सचिन-वार्न की भिड़ंत का किस्सा, लक्ष्मण बोले- तेंदुलकर ने खुद को रूम में कर लिया था बंद

नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने क्रिकेट के मैदान पर खेल के दो महारथियों सचिन तेंदुलकर और शेन वार्न के बीच की '' सबसे अच्छी लड़ाई '' को याद किया।

लक्ष्मण ने एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेले गए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 1998 के टेस्ट मैच की यादों को ताजा किया। बल्लेबाजी करने के लिए, भारत अपनी पहली पारी में 257 रन बनाकर आउट हो गया जिसमें तेंदुलकर ने सिर्फ चार रनों का योगदान दिया।

पहली पारी में 4 रन बनाकर सचिन आउट-

पहली पारी में 4 रन बनाकर सचिन आउट-

"सचिन चेन्नई में टेस्ट मैच के लिए वास्तव में अच्छी तरह से तैयार थे। पहली पारी में वह चार रन पर आउट हो गए। उन्होंने एक चौका लगाया और फिर मिड ऑन के ऊपर से एक बड़ा शॉट खेलने की कोशिश की, जो टर्न के खिलाफ था। मार्क टेलर के हाथों वे लपके गए, "लक्ष्मण ने स्टार स्पोर्ट्स शो क्रिकेट कनेक्टेड पर बोलते हुए कहा।

रणजी ट्रॉफी का ये क्रिकेटर बना USA क्रिकेट का हेड कोच

"मुझे याद है कि सचिन ने खुद को फिजियो के कमरे में बंद कर लिया था और लगभग एक घंटे के बाद ही बाहर आए थे। जब वह बाहर आया, तो हम देख सकते थे कि उनकी आंखें लाल थीं। मुझे लगा कि वह बहुत भावुक थे क्योंकि वह आउट होने के तरीके से नाखुश थे।" लक्ष्मण ने जोड़ा।

खुद को फीजियो के कमरे में कर लिया बंद-

खुद को फीजियो के कमरे में कर लिया बंद-

जवाब में, ऑस्ट्रेलिया ने 328 रन बनाए और 71 रन की बढ़त पहली पारी में ले ली। हालांकि, भारत ने जोरदार वापसी की और 418/4 के स्कोर पर दूसरी पारी की घोषणा की। मास्टर ब्लास्टर ने नाबाद 155 रनों की शानदार पारी खेली, जिसमें 14 चौके और 4 छक्के शामिल थे।

लक्ष्मण ने कहा, "फिर दूसरी पारी में, उन्होंने जिस तरह से शेन वार्न की धुनाई की, जो लेग स्टंप के बाहर बने रफ पर बॉल का टप्पा डाल रहे थे। वार्न क्रीज की गहराई का उपयोग कर रहे थे और जब वह इसे पिच करते थे, तो सचिन मिड ऑफ, मिड-ऑन क्षेत्र के माध्यम से हिट करते थे। उन्होंने शतक बनाया।

लक्ष्मण ने कहा- यह मेरे लिए सचिन-वार्न की बेस्ट भिड़ंत

लक्ष्मण ने कहा- यह मेरे लिए सचिन-वार्न की बेस्ट भिड़ंत

उन्होंने कहा, "शेन वॉर्न के साथ वो लड़ाई मेरे द्वारा देखी गई सबसे अच्छी भिड़ंत में हैं।" भारत ने तब 168 रनों कंगारूओं को समेट दिया था और 179 रन की जीत दर्ज की, जिससे अनिल कुंबले 4/46 और वेंकटपति राजू 3/31 बॉलिंग हीरो साबित हुए थे। बता दें कि अधिकांश मौकों पर सचिन ही वार्न पर भारी साबित हुए हैं।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Wednesday, April 29, 2020, 16:05 [IST]
Other articles published on Apr 29, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X