धोनी के रन-आउट पर खड़ा हुआ नया विवाद, एक छोटे से ग्राफिक्स ने पकड़ी बड़ी गलती

World Cup 2019 India vs New Zealand: MS Dhoni run out after umpiring error ? | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्ली: विश्व कप में भारत और न्यूजीलैंड के बीच हुए मैच को धोनी-जडेजा की जोड़ी ने काफी रोमांचकारी बना दिया था। एक समय जब भारत का टॉप ऑर्डर धराशाई हुआ था तब लग रहा था मैच पूरी तरह से हाथ से गया लेकिन धोनी और जडेजा ने अंत तक जूझने का जज्बा दिखाया और विश्व कप से भारत को अपेक्षाकृत सम्मानजनक विदाई दी। जडेजा ने 77 रन बनाकर जब आउट हुए जब बाकी का काम खत्म करने की जिम्मेदारी धोनी पर आ गई थी। भारत को अंतिम दो ओवरों में 31 रन चाहिए थे। धोनी ने 49वें ओवर की पहली गेंद पर छक्का भी जड़ दिया था लेकिन उसके एक गेंद बाद ही वह रन आउट हो गए। अब जो तथ्य सामने आ रहे हैं उनके मुताबिक धोनी के आउट होने पर नया विवाद खड़ा हो सकता है।

धोनी के रन-आउट पर विवाद

धोनी के रन-आउट पर विवाद

यह ओवर लॉकी फर्गुसन कर रहे थे। उस समय भारत को जीत के लिए 10 गेंदों पर 25 रन बनाने की दरकार थी। तभी फर्गुसन की गेंद को पुल करने के प्रयास में धोनी मिस टाइम कर गए। उन्होंने फिर भी तेजी से भागकर एक रन पूरा किया और दूसरे रन के लिए भी दौड़ पड़े। दूसरा रन चुराना धोनी को यहां भारी पड़ा क्योंकि गेंद तब तक मार्टिन गुप्टिल के चंगुल में आ चुकी थी। उन्होंने विकेट पर रफ्तार के साथ डायरेक्ट हिट मारकर ना केवल धोनी की पारी का अंत किया बल्कि विश्व कप में भारत के अभियान का भी अंत कर दिया। लेकिन इसके साथ ही ट्विटर एक वीडियो वायरल हो रहा है जो जिसके अनुसार इस मैच में भारत को अंपायरों की गलती का खामियाजा भुगतान पड़ा है।

ग्राफिक्स ने पकड़ी अंपायर की बड़ी गलती

ग्राफिक्स ने पकड़ी अंपायर की बड़ी गलती

दरअसल तीसरे पॉवरप्ले के नियम के अनुसार केवल 5 फील्डर ही 30 गज के दायरे से बाहर रह सकते थे। लेकिन धोनी को गेंद फेंके जाने से पहले एक छोटे से ग्राफिक्स में दिख रहा था कि न्यूजीलैंड के 6 खिलाड़ी रिंग से बाहर खड़े हैं। यानी यह गेंद नो-बॉल करार देनी चाहिए थी। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि अगर गेंद नो-बॉल भी होती तब भी धोनी रन आउट होते क्योंकि नो-बॉल पर आप रन आउट दिए जा सकते हैं। लेकिन इसके बावजूद इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि अगर अंपायर ने इस गेंद को नो-बॉल करार दे दिया होता तो धोनी शायद अगले रन के लिए भागने में इतना रिस्क ना लेते।

विश्व कप 2019: अफगानिस्तान के 'शरारती गेंदबाज' पर लगा एक साल का बैन

नो-बॉल होती तो बदल सकता था मामला

नो-बॉल होती तो बदल सकता था मामला

फैंस का मानना है कि धोनी तब नो-बॉल का सामना करते और उनको अगली गेंद फ्री हिट मिलते। इसलिए यह संभव था कि धोनी रन ही ना लेते। लेकिन अंपायर ने ऐसा नहीं किया और धोनी को जल्द से दूसरा रन लेने के लिए भागना पड़ा और बाद में वे रन आउट हो गए। मैच के बाद कप्तान विराट कोहली ने धोनी और जडेजा की साझेदारी की तारीफ भी की है। उन्होंने बताया कि भारत की हार शुरुआती 45 मिनट के खेल ने तय कर दी थी। जब टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर ध्वस्त हुआ था। इस मैच में रोहित, राहुल और कोहली ने 1-1 रन बनाए थे।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, July 11, 2019, 17:23 [IST]
Other articles published on Jul 11, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X