'महिला IPL नहीं शुरू करने के चलते भारतीय टीम हो रही है नाकाम', हरमनप्रीत ने BCCI पर फोड़ा हार का ठीकरा

AUS vs IND
Photo Credit: BCCI/Twitter

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर पहुंची भारतीय महिला टीम को मल्टी फॉर्मेट द्विपक्षीय सीरीज में 11-5 से हार का सामना करना पड़ा है। इस दौरे पर भारतीय टीम को वनडे सीरीज में 2-1 से हार मिली, तो वहीं पर टेस्ट सीरीज ड्रॉ रहा और अंत में खेली गई 3 मैचों की टी20 सीरीज में भी 2-0 से हार का सामना करना पड़ा। टी0 सीरीज के दोनों मैच में भारत की जीत को हार में बदलने के पीछे एक ही खिलाड़ी का हाथ रहा जिसने कंगारू टीम के लिये निचले क्रम पर आकर तेजी से रन बनाये और भारतीय महिला टीम के लिये जीत मुश्किल कर दी। सीरीज के दूसरे मैच में 17वें ओवर तक भारतीय महिला टीम ने जीत की पकड़ बनाये रखी थी लेकिन ताहिला मैकग्रा ने 33 गेंदों में नाबाद 42 रनों की पारी खेलकर मैच को ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में कर दिया।

और पढ़ें: IPL 2022 के मेगा ऑक्शन में हार्दिक पांड्या को नहीं मिलेगी बड़ी रकम, सहवाग ने बताया मुंबई किसे करे रिटेन

वहीं सीरीज के आखिरी मैच में भी भारतीय गेंदबाजों ने काफी हद तक ऑस्ट्रेलियाई टीम को बांधे रखा लेकिन ताहिला मैकग्रा ने एक बार फिर से 31 गेंदों में नाबाद 44 रनों की पारी खेलकर टीम के स्कोर को 149 रनों तक पहुंचाया और जवाब में भारतीय टीम 135 रन ही बना सकी और मैच 14 रनों से हार गई। ताहिला मैकग्रा को उनके शानदार प्रदर्शन के चलते मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

और पढ़ें: AUSW vs INDW: टी20 सीरीज में भारत के हाथ नहीं लगी जीत, ऑस्ट्रेलिया ने 2-0 से रौंदा

ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर्स को बिग बैश लीग से होता है फायदा

ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर्स को बिग बैश लीग से होता है फायदा

सीमित ओवर्स प्रारूप में भारतीय टीम के सीरीज गंवा देने को लेकर जब सवाल किया गया तो कप्तान हरमनप्रीत कौर ने इसका ठीकरा महिला आईपीएल को शुरू करने में हो रही देरी पर फोड़ा और कई पूर्व क्रिकेटर्स की तरह बीसीसीआई से महिला इंडियन प्रीमियर लीग को शुरू करने की गुहार लगाई। उल्लेखनीय है कि भारत की जीत में सबसे बड़ा रोड़ा बनी ताहिला मैक्ग्रा महिला बिग बैश लीग में एडिलेड स्ट्राइकर्स की ओर से खेलती है जहां पर उनके बल्ले से पहले भी कई बार इस तरह की पारियां देखने को मिली हैं।

सिडनी थंडर्स की ओर से महिला बिग बैश लीग में अनुभव लेने वाली हरमनप्रीत कौर ने सोफी मॉलिनेक्स और ताहिला मैकग्रा का उदाहरण देते हुए कहा कि बीबीएल में उन्हें कई बार दबाव में खेलना पड़ा है जिसके अनुभव ने उनके प्रदर्शन को बेहतर किया है।

उन्होंने कहा,'अगर आप ताहिला मैक्ग्रा की बल्लेबाजी पर नजर डालेंगे तो साफ नजर आयेगा कि उनमें कितना आत्म-विश्वास है। वह यह कॉन्फिडेंस बीबीएल से लेकर आ रही हैं और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में उसे जारी रखने को तैयार हैं। उनके पास अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने से पहले ज्यादा मैचों का अनुभव नहीं था। हमारे पास भी कुछ ऐसे युवा प्लेयर्स हैं जिन्होंने उच्चतम दर्जे की क्रिकेट खेलने से पहले ज्यादा अनुभव नहीं लिया है, जैसे कि रेणुका सिंह।'

हमारे खिलाड़ियों के पास दबाव में खेलने का अनुभव नहीं

हमारे खिलाड़ियों के पास दबाव में खेलने का अनुभव नहीं

हरमनप्रीत कौर का मानना है कि भारत और ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के बीच दबाव भरी परिस्थितियों में खेलने के कम अनुभव का अंतर ही सीरीज की हार का कारण बना। कौर का मानना है कि हमारे पास टैलेंटेड प्लेयर तो हैं लेकिन उनके पास दबाव में खेलने का ज्यादा अनुभव नहीं है जैसा कि बीबीएल में ऑस्ट्रेलियाई प्लेयर्स के पास होता है। अगर हमारे प्लेयर्स का भी आईपीएल होता तो वो ऐसी परिस्थितियों से निपटने के आदी होते और मैच को निकालना जानते।

उन्होंने कहा,'रेणुका सिंह और यशिका भाटिया ने घरेलू स्तर पर बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन अभी भी उनके पास अनुभव की कमी है। अगर हमारे पास महिला आईपीएल होता तो हमारे घरेलू क्रिकेटर्स को दबाव में खेलकर निखरने का काफी अनुभव होता और हम ऐसे रोमांचक मैच जीत सकते थे।'

महिला आईपीएल न कराने की वजह से हम पिछड़ रहे हैं

महिला आईपीएल न कराने की वजह से हम पिछड़ रहे हैं

भारतीय महिला टी20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने पुरुषों के आईपीएल और उनके युवा खिलाड़ियों का उदाहरण देते हुए कहा कि जब हम पुरुष क्रिकेट के युवा प्लेयर्स को देखते हैं जो आईपीएल का हिस्सा होते हैं उनमें नेशनल लेवल पर काफी मेच्योरिटी आ चुकी होती है। जब तक टीम में सेलेक्शन होता है तब तक उनके पास 40-50 आईपीएल मैचों का अनुभव आ चुका होता है।

उन्होंने कहा,'मुझे लगता है कि यह एक मात्र कारण है जिसकी वजह से हम पिछड़ रहे हैं। अगर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेलने से पहले हमारे खिलाड़ियों को घरेलू स्तर पर आईपीएल जैसे टूर्नामेंट में खेलने का मौका मिलेगा तो बिल्कुल हमें सुधार देखने को मिलेगा। ऑस्ट्रेलिया में टीम में खेलने से पहले उसके खिलाड़ी विमेन बिग बैश लीग में 20-30 मैच खेल चुके होते हैं। यह आपकी स्किल्स के साथ ही अनुभव को बढ़ाता है ताकि आप जब अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलें तो खोया हुआ महसूस न करें।'

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 भविष्यवाणी
Match 7 - October 20 2021, 03:30 PM
नामीबिया
Netherlands
Predict Now

Story first published: Sunday, October 10, 2021, 18:32 [IST]
Other articles published on Oct 10, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X