Vijay Hazare Final: दिनेश कार्तिक के शतक पर भारी पड़ी शुभम की पारी, हिमाचल प्रदेश ने जीता पहला खिताब

Vijay Hazare Trophy
Photo Credit: Twitter/ Screenshot

नई दिल्ली। घरेलू स्तर पर भारतीय क्रिकेट के सबसे बड़े वनडे टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी 2021-22 का फाइनल मैच रविवार को जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में खेला गया, जहां पर 5 बार की चैम्पियन तमिलनाडु की टीम का सामना पहली बार इस टूर्नामेंट के फाइनल तक पहुंची हिमाचल प्रदेश की टीम के साथ हुआ। इस बेहद रोमांचक मैच में हिमाचल प्रदेश की टीम ने इतिहास रचते हुए घरेलू क्रिकेट का अपना पहला खिताब जीता और तमिलनाडु की टीम को वीजेडी (वी जयदेवन सिस्टम) नियम के तहत 11 रनों से जीत हराया। हिमाचल प्रदेश की टीम को मिली इस पहली विजय हजारे ट्रॉफी जीत में उनके कप्तान ऋषि धवन ने अहम रोल निभाया और टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन और विकेट लेने वाले दूसरे खिलाड़ी बनकर जीत सुनिश्चित की।

और पढ़ें: आखिर क्या है क्रिकेट में VJD नियम, क्यों है DLS से बेहतर

जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में खेले जा रहे इस मैच में तमिलनाडु की टीम ने दिनेश कार्तिक की शतकीय पारी के दम पर 314 रनों का स्कोर खड़ा किया। हिमाचल प्रदेश की टीम को जीत के लिये 315 रन की दरकार थी, जिसके जवाब में उसने 47.3 ओवर्स में 4 विकेट खोकर 299 रन बना लिये थे। हालांकि खराब रोशनी के चलते मैच को रोकना पड़ा और रिजल्ट निकलाने के लिये वीजेडी सिस्टम खेल में आया। वीजेडी सिस्टम के अनुसार हिमाचल को जीत के लिये इस समय 288 रन का स्कोर होना चाहिये था लेकिन वह पहले ही 299 रन बना चुकी थी जिसकी वजह से उसे 11 रनों से विजेता करार दिया गया।

और पढ़ें: IND vs SA: मयंक-राहुल के दम पर भारत की रिकॉर्ड शुरुआत, 11 साल बाद भारत ने किया यह कारनामा

तमिलनाडु की रही खराब शुरुआत

तमिलनाडु की रही खराब शुरुआत

अपने पहले खिताब की तलाश में उतरी हिमाचल प्रदेश की टीम ने इस मैच में टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया और अपने गेंदबाजों के दम पर अच्छी शुरुआत भी की। तमिलनाडु के लिये सेमीफाइनल में शतक लगाने वाले बाबा अपराजित (2) पहले ही ओवर में विनय गलेतिया का शिकार बने और बोल्ड होकर वापस लौटे, जबकि एन जगदीशन (9) की खराब बल्लेबाजी का सिलसिला फिर से जारी रहा। हिमाचल प्रदेश के कप्तान ऋषि धवन ने एन जगदीशन और एम एश्विन (7) का विकेट चटका दिया तो वहीं पर पंकज जायसवाल ने आर साई किशोर (18) का विकेट लेकर तमिलनाडु को बैकफुट पर धकेल दिया। पहले 15 ओवर के खेल में तमिलनाडु की टीम महज 40 रन के स्कोर पर अपने 4 विकेट खो चुकी थी।

दिनेश कार्तिक-इंद्रजीत ने संभाली पारी, जोड़े 204 रन

दिनेश कार्तिक-इंद्रजीत ने संभाली पारी, जोड़े 204 रन

पहले 15 ओवर में 4 विकेट खोने के बाद तमिलनाडु के लिये दिनेश कार्तिक (116) और बाबा इंद्रजीत (80) ने पारी को संभालने का काम किया और अगले 27 ओवर्स में पांचवे विकेट के लिये 204 रनों की साझेदारी कर डाली। दिनेश कार्तिक ने इस साझेदारी के दौरान अपने लिस्ट ए करियर का 12वां शतक लगाया, तो वहीं पर बाबा इंद्रजीत ने 8वां अर्धशतक जड़ दिया। कार्तिक ने अपनी पारी में 8 चौके और 7 छक्के लगाये तो वहीं पर इंद्रजीत ने 8 चौके और एक छक्के का योगदान दिया। सिद्धार्थ शर्मा ने 42वें ओवर में कार्तिक का विकेट लेकर इस साझेदारी को तोड़ा तो वहीं पर अगले ही ओवर में दिग्विजय रंगी ने इंद्रजीत को वापस पवेलियन भेज दिया। तमिलनाडु के लिये इसके बाद शाहरुख खान (42) और कप्तान विजय शंकर (22) ने ताबड़तोड़ तरीके से रन बनाते हुए अर्धशतकीय साझेदारी की और टीम के स्कोर को 314 पर पहुंचा दिया। हिमाचल प्रदेश के लिये ऋषि धवन ने 3 विकेट चटकाये तो वहीं पर पंकज जायसवाल ने भी विकेटों का चौका लगाया।

शुभम की पारी कार्तिक पर पड़ी भारी

शुभम की पारी कार्तिक पर पड़ी भारी

दिनेश कार्तिक की शतकीय पारी के दम पर तमिलनाडु की टीम विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में एक बड़ा स्कोर खड़ा करने में कामयाब रही, जिसका पीछा करने उतरी हिमाचल प्रदेश की टीम ने संभली हुई शुरुआत की और पहले विकेट के लिये 60 रन जोड़ लिये। शुभम अरोड़ा (136*) और प्रशांत चोपड़ा (21) ने अच्छी शुरुआत दिलाई लेकिन साई किशोर ने प्रशांत को बोल्ड मार पहली सफलता दिलाई। अगले ही ओवर में दिग्विजय रंगी का विकेट गिरा तो 17वें ओवर में हिमाचल प्रदेश की टीम ने 96 रन के स्कोर पर अपने 3 विकेट खो दिये। हालांकि सलामी बल्लेबाज शुभम चोपड़ा ने अमित कुमार (74) के साथ पारी को संभालने का काम किया और चौथे विकेट के लिये 148 रनों की साझेदारी की। इस दौरान शुभम चोपड़ा ने अपना शतक पूरा किया तो वहीं पर अमित कुमार ने 6 चौके लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया।

बाबा अपराजित ने अमित कुमार का विकेट लेकर साझेदारी को जरूर तोड़ा लेकिन कप्तान ऋषि धवन ने 23 गेंदों में 5 चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 45 रनों की पारी खेली, जिसकी वजह से हिमाचल प्रदेश की टीम वहां पहुंची जहां पर वीजेडी नियम के आने के बाद उसने 11 रनों से जीत हासिल कर ली।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Sunday, December 26, 2021, 18:25 [IST]
Other articles published on Dec 26, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X