World Boxing Championship में पहली बार भारत के 2 पदक पक्के, सेमीफाइनल में पहुंचे यह खिलाड़ी

नई दिल्ली। एआईबीए पुरुष विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप से भारतीय फैन्स के लिए खुशखबरी आई है। इस टूर्नामेंट में पहली बार भारत के एक से ज्यादा मुक्केबाजों ने अपने देश के लिए पदक पक्का कर लिया है। भारत के लिए एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाले अमित पंघल ने 52 किलोग्राम भारवर्ग में और राष्ट्रमंडल खेलों में सिल्वर मेडल जीतने वाले मनीष कौशिक ने 63 किलोग्राम भारवर्ग के सेमीफाइनल मुकाबलों में अपनी जगह बनाकर भारत के लिए 2 पदक पक्के कर लिए हैं। इससे पहले दिल्ली के गौरव बिधुड़ी ने साल 2017 में इस प्रतियोगिता का कांस्य पदक जीता था। एआईबीए पुरुष विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में अमित पंघल और मनीष कौशिक से पहले विजेन्दर सिंह, विकास कृष्णन, शिवा थापा और गौरव बिधुड़ी ही इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में जगह बना पाने में कामयाब रहे हैं।

दूसरी वरीयता प्राप्त अमित पंघल ने बुधवार को क्वार्टर फाइनल में फिलीपींस के कारलो पॉम को 4-1 से करारी मात देकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया और विश्व चैम्पियनशिप में अपना पहला पदक पक्का किया। जबकि 63 किग्रा में मनीष ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में ब्राजील के वेडरसन डी ओलीवीरा को 5-0 से हराया।

INDvSA: दूसरे टी-20 में जीत के बाद कोहली ने दिया युवाओं के नाम ये संदेश

सेमीफाइनल में मनीष का सामना मौजूदा विश्व चैम्पियन क्यूबा के एंडी क्रुज से होगा जबकि अमित पंघल का सामना कजाकिस्तान के साकेन बिबोसीनोव से होगा। बिबोसीनोव ने अपने क्वार्टर फाइनल मैच में यूरोपियन स्वर्ण पदक विजेता और छठी सीड अमेरिका के आर्थर होवहानिस्यान को शिकस्त देकर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की।

पंघल ने मैच जीतने के बाद कहा, 'मेरा मुकाबला अच्छा रहा। मैं पहले भी इससे एशियाई खेल में सेमीफाइनल मैच खेल चुका हूं। मैं वैसे ही रिंग में उतरा था। पहले राउंड में मैंने ज्यादा पंच लगाए। मुझे बोला गया था कि अटैक ज्यादा करना है। शुरुआत धीमी रही, लेकिन मैंने वापसी की और फिर अंत तक अच्छे से खेला। दूसरे और तीसरे राउंड में भी मैने अच्छा प्रदर्शन किया, इसलिए जीत मिली।'

अगले मैच पर पंघल ने कहा, 'अगला मुकबला कजाकिस्तान के मुक्केबाज से है। वह बाएं हाथ का है। उसके खिलाफ कैसे खेलना है, क्या रणनीति बनानी है, इस पर अभी चर्चा करेंगे।'

T-20 क्रिकेट में कोहली ने बनाया विश्व रिकाॅर्ड, रोहित शर्मा को छोड़ा पीछे

91 किग्रा भार वर्ग में हालांकि भारत को निराशा हाथ लगी जहां संजीत, इक्वाडोर के जूलियो कास्टिलो से 1-4 से हार गए। संजीत 2019 पैन अमेरिकी खेलों के रजत पदक विजेता और दो बार ओलम्पियन कास्टिलो के अनुभव से पार नहीं पा सके।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, September 19, 2019, 10:18 [IST]
Other articles published on Sep 19, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X