जब डिप्रेशन के चलते आ रहा था सुसाइड का ख्याल, ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने किया खुलासा

नई दिल्ली। पिछले काफी समय से ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम से बाहर चल रहे हरफनमौला खिलाड़ी मोजेज हेनरिक्स ने एक इंटरव्यू के दौरान कई खुलासे किये जिसमें से एक किस्सा उस वक्त का है जब वह डिप्रेशन का शिकार थे और इस दौरान वह सुसाइड करने के बारे में सोच रहे थे। उल्लेखनीय है कि मोजेज हेनरिक्स काफी वक्त से अपनी राष्ट्रीय टीम से बाहर चल रहे हैं, भले ही पिछले काफी समय में मोजेज अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से बाहर चल रहे हैं, लेकिन वह लगातार फ्रैचाइजी आधारित क्रिकेट खेल रहे हैं।

और पढ़ें: दिवालिये की कगार पर विंडीज क्रिकेट बोर्ड, खिलाड़ियों को जनवरी से नहीं मिला पैसा

खेल पत्रकार नेरोली मीडोज की ओर से आयोजित किये गये ऑर्डिनरोली स्पीकिंग पॉडकास्ट में हेनरिक्स ने खुलासा किया कि उन्होंने कैसे आत्महत्या की कोशिश की थी और उस कारण का भी खुलासा किया कि उन्होंने ऐसा क्यों किया।

और पढ़ेंं: इस विवाद के बाद नहीं होनी चाहिये थी केविन पीटरसन की टीम में वापसी: माइकल वॉन

क्लिनिकल डिप्रैशन का शिकार थे मोजेज हेनरिक्स

क्लिनिकल डिप्रैशन का शिकार थे मोजेज हेनरिक्स

हेनरिक्स ने इस बात का खुलासा करते हुए बताया कि कैसे साल 2017 में वो क्लीनिकल डिप्रैशन का शिकार हुए थे, जिसके बाद उन्हें टीम से अपनी जगह को खोनी पड़ी थी।

इस बारे में बात करते हुए हेनरिक्स ने कहा,'अगर आपने गूगल पर डिप्रैशन के लक्षणों को देखा हो, तो मुझमें उनमें से हर एक लक्षण खुद में नजर आ रहे थे और काफी गंभीर रूप से. शायद दो से तीन महीने थे, जब मैं बहुत खराब हालत में था, एक या दो घंटे सोने की नींद के लिए भी मैं संघर्ष कर रहा था।'

4 हफ्ते में घट गया था 10 किलो वजन

4 हफ्ते में घट गया था 10 किलो वजन

हेनरिक्स ने इस दौरान यह भी बताया कि डिप्रेशन के चलते उनकी हालत इतनी खराब हो गई थी कि महज 4 हफ्तों में उनका लगभग 10 किलो वजन कम हो गया था, वह 4 हफ्ते में 98 किलो से 88 किलो तक पहुंच गये थे। हेनरिक्स ने कहा कि उस दौरान मैं ऐसी स्थिति में था जिसके बारे में आप दुश्मन के लिये भी नहीं सोच सकते।

उन्होंने कहा,'मैंने तस्मानिया के खिलाफ शील्ड के खेल में बैंक्सटाउन ओवल में टॉस जीता, और पिच को देखते हुए पहले गेंदबाजी का फैसला किया। दिन के अंत में, वे 2/290 रन पर थे और दूसरे दिन वह 450 पर पहुंच गए जबकि हम दिन के अंत में 5 विकेट के नुकसान पर 90 जा रहे थे और मैं 20 रन बनाकर आउट हो गया। अक्सर लोग डिप्रेशन में गलत कदम उठा लेते हैं। कई लोग इस दौरान अपनी जिंदगी से नफरत करने लगते हैं और उन्हें लगता है कि अब उनके पास करने को कुछ भी नहीं है इसलिए वह खुद से निराश होकर आत्महत्या का रास्ता अपनाते हैं।'

बताया कैसे आया था खुदखुशी का सवाल

बताया कैसे आया था खुदखुशी का सवाल

इस दौरान मोजेज हेनरिक्स ने बताया कि कैसे 2017 में उन्हें आत्म हत्या का विचार आया था।

उन्होंने बताया,'मुझे याद है कि मैं घर वापस जा रहा था, 110 किमी की रफ्तार से गाड़ी चला रहा था, और मुझे कार में खुद को याद करते हुए याद आया। मैं सोच रहा था कि अगर मैं बस सीधे इस खंभे में गाड़ी चला दूं, तो क्या होगा? क्या होगा इसका परिणाम? मैं ऐसा नहीं कर सकता यह मेरे भाइयों पर उचित नहीं है, यह साथी खिलाड़ियों के लिए उचित नहीं है, और यह उन सभी लोगों के लिए सही नहीं होगा जो मुझे सपोर्ट करते हैं। मैं अगले दो दिनों के लिए दस लोगों के साथ अपनी टीम नहीं छोड़ सकता।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, April 23, 2020, 20:33 [IST]
Other articles published on Apr 23, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X