'उम्मीद है कि शास्त्री-धोनी के बीच नहीं होगी लड़ाई', विश्वकप में भारत का मेंटॉर बनाने पर बोले सुनील गावस्कर

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने यूएई में खेले जाने वाले टी20 विश्वकप की भारतीय टीम के लिये महेंद्र सिंह धोनी को सपोर्टिंग स्टाफ का हिस्सा बनाये जाने और मेंटॉर नियुक्त किये जाने पर खुशी जताई है, हालांकि उन्हें उम्मीद है कि इससे हेड कोच रवि शास्त्री और धोनी के बीच कोई विवाद देखने को नहीं मिलेगा। भारतीय क्रिकेट बोर्ड की चयन समिति ने 8 सितंबर को टी20 विश्वकप के लिये 15 सदस्यीय टीम का ऐलान किया और अगस्त 2020 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके महेंद्र सिंह धोनी को मेंटॉर बनाने का ऐलान कर सभी को हैरान कर दिया।

और पढ़ें: आखिर क्यों ECB बना रहा है भारत पर मैच से पीछे हटने का दबाव, रिशेड्यूल करने से क्या होगा नुकसान

धोनी को मेंटॉर बनाये जाने पर बयान देते हुए गावस्कर ने कहा कि उनकी कप्तानी में भारत को 3 आईसीसी खिताब में जीत मिली है और उनमें काबिलियत है कि वो भारतीय टीम को बहुदेशीय टूर्नामेंट में गाइड कर सकें। हालांकि इस दौरान गावस्कर थोड़ा सा चिंतित भी नजर आये और कहा कि उम्मीद है कि धोनी और हेड कोच रवि शास्त्री एक ही वेवलेंथ पर काम कर सकें।

और पढ़ें: IPL 2021 के दूसरे हाफ से पाकिस्तान-न्यूजीलैंड सीरीज को भारी नुकसान, DRS से महरूम रहेंगी टीमें

जॉन राइट को था अपनी जगह खोने का खतरा

जॉन राइट को था अपनी जगह खोने का खतरा

गावस्कर को डर है कि अगर धोनी और टीम मैनेजमेंट के बीच गेम प्लान को लेकर एक जैसी सोच नहीं रही तो उन दोनों के बीच बनने वाली असहमति से टीम को नुकसान उठाना पड़ सकता है।

उन्होंने कहा,'धोनी की कप्तानी में भारत को 2011 विश्व कप में जीत मिली जबकि 4 साल पहले भारत ने 2007 का टी20 विश्वकप भी जीता। इस कदम से भारत को निश्चित तौर पर फायदा होने जा रहा है। हालांकि उस वक्त टीम के हेड कोच जॉन राइट थोड़ा नर्वस थे, जिन्हें लग रहा था कि धोनी उनकी जगह ले लेंगे। हालांकि रवि शास्त्री जानते हैं कि धोनी को कोचिंग में बहुत ही कम रूचि है। ऐसे में रवि शास्त्री और एमएस धोनी की साझेदारी अच्छी हो जाती है तो भारत को इससे काफी फायदा होगा। लेकिन वहीं पर अगर दोनों के बीच टीम सेलेक्शन और रणनीतियों को लेकर असहमति बनती है तो इसका नुकसान टीम पर भी देखने को मिल सकता है।'

अगर धोनी-शास्त्री के बीच हुआ विवाद तो भारत को होगा नुकसान

अगर धोनी-शास्त्री के बीच हुआ विवाद तो भारत को होगा नुकसान

गावस्कर का मानना है कि भारतीय टीम में धोनी की नियुक्ति अपने आप में टीम की ताकत को बढ़ा रही है, बस उम्मीद है कि किसी असहमति की वजह से दोनों के बीच विवाद न देखने को मिले।

उन्होंने कहा,'धोनी की नियुक्ति भारतीय फैन्स और टीम के लिये बड़ी खुशखबरी है लेकिन मैं बस यही प्रार्थना कर रहा हूं कि रवि शास्त्री और धोनी के बीच कोई विवाद देखने को न मिले और दोनों एक पेस पर रहकर काम कर सकें। अगर यह काम कर जाता है तो भारत के आईसीसी ट्रॉफी का सूखा भी खत्म हो सकता है।'

अश्विन को प्लेइंग 11 में जगह मिलना मुश्किल

अश्विन को प्लेइंग 11 में जगह मिलना मुश्किल

गौरतलब है कि विश्वकप के लिये चुनी गयी भारतीय क्रिकेट टीम में रविचंद्रन अश्विन की भी वापसी हुई है और युजवेंद्र चहल को टीम से बाहर छोड़ दिया गया है। अश्विन के चयन पर गावस्कर ने कहा कि उनकी टीम में वापसी काफी अच्छी खबर है लेकिन प्लेइंग 11 में उनके लिये जगह बना पाना थोड़ा मुश्किल है। इतना ही नहीं गावस्कर का मानना है कि अश्विन का चयन सिर्फ इंग्लैंड दौरे पर खेली टेस्ट सीरीज में भरपाई के लिये किया गया है।

आपको बता दें कि भारतीय टीम 24 अक्टूबर से अपने विश्वकप अभियान का आगाज करेगी जिसका पहला मैच दुबई के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में पाकिस्तान के खिलाफ खेला जायेगा।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Saturday, September 11, 2021, 15:46 [IST]
Other articles published on Sep 11, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X