pink Ball Test Match) में एडिलेड के मैदान पर खेला जा रहा है। गुरुवार को शुरू हुए इस मैच के पहले दिन भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी की और 6 विकेट के नुकसान पर 233 रन बनाये। वहीं जब दूसरे दिन इससे आगे पारी को बढ़ाने के लिये उतरे तो भारतीय टीम सिर्फ 11 रन जोड़ सकी और ऑल आउट हो गई। भारतीय टीम ने पहली पारी में महज 244 रन का स्कोर खड़ा किया, जिसके जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 191 रन पर सिमट गई और भारतीय टीम ने 53 रन की बढ़त हासिल की।

और पढ़ें: NZ vs PAK: बाबर आजम को चोट पाकिस्तान पर पड़ी भारी, न्यूजीलैंड ने 5 विकेट से हराया

भारतीय टीम ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलियाई टीम पर 62 रनों की बढ़त हासिल कर ली है और पृथ्वी शॉ के रूप में अपना एक विकेट भी खो दिया है। भले ही दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम ने भले ही कंगारू टीम पर बढ़त हासिल कर ली है लेकिन मैच के दूसरे दिन विराट सेना से कई ऐसी गलतियां हुई जिसके चलते एडिलेड में खेले जा रहे इस मैच में कही टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया को गिफ्ट में जीत न दे दे।

और पढ़ें: 'बकवास होती है लाल गेंद, गुलाबी गेंद का ही होना चाहिये इस्तेमाल', जानें ऐसा क्यों बोले शेन वॉर्न

पुछल्ले बल्लेबाज बनें भारत के लिये बड़ा सिरदर्द

पुछल्ले बल्लेबाज बनें भारत के लिये बड़ा सिरदर्द

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे इस मैच में भारतीय टीम के लिये पुछल्ले क्रम पर खेलने वाले बड़ा सिरदर्द साबित हो रहे हैं। यह सिर्फ विपक्षी टीम के खिलाड़ियों को आउट करने का मामला नहीं बल्कि अपनी टीम के बल्लेबाजों से रन न बनना भी परेशानी की बड़ी वजह बना हुआ है।

पहली पारी में भारतीय टीम ने 188 रन पर अपने 3 विकेट खो दिये थे लेकिन इसके बाद भारतीय टीम ने महज 56 रन के अंदर अपने 7 विकेट खो दिये। इतना ही नहीं दूसरे दिन जब भारतीय टीम बल्लेबाजी करने उतरी तो वह सिर्फ 11 रन ही जोड़ सकी और अपने 4 विकेट खो दिये।

वहीं गेंदबाजी की बात करें तो ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 111 रन पर अपने 7 विकेट खो दिये थे और ऐसा लग रहा था कि भारत करीब 100 रन से ज्यादा की बढ़त हासिल करेगा, लेकिन भारतीय गेंदबाज एक बार फिर पुछल्ले बल्लेबाजों का विकेट जल्दी लेने में नाकाम रहे और ऑस्ट्रेलिया के लिये आखिरी 3 विकेट ने 80 रन जोड़े और भारतीय टीम जो कि एक बड़ी बढ़त हासिल कर सकती थी उसकी पकड़ को कमजोर किया।

नहीं बदल रही कैच छोड़ने की आदत

नहीं बदल रही कैच छोड़ने की आदत

भारतीय टीम का ऑस्ट्रेलिया दौरे पर खराब फील्डिंग का क्रम लगातार जारी है। दूसरे दिन जब भारतीय टीम फील्डिंग कर रही थी तो उसने एक दो नहीं बल्कि 4 बार कैच छोड़ने का काम किया। इस दौरान भारतीय टीम ने दो बार लाबुशेन को, एक बार टिम पेन को तो वहीं पर एक बार मिशेल स्टार्क को जीवनदान दिया। उल्लेखनीय है कि भारतीय टीम को इन खिलाड़ियों का कैच छोड़ना काफी भारी पड़ा और सभी खिलाड़ियों ने अहम पारियां खेलकर भारत को मैच पर शिकंजा कसने में नाकाम किया।

मार्नस लाबुशेन का पहला कैच 12 रन पर बुमराह के हाथों से छूटा तो वहीं 22 रन पर पृथ्वी शॉ ने बेहद आसान कैच छोड़ा। इसके चलते उन्होंने 47 रनों की पारी खेली और अंत में LBW होकर वापस पवेलियन लौटे।

वहीं 26 रन के स्कोर पर जब टिम पेन खेल रहे थे तो डीप मिड विकेट पर खड़े मयंक अग्रवाल ने उनका कैच छोड़ा, नतीजा यह हुआ कि वो पारी के अंत तक आउट नहीं हुए और नाबाद 73 रन बनाकर वापस पवेलियन लौटे। वहीं मिशेल स्टार्क भी 12 रन के स्कोर पर साहा के हाथों ड्रॉप हुए और 15 रन बनाकर रन आउट हुए।

पृथ्वी शॉ की लापरवाही से मुश्किल में भारतीय टीम

पृथ्वी शॉ की लापरवाही से मुश्किल में भारतीय टीम

भारतीय टीम के लिये कप्तान विराट कोहली ने एडिलेड में खेले जा रहे इस मैच में इन फॉर्म बल्लेबाज शुबमन गिल के ऊपर पृथ्वी शॉ पर भरोसा जताते हुए प्लेइंग 11 में मौका दिया, हालांकि वो इस पर खरा नहीं उतरे हैं और अब वो दूसरे टेस्ट मैच में बाहर भी बिठाये जा सकते हैं। पहली पारी में खाता खोल न पाने वाले पृथ्वी शॉ दूसरी पारी में भी कुछ खास नहीं कर सके और 4 रन बनाकर पहली पारी के अंंदाज में बोल्ड होकर वापस पवेलियन लौटे।

दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम को महज 6 ओवर तक ही खेलना था और भारतीय टीम इस दौरान कोई विकेट नहीं गंवाना चाहती थी, हालांकि शॉ अपनी विकेट बचा नहीं पाये और जिस तरह से पहली पारी में बोल्ड हुए थे ठीक उसी तरह से पृथ्वी एक बार फिर स्टार्क की गेंद पर बोल्ड होकर पवेलियन लौटे। नतीजन विराट कोहली ने जसप्रीत बुमराह को नाइट वॉचमैन के रूप में बैटिंग करने भेजा।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, December 18, 2020, 18:34 [IST]
Other articles published on Dec 18, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X