Asia Cup : बांग्लादेश के साथ वो ऐतिहासिक मुकाबला जब सचिन ने जड़ा था शतकों का शतक, लेकिन.....

नई दिल्ली। क्रिकेट का जिक्र हो रहा हो और रिकॉर्ड की बात दोहराते-दोहराते हमारे जुबान से दुनिया के महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का नाम न निकले ऐसा भले कैसे हो सकता है। दुनिया के कई खिलाड़ियों के मन में क्रिकेट खेलने की प्रेरणा जगाने वाले और 24 साल तक भारत का मान पूरी दुनिया में बढ़ाने वाले सचिन तेंदुलकर का नाम भला कैसे कोई भूल सकता है। उनकी बल्लेबाजी, उनका प्रदर्शन, खेल भावना ही उन्हें क्रिकेट का भगवान बनाती है। 1989 वो वक्त था जब सचिन ने पड़ोसी देश पाकिस्तान के साथ अपना पहला डेब्यू मैच खेला था। सचिन के नाम बहुत से खास रिकॉर्ड जुड़ें हैं लेकिन अभी वर्तमान क्रिकेट में एशिया कप का दौरा भारतीय टीम करने वाली है। ऐसे में हम सचिन के एशिया क का जिक्र करेंगे....

जब तेंदुलकर ने जड़ा था शतकों का शतकः

जब तेंदुलकर ने जड़ा था शतकों का शतकः

भारतीय क्रिकेट टीम 15 सितंबर से शुरू हो रहे एशिया कप में हिस्सा लेने जा रही है। बता दें कि 17 मार्च 2012 को एशिया कप मुकाबले का ही वो ऐतिहासिक दिन था जब मास्टर ब्लास्टर ने बांग्लादेश के खिलाफ शतकों का शतक जड़ा था। पूरे दुनिया की नजर उस दिन सचिन पर थी, वो क्रिकेट जगत का ऐसा कारनामा था जिसकी कोई जल्दी कल्पना नहीं कर सकता था, लेकिन सचिन के इस रिकॉर्ड को उस मुकाबले में ज्यादा देर तक खुशी से नहीं देखा जा सका क्योंकि भारत यह मुकाबला 5 विकेट से हार गया था।

इस रिकॉर्ड के लिए करना पड़ा था लंबा इंतजारः

इस रिकॉर्ड के लिए करना पड़ा था लंबा इंतजारः

एशिया कप के उस ऐतिहासिक मुकाबले के लिए सचिन तेंदुलकर को काफी वक्त तक का इंतजार करना पड़ा था। बता दें कि 99 शतक से लेकर 100वें शतक का सफऱ सचिन के लिए काफी कष्टकारी रहा था, करीब डेढ़ साल का वक्त और 33 मुकाबलों के बाद सचिन को यह खास उपलब्धि हासिल हुई थी। हालांकि इस मुकाबले में भी उनके लिए यह आसान नहीं नजर आ रहा था। नर्वस नाइंटीज से सचिन काफी परेशान हो गए थे,। इस पारी में उन्होंने 120 गेंद में 80 रन बना लिए थे लेकिन आगे के 20 रन बनाने में उन्हें 36 गेंदों का सामना करना पड़ा था। वहीं इस मुकाबले में भारत को जीत भी नसीब नहीं हुई थी।

...और हाथ से फिसल गई जीतः

...और हाथ से फिसल गई जीतः

इस मुकाबले में एक समय पर भारत का स्कोर 36 ओवर में 173 रन था वह भी एक विकेट के नुकसान पर, वहीं सचिन के करियर का यह दूसरा सबसे धीमा शतक था और भारत महज 289 रन ही बना सका था। हालांकि जब बांग्लादेश बल्लेबाजी करने उतरा तो उसमें तमीम इकबाल(70), जुरूल इस्लाम की 53 और नासिर हुसैन की अर्धशतकीय पारी ने भारत के हाथों से जीत छीन ली और इस खास रिकॉर्ड के बाद भी सचिन को मैदान की तरफ शांति के साथ ही लौटना पड़ा था, क्योंकि जीत का उल्लास अब नहीं रह गया था।

ये भी पढ़ें- VIDEO: ईशान किशन ने कुछ इस अंदाज में किया 'रन आउट', लोगों को ध्यान आए एमएस धोनी

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, September 6, 2018, 16:35 [IST]
Other articles published on Sep 6, 2018
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X