रेगिस्तान की रेत में क्रिकेट खेलते भारत के बच्चों का फोटो स्टीव वॉ को दिला गया ये अवॉर्ड

नई दिल्लीः भारत की क्रिकेट की कहानी पूरी दुनिया भर में प्रसिद्ध है। आज भारतीय क्रिकेट टीम इस खेल में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम है। भारत की सफलता ने कई विदेशी क्रिकेटरों को इस देश में आने और इसको समझने की ओर प्रेरित किया है। इंडियन प्रीमियर लीग ने वैश्विक T20 लीग की अगुआ बनकर देश के साथ-साथ विदेशी युवा क्रिकेटरों को भी नया रास्ता दिखाया है। इन सबके बीच ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान कप्तान स्टीव वॉ का नाम उभरकर सामने आ रहा है। स्टीव वा की हालिया सफलता और भारत की क्रिकेट भावना एक दूसरे से जुड़ी हुई है।

'विजडन फोटोग्राफ ऑफ 2020'

'विजडन फोटोग्राफ ऑफ 2020'

जी हां, स्टीव वा को 'विजडन फोटोग्राफ ऑफ 2020' के लिए अवार्ड दिया गया है। आप सोच रहे होंगे कि स्टीव वॉ का नाम फोटोग्राफी में कैसे आ गया क्योंकि वह तो क्रिकेट से जुड़ी हस्ती हैं। वह क्रिकेट के बारे में सब कुछ जानते हैं लेकिन फोटोग्राफी अलग चीज होती है। तो हम आपको बता दें कि स्टीव वॉ एक मल्टी टैलेंटेड इंसान है जो अपनी शानदार किताब भी लिख चुके हैं और उन्होंने जो फोटो लिया था उसे 'फोटोग्राफ ऑफ 2020' का अवार्ड मिला कर दिया गया है। यह फोटो उन्होंने भारत में आकर क्लिक किया था जो कि राजस्थान में थार रेगिस्तान का है।

IPL 2021: CSK के कप्तान धोनी पर लटक रही एक मैच में बैन होने की तलवार, जानिए कैसे

भारतीय रेगिस्तान में खेलते हुए बच्चे-

भारतीय रेगिस्तान में खेलते हुए बच्चे-

थार रेगिस्तान में क्रिकेट खेलते हुए बच्चों की खेल भावना को इस फोटोग्राफ के जरिए आप देख सकते हैं। स्टीव वॉ ने अपनी बुक 'स्पिरिट ऑफ क्रिकेट- इंडिया' में 200 से ज्यादा फोटोग्राफ पब्लिश किए थे जिसमें यह विजेता फोटो भी शामिल है। यह बुक स्टीव वॉ द्वारा प्रोड्यूस की गई थी जिसमें उन्होंने फोटोग्राफर ट्रेंट पार्क की मदद भी ली थी। स्टीव वॉ ने अवॉर्ड विनिंग फोटो के बारे में बात करते हुए बताया कि कितनी भयंकर परिस्थितियों में भी यह बच्चे ऐसे क्रिकेट खेल रहे हैं मानो यहां हर बच्चे के लिए यह खेल सबसे जरूरी है।

स्टीव वॉ ने यह भी कहा कि आपको खेल को लेकर जो प्यार है उसकी सराहना करनी ही होगी क्योंकि यहां परिस्थितियां और मौसम बहुत ही विपरीत है। यह बहुत ज्यादा समय और धैर्य की मांग करता है। यहां के लोकल गांव में रहने वाले बच्चों के पास क्रिकेट खेलने का शायद ही कोई समान हो। उनके पास बमुश्किल एक रबड़ की बॉल है और एक टूटा फूटा स्टंप है जो कि खेल शुरू करने के लिए शायद पर्याप्त हैं। लेकिन जब खेल शुरू होता है तो यह कोई फर्क नहीं पड़ता आपके पास किस क्वालिटी का सामान था क्योंकि फिर मामला केवल कंपटीशन का हो जाता है।

यहां पर देखें यह फोटो-

यहां पर देखें यह फोटो-

स्टीव वॉ ने बच्चों की तारीफ करते हुए कहा था कि इनका एटीट्यूड और इंटेंट देखकर काफी खुशी हासिल होती है। आप बच्चों के चेहरे पर उनके हावभाव को देख सकते हैं कि वह किस तरीके से अपने साथियों के साथ इस खेल को खेल रहे हैं। पूरी दुनिया भर के बच्चे भी ऐसा ही करते अगर वे खेलने के लिए साथ में मिलते।

आप इस फोटो को देख सकते हैं जो कि पूरी तरह से रेगिस्तान से भरा हुआ क्षेत्र है और यहां पर रेत के अलावा कुछ पेड़ दिखाई दे रहे हैं। कहीं पर कोई छाया नहीं है और खिलाड़ी पूरी तरह असमतल जमीन के जमीन पर भी इस खेल को खेल रहे हैं और पूरी तल्लीनता के साथ सक्रिय हैं। आप बच्चों के झुंड के दूसरी ओर ऊंटों को भी देख सकते हैं जो कि रेगिस्तान की जीवन शैली का अभिन्न हिस्सा होते हैं। यह फोटोग्राफ वाकई में बहुत ही शानदार है। ऐसा लगता है जैसे चित्र अपने आप काफी सारी बातें कहता है। स्टीव वॉ ने बताया कि यह सब लोकल बच्चे क्रिकेट अपने पूरे दिल के साथ खेल रहे थे और यह जनवरी का महीना था जब उन्होंने सुबह के समय यह फोटो ली।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, April 16, 2021, 17:27 [IST]
Other articles published on Apr 16, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X