जब विराट कोहली के जश्न को देखकर जस्टिन लैंगर को पंचिंग बैग जैसा हुआ महसूस

नई दिल्ली। साल 2018-19 में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज को कौन भूल सकता है, जहां भारतीय टीम ने इस सीरीज को जीतकर पहली बार ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर टेस्ट सीरीज जीतकर इतिहास रचा और ऐसा करने वाली पहली ऐशियाई टीम बनीं। वहीं ऑस्ट्रेलिया के लिये भी यह सीरीज न भुलाने वाली इसिलये थी क्योंकि बॉल टैंपिरिंग विवाद के बाद पूरी कंगारू टीम लगभग बिखर गई थी और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वापसी की कोशिश में लगी हुई थी।

T20 World Cup में वापसी पर एबी डिविलियर्स ने तोड़ी चुप्पी, बताया क्या है प्लान

ऑनलाइन वीडियो प्लैटफॉर्म एमेजॉन पर इस टेस्ट सीरीज को लेकर एक डॉक्यूमेंट्री सीरीज रिलीज की गई जिसका नाम 'द टेस्ट' है। इस डॉक्यूमेंट्री में ऑस्ट्रेलियाई टीम की वापसी के सफर की बात की गई है। इस डॉक्यूमेंट्री में ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर ने उस घटना का जिक्र किया जिसमें उन्हें इस दौरे पर पंचिंग बैग जैसा महसूस हो रहा था।

हार्दिक पांड्या का खुलासा, बताया आखिर क्यों पसंद है वेस्टइंडीज प्लेयर्स की तरह दिखना

जस्टिन लैंगर ने बताया क्यों लगा था पंचिंग बैग जैसा

जस्टिन लैंगर ने बताया क्यों लगा था पंचिंग बैग जैसा

इस डॉक्यूमेंट्री में ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर ने स्लेजिंग को लेकर क्रिकेट में दोहरे मापदंड की बात कही। उन्होंने कहा कि 2018-19 में भारत के दौरे पर विराट कोहली ने जब जीत के बाद आक्रामक अंदाज में जश्न मनाया तो उन्हें महसूस हुआ कि जैसे वो पंचिंग बैग हो और भारतीय टीम उन पर जबरदस्त मुक्केबाजी कर रही हो।

उन्होंने कहा, 'मुझे याद है जब मुझे पंचिंग बैग जैसा महसूस हुआ था। ऐसा लगा कि हमारे हाथ पीछे से बंधे हुए हैं।'

टिम पेन-कोहली में हो गई थी लंबी बातचीत

टिम पेन-कोहली में हो गई थी लंबी बातचीत

भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच आयोजित हुई इस बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में खेले गये 4 मैचों की टेस्ट सीरीज को विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम ने 2-1 से जीता था। ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर यह टीम इंडिया की टेस्ट सीरीज में पहली जीत थी। इसके बाद वनडे सीरीज में भी उसने 2-1 से जीत हासिल की, जबकि T20 सीरीज 1-1 से ड्रॉ रही। दूसरे टेस्ट के चौथे दिन विराट कोहली और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन आपस में उलझ भी गए थे।

डॉक्यूमेंट्री के दौरान टिम पेन ने कहा, 'मुझे लगा कि बहुत ज्यादा हो रहा है। यही वजह है कि मैने पलटकर जवाब दिया।'

लैंगर ने खुद दी थी खिलाड़ियों की स्लेजिंग की हिदायत

लैंगर ने खुद दी थी खिलाड़ियों की स्लेजिंग की हिदायत

डॉक्यूमेंट्री के दौरान कोच जस्टिन लैंगर ने खुलासा किया कि उन्होंने अपने खिलाड़ियों से खुद कहा था कि वो विराट कोहली का मुकाबला करें लेकिन इस बात का भी ध्यान रखें कि स्लेजिंग के दौरान वह अपनी सीमा न लांघे।

उन्होंने कहा, 'छींटाकशी और गाली देने में अंतर है। खेल में बदसलूकी के लिए कोई जगह नहीं है। हमें उनके (कोहली) साथ बदसलूकी नहीं करनी है।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Wednesday, March 18, 2020, 21:37 [IST]
Other articles published on Mar 18, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X