रोमेलु लुकाकू पर नस्लीय टिप्पणी मामले में बर्खास्त हुआ कॉमेंटटेटर, इस बड़े खिलाड़ी को दी थी गाली

नई दिल्ली। इंटर मिलान के मेन स्ट्राइकर रोमेलु लुकाकू के बारे में नस्लीय और अपमानजनक टिप्पणी करने के मामले में एक कॉमेंटटेटर को बर्खास्त कर दिया गया है। लुसियानो पसिरानी नाम के एक टीवी कॉमेंटटेटर ने रोमेलु लुकाकू के खिलाफ ऑन ऑयर आपत्तिजनक टिप्पणी की जिसके बाद यह ठोस कदम उठाया गया. सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार लुसियानो पसिरानी ने ऑन एयर कॉमेंट्री करते हुए 'लुकाकू सबसे मजबूत खिलाड़ियों में से एक है, मुझे वह बहुत पसंद है क्योंकि उसके पास ताकत है। वह अटलान्ता के स्ट्राइकर दुवन जपाटा की तरह हैं।'

यह कॉमेंटटेर यहीं पर नहीं रुका उसने आगे कहा,' इन खिलाड़ियों के पास औरों से कुछ अधिक है, जिसका आप कुछ नहीं कर सकते. यह खिलाड़ी अपनी टीम के लिए गोल कर उसे आगे ला खड़ा करते हैं. अगर आप इन खिलाड़ियों से एक-एक करके भिड़ते हैं तो पक्का मारे जाएंगे, हालांकि आप इन्हें 10 केलों की रिश्वत दे सकते हैं.'

श्रीलंकाई खिलाड़ियों पर भड़के जावेद मियांदाद, कहा-पाकिस्तान न आने पर लगाए जुर्माना

कॉमेंटटेटर की अपमानजनक टिप्पणाी के बाद प्रोग्राम निदेशक फैबियो रवेज़ानी ने लुसियानो पासिरानी को बर्खास्त करते हुए कहा कि अब वह माफी मांगने के बावजूद हमारे प्रसारण कार्यक्रम का हिस्सा नहीं बन सकते. हमारे कॉमेंटटेटर्स में से एक ने लुकाकु की तारीफ करने के लिए गलत कहावत का चयन किया जो कि एक नस्लवादी टिप्पणी प्रतीत होती है, हम इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते, भले ही यह अनजाने में क्यूं न कही गई हो, एक व्यक्ति जो घंटों तक बोलता है वह अंत में नस्लवादी टिप्पणी करता है।'

यह पहली बार नहीं है जब लुकाकु को नस्लीय टिप्पणियों का सामना करना पड़ रहा है, इससे पहले इस महीने की शुरुआत में, इंटर मिलान फैन्स ने लुकाकु को चिढ़ाते हुए मंकी-मंकी चिल्लाया था.

इस घटना से आहत लुकाकु ने इंस्टाग्राम पर एक बयान जारी करते हुए कहा, 'पिछले महीने में कई खिलाड़ियों को नस्लीय दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा है। फुटबॉल एक खेल है जिसका आनंद सभी को लेना चाहिए और हमें किसी भी प्रकार के भेदभाव को स्वीकार नहीं करना चाहिए , यह इस खेल के लिए शर्म की बात है । मुझे उम्मीद है कि दुनिया भर के फुटबॉल संघ भेदभाव के सभी मामलों पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हैं। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम, ट्विटर, फेसबुक) को फुटबॉल क्लबों के साथ भी बेहतर काम करने की आवश्यकता है क्योंकि हर दिन आप लोगों के रंग को लेकर कम से कम एक नस्लवादी टिप्पणी को एक पोस्ट के तहत देखते हैं।'

5253 गेंदों के बाद डाली टेस्ट करियर की पहली नो बॉल, फिर भी हुए इस लिस्ट से बाहर

आपको बता दें कि पेनल्टी को गोल में बदलने में नाकाम रहने के बाद मैनचेस्टर यूनाइटेड के खिलाड़ी पॉल पोग्बा और मार्कस रश्फोर्ड के साथ भी नस्लीय दुर्व्यवहार किया गया था।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Tuesday, September 17, 2019, 18:27 [IST]
Other articles published on Sep 17, 2019
  • Nov 26 2020, Thu - 01:30 AM (IST)
  • Nov 26 2020, Thu - 01:30 AM (IST)
  • Nov 26 2020, Thu - 01:30 AM (IST)
+ अधिक
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X