Ranji Trophy: मनोज तिवारी ने दिखाया अनोखा नजारा, खाली कर दिया 'पूरा मैदान'

Posted By:

नई दिल्ली। इंटरनेशनल क्रिकेट में आए दिन कुछ न कुछ ऐसा होता रहता है जो चर्चा का विषय बन जाता है। लेकिन घरेलू टूर्नामेंट की खबरें बहुत कम ही चर्चा का विषय बनती हैं। बंगाल बनाम छत्तीसगढ़ रणजी मैच के दौरान मनोज तिवारी की फील्ड प्लेसमेंट देखकर हर कोई हैरान रह गया। मंगलवार (17 अक्टूबर) को रणजी ट्रॉफी के ग्रुप डी के पश्चिम बंगाल और छ्त्तीसगढ़ के बीच हुए टेस्ट मैच में बंगाल के कप्तान मनोज तिवारी ने मोहम्मद शमी के लिए फील्ड प्लेसमेंट कर सभी को हैरान कर दिया।

Ranji Trophy

दरअसल कई बार इंटरनेशनल क्रिकेट में ऐसा नजारा देखने को मिला है जब विकेट लेने के चक्कर में कप्तान आधे खिलाड़ियों को स्लिप में तैनात कर देता है। लेकिन मनोज तिवारी ने 9 खिलाड़ियों को स्लिप में तैनात कर सभी को चौंका दिया। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में तेज गेंदबाजों का प्रिय हथियार रहा है बल्लेबाज को ऑफ स्टम्प से बाहर जाती हुई गेंद करके स्लिप या सेकेंड स्लिप पर कैच कराना। इसी को ध्यान में रखते हुए तिवारी ने मोहम्मद शमी के लिए पुराने हथियार का इस्तेमाल किया।

दरअसल पश्चिम बंगाल के 529 रनों का पीछा करने उतरी छत्तीसगढ़ की टीम 24 रन पर चार विकेट खो चुकी थी। पश्चिम बंगाल के कप्तान कप्तान मनोज तिवारी ने छत्तीसगढ़ को फॉलोऑन के लिए मजबूर करने के लिए स्लिप में नौ फील्डर लगा दिये। पश्चिम बंगाल के तेज गेंदबाज मोहम्मद समी और अशोक डिंडा जब स्लिप में नौ फील्डरों के संग गेंदबाजी करते नजर आये तो नजारा देखने लायक था। छत्तीसगढ़ की पूरी टीम 110 रनों पर सिमट गयी। फॉलोऑन के बाद भी टीम 259 रन ही बना सकी और एक पारी और 160 रनों से टेस्ट मैच हार गयी।

दूसरी पारी में 6 विकेट लेने वाले मोहम्मद शमी ने मैच के बाद अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर मनोज तिवारी की अनोखी फील्ड प्लेसमेंट की तस्वीर पोस्ट कर लिखा, "शानदार, मैच में 7 अंक मिलने की बधाई। जीत का श्रेय स्लिप में 9 फील्डरों को जाता है जिनकी मदद से मैं सुबह 61 रन देकर 6 विकेट ले पाया।"

बता दें कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्रा ने अक्टूबर 1999 में जिम्बाबवे के खिलाफ स्लिप में नौ फील्डर लगाकर क्रिकेट जगत में सनसनी फैला दी थी।

इसे भी पढ़ेंः- 17 साल के पृथ्वी शॉ को देखकर हैरान रह गया न्यूजीलैंड का ये गेंदबाज, लेकिन..

Story first published: Wednesday, October 18, 2017, 15:48 [IST]
Other articles published on Oct 18, 2017
Please Wait while comments are loading...