नंबर-4 बनी टीम इंडिया के 'हार की वजह' तो BCCI ने पूछा चयनकर्ताओं से यह सवाल

नई दिल्ली। करोड़ों भारतीय फैंस के दिल टूट गए जब भारत सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हारकर आईसीसी विश्व कप 2019 का खिताब जीतने से दूर रह गया। टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले भारतीय टीम खिताब जीतने की प्रबल दावेदार मानी जा रही थी, लेकिन टीम मैनेजमेंट के तो कुछ खराब रणनीति के कारण सारा खेल बदल गया। पिछले 4 सालों से अभी तक नंबर-4 की गुत्थी नहीं सुलझी। विश्व कप में भी हार का कारण इस स्लाॅट को ही माना जा रहा जिसे चयनकर्ता भर नहीं सके। ऐसे में अब बीसीसीआई ने भी टीम मैनेजमेंट की क्लास लगाने की तैयारी कर ली है आैर चयनकर्ताओं से यह सवाल पूछा कि आखिर हार के जिम्मेदार खिलाड़ी ही क्यों?

आज ही के दिन गांगुली ने 'अंग्रेजों' को हराकर लहराई थी शर्ट, रोमांचक मैच में यू मारी थी बाजी

चयनकर्ता पुरस्कार लेते हैं तो हार की जिम्मेदारी भी लें

चयनकर्ता पुरस्कार लेते हैं तो हार की जिम्मेदारी भी लें

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि चयनकर्ताओं को भी टीम की हार की जिम्मेदारी लेनी चाहिए क्योंकि जब टीम के अच्छे प्रदर्शन पर वह पुरस्कार के हकदार होते हैं तो टीम की हार की जिम्मेदारी भी उनकी बनती है। अधिकारी ने कहा, "जब भी टीम कोई टूर्नामेंट जीतती है तो चयनकर्ताओं को भी नगद पुरस्कार दिए जाते हैं, लेकिन जब हार की बारी आती है तो सिर्फ खिलाड़ियों की आलोचना की जाती है। चयनकर्ताओं का क्या होता है?

चयनकर्ताओं के प्रदर्शन को कौन परखेगा?

चयनकर्ताओं के प्रदर्शन को कौन परखेगा?

अधिकारी ने आगे कहा कि चयन समिति के अध्यक्ष का क्या? वह लगभग सभी दौरों पर टीम के साथ जा रहे हैं। ऐसे में निश्चित है कि उन्होंने देखा होगा कि कहां सुधार की जरूरत है। नंबर-4 की जिम्मेदारी उनके जिम्मे होनी चाहिए क्योंकि वही इसी नंबर के लिए तमाम बदलाव कर रहे थे। अधिकारी ने कहा, "जब एक सलामी बल्लेबाज चोटिल हुआ तो आपने एक मध्य क्रम के बल्लेबाज को भेजा। इसके बाद आपका मध्य क्रम का बल्लेबाज चोटिल हो जाता है तो आप उसके विकल्प के तौर पर सलामी बल्लेबाज को भेजते हैं। बात मायने नहीं रखती कि टीम प्रबंधन क्या चाहता है, फैसला चयनकर्ताओं के पास में रहता है। इससे एक और बड़ा सवाल खड़ा होता है कि चयनकर्ताओं के प्रदर्शन को कौन परखेगा?"

टीम इंडिया की हार के बाद डिनर डेट पर गए विराट-अनुष्का, तस्वीरें वायरल

ऐसा रहा नंबर-4 का खेल

ऐसा रहा नंबर-4 का खेल

बता दें कि विश्व कप दाैरान नंबर-4 का खेल जो दिखा वो बेहद चिंता का विषय और सवाल खड़े कर देने वाला है। टीम का ऐलान किया जाने से पहले अंबाती रायडू नंबर-4 के लिए तय थे लेकिन उनकी जगह अचानक विजय शंकर को जोड़ लिया गया। लेकिन यहां शंकर भी नहीं चले, उल्टा चोटिल होकर बाहर हो गए। फिर पांड्या को आजमाया। वहीं सेमीफाइनल में रिषभ पंत को माैका दिया गया। यानि कि कुल मिलाकर विश्व कप दाैरान भी टीम चयनकर्ता तय फाइनल नहीं कर पाए कि नंबर-4 के लिए परफेक्ट खिलाड़ी काैन है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Saturday, July 13, 2019, 18:55 [IST]
Other articles published on Jul 13, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X