मानहानि के मुकदमे पर शोएब अख्तर का जवाब, कहा- दो टके का वकील, झूठा है

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने हाल ही में फिक्सिंग को लेकर उमर अकमल पर 3 साल का बैन लगाया है, इसके बाद पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने पीसीबी पर कड़ा प्रहार करते हुए कड़ी आलोचना की थी। शोएब अख्तर ने कहा था कि पीसीबी का लीगल सेक्शन बेकार है। शोएब अख्तर के इस बयान से नाराज होकर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के कानूनी सलाहकार तफज्जुल रिजवी ने मानहानि का मुकदमा ठोंक दिया है।

अब शोएब अख्तर ने मानहानि के मामले को लेकर अपना पक्ष रखा है और सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हुए बयान जारी किया है। शोएब ने कहा कि उन्हें रिजवी की ओर से भेजा गया नोटिस मिल गया है जिसका जवाब वो बहुत जल्द देंगे। हालांकि वह अभी भी अपने बयान पर कायम हैं।

और पढ़ें: बुमराह को बेबी बॉलर कहने पर रज्जाक ने दी सफाई, कहा- विश्व कप में पाक पर हमेशा भारी पड़ेगा भारत

मानहानि के नोटिस पर बात करते हुए शोएब अख्तर ने अपने ट्विटर पर लिखा, 'मुझे तफज्जुल रिजवी की ओर से एक नोटिस मिला है, जो पूरी तरह से झूठ पर आधारित है। मैंने इस केस की सुनवाई के लिये सलमान नियाजी को अपना वकील चुना है जो कि मेरी तरफ से इस मामले में कानूनी जवाब देंगे। मैं रिजवी की अक्षमता और असंतोषजनक प्रदर्शन के बारे में अभी भी अपने बयान पर कायम हूं।'

इससे पहले अपने यूट्यूब चैनल पर पीसीबी के कानूनी सलाहकार की धज्जियां उड़ाते हुए शोएब अख्तर ने जमकर हमला बोला था और कहा था कि बोर्ड का कानूनी विभाग किसी काम का नहीं है।

और पढ़ें: रोहित शर्मा ने बताया ICC टूर्नामेंट में जीतने का रास्ता, कहा- मुंबई इंडियंस की तरह खेलना होगा

उन्होंने कहा था, 'बोर्ड का कानून विभाग बेकार है, मैं नाम लेकर कहता हूं कि इस बंदे का नाम तफज्जुल रिजवी है... यह बंदा पता नहीं कहां से आ जाता है। यह पिछले 10-15 सालों से पीसीबी के साथ है और लगभग हर केस हारा है। यहां तक कि इस बंदे को मेरे खिलाफ भी हार का ही सामना करना पड़ा था। उसने अफरीदी और यूनिस खान को भी अदालत में घसीटा था। उसे पता होना चाहिए कि स्टार बहुत कम पैदा होते हैं। उनकी इज्जत करनी चाहिए। दो टके के वकीलों को कोई नहीं जानता। रिजवी पैसे बनाता है.. केस उलझाता है और फिर हार जाता है।'

सोशल मीडिया पर शोएब अख्तर का यह वीडियो वायरल होने के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भी इस पूर्व तेज गेंदबाज की भाषा को असंयमित और आपत्तिजनक करार दिया था।

और पढ़ें: ICC रैंकिंग में कभी 900 प्वाइंट के पार क्यों नहीं पहुंच सके सचिन तेंदुलकर, जानें कारण

उन्होंने कहा था, 'शोएब की भाषा अनुचित और अपमानजनक थी। सभ्य समाज में ऐसी भाषा नहीं बोली जाती। पीसीबी के कानूनी सलाहकार तफज्जुल रिजवी ने उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई का फैसला किया है।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, May 1, 2020, 19:33 [IST]
Other articles published on May 1, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X