4 भारतीय क्रिकेटर जिन्होंने विदेश में लिया जन्म, पर भारत में कमाया नाम, दिलाई बड़ी जीत

नई दिल्ली। दुनिया में किसी भी देश में आपको दो देशों के नागरिक हमेंशा देखने को मिल जायेंंगे, एक चीन और दूसरा भारत। ऐसे में अपना देश छोड़कर विदेश में रहने वाले नागरिक उस देश में न सिर्फ कमाई करने जाते हैं बल्कि कुछ समय बाद अपने परिवार समेत वहीं पर बस जाते हैं। इस दौरान विदेश में जन्में यह भारतीय मूल के नागरिक अपनी पढ़ाई से लेकर करियर तक की शुरुआत विदेश में ही करते हैं। ऐसा बहुत कम बार देखा गया है कि कोई भारतीय मूल का नागरिक विदेश में जीवन शुरु करने के बाद भारत लौटा हो और यहां पर अपना करियर बनाया हो।

IPL 2020: देखें चेन्नई सुपरकिंग्स के सभी मैचोंं की लिस्ट, जानें कब, कहां, किससे भिड़ेगी टीम

हालांकि आज हम आपको भारतीय क्रिकेट इतिहास के कुछ ऐसे ही सितारों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने विदेश में जन्म तो लिया लेकिन जब खेलों में देश का प्रतिनिधित्व करने की बात आई तो उन्होंने अपने देश को चुना। इतना ही नहीं इन खिलाड़ियों ने टीम इंडिया के लिये खेलते हुए कई शानदार पारियां खेली और देश को विजयी बनाया।

IPL 2020: आईपीएल के इतिहास चौथी बार ओपनिंग मैच में भिड़ेंगी मुंबई-चेन्नई, जानें कैसा रहा है रिकॉर्ड

लाल सिंह (Lal Singh)

लाल सिंह (Lal Singh)

इस फेहरिस्त में पहला नाम पूर्व भारतीय क्रिकेटर लाल सिंह का है जिनका जन्‍म 16 दिसंबर 1909 को मलेशिया में हुआ था और उन्‍होंने 1985 में आखिरी सांस भी मलेशिया में ही ली। हालांकि जब खेल की बात हुई तो उन्होंने भारत को चुना और भारतीय क्रिकेट इतिहास के पहले अंतर्राष्ट्रीय मैच का हिस्‍सा बने। भारत ने अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच साल 1932 में इंग्‍लैंड के खिलाफ खेला था। लाल सिंह ने अपने करियर में सिर्फ 1 ही मैच खेला था और टेस्ट मैच की 2 पारियों में 44 रन बनाये थे। इस दौरान उनका सर्वोच्च स्कोर 29 रन रहा।

सलीम दुर्रानी (Saleem Durani)

सलीम दुर्रानी (Saleem Durani)

वहीं इस फेहरिस्त में दूसरा नाम दिग्‍गज भारतीय क्रिकेटर सलीम दुर्रानी का है जिनका जन्‍म काबुल में हुआ था। हालांकि उनकी परवरिश सौराष्ट्र के जामनगर में हुई थी और आगे चलकर उन्‍होंने भारत के लिये 1960 से लेकर 1973 तक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला। अपने 13 सालों के इंटरनेशनल करियर में उन्होंने 29 टेस्ट मैच खेलकर 1202 रन बनाये और 75 विकेट भी हासिल किये। वह अपने करियर के दौरान फैन्स के बीच एक ऐसे खिलाड़ी के रूप में मशहूर हुए जो कि ऑन डिमांड छक्का मारता था।

इतना ही नहीं जब उन्होंने साल 1973 में अपना आखिरी टेस्ट मैच मुंबई में खेला जिसकी पहली पारी में उन्होंने 73 जबकि दूसरी पारी में 37 रन बनाए। वो इससे आगे खेलने की काबिलियत रखते थे, लेकिन उन्हें इसके बाद कभी टीम में चुना नहीं गया और अंत में उन्होंने खुद ही संन्यास का ऐलान कर दिया।

अशोक गंडोत्रा (Ashok Gandotra)

अशोक गंडोत्रा (Ashok Gandotra)

इस फेहरिस्त में तीसरा नाम पूर्व भारतीय क्रिकेटर अशोक गंडोत्रा का है जिनका जन्‍म ब्राजील में हुआ था। उन्‍होंने घरेलू क्रिकेट में बंगाल और दिल्‍ली का प्रतिनिधित्‍व किया था। साल 1969 में अशोक ने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्‍यू किया था हालांकि महज 2 टेस्ट मैच खेलने के बाद वह दोबारा भारतीय क्रिकेट टीम में जगह नहीं बना सके थे।

रॉबिन सिंह (Robin Singh)

रॉबिन सिंह (Robin Singh)

इस फेहरिस्त में चौथा और आखिरी नाम भारतीय टीम के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी रॉबिन सिंह का है जिनका जन्‍म त्रिनिदाद में हुआ था। रॉबिन सिंह को उनकी काबिलियत के चलते वेस्‍टइंडीज की टीम से भी खेलने का मौका मिला था लेकिन उन्होंने भारत आकर क्रिकेट खेलना शुरू किया। वह बैटिंग ऑलराउंडर थे। उन्‍होंने अपने करियर में भारत के लिये 136 वनडे मैच खेले और इस दौरान 2336 रन बनाने का काम किया।

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Sunday, September 6, 2020, 20:06 [IST]
Other articles published on Sep 6, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X