'इंग्लिश खिलाड़ियों में मच गई थी भगदड़', क्रिस मॉरिस ने बताया IPL सस्पेंड होने के बाद राजस्थान के खेमे का हाल

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन में बायोबबल के अंदर हुए कोरोना विस्फोट ने सभी को हैरान करते हुए दुनिया की सबसे मशहूर क्रिकेट लीग को स्थगित करने पर मजबूर कर दिया। जिसके बाद इस लीग में हिस्सा लेने वाले सभी विदेशी खिलाड़ी धीरे-धीरे कर अपने देश लौट रहे हैं। इंग्लैंड, बांग्लादेश और वेस्टइंडीज के बाद अब साउथ अफ्रीकी खिलाड़ी भी अपने देश पहुंच गये हैं। राजस्थान रॉयल्स के हरफनमौला खिलाड़ी क्रिस मॉरिस ने घर सुरक्षित पहुंचने की पुष्टि की। मंगलवार को बायोबबल के अंदर 4 टीमों के कई खिलाड़ियों के कोरोना संक्रमित पाये जाने के बाद बीसीसीआई और आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल ने इस लीग को स्थगित करने का फैसला किया।

और पढ़ें: T20 विश्व कप से पहले संन्यास से लौट सकते हैं डिविलियर्स, वेस्टइंडीज के खिलाफ होगी पहली सीरीज

सौभाग्य से राजस्थान रॉयल्स की टीम के खेमे से कोई भी खिलाड़ी इस संक्रमण का शिकार नहीं हुआ था, हालांकि कोलकाता नाइट राइडर्स के दो खिलाड़ियों (वरुण चक्रवर्ती और संदीप वॉरियर) के कोरोना संक्रमित की खबरों ने टीम होटल में भगदड़ की स्थिति जरूर पैदा कर दी थी। साउथ अफ्रीकी मीडिया आईओएल से बात करते हुए खुद क्रिस मॉरिस ने इस पूरी घटना के बारे में बताया।

और पढ़ें: सुरेश रैना की मदद के लिये सोनू सूद ने बढ़ाया हाथ, 10 मिनट में पहुंचा ऑक्सीजन सिलेंडर

संक्रमण कि खबर सुन टीम में मची थी भगदड़

संक्रमण कि खबर सुन टीम में मची थी भगदड़

उल्लेखनीय है कि अपने देश पहुंचने के बाद क्रिस मॉरिस 10 दिन के होम क्वारंटीन में हैं। इस दौरान उन्होंने बायोबबल में कोरोना संक्रमण फैलने की खबर के बाद टीम होटल में बने माहौल के बारे में बताया।

उन्होंने कहा,'जैसे ही खिलाड़ियों को यह खबर पता चली कि बायोबबल के अंदर खिलाड़ी कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये हैं, सभी ने सवाल पूछने शुरू कर दिये। जाहिर है कि हम सभी के लिये खतरे की घंटी बज चुकी थी। सोमवार को जब केकेआर और आरसीबी के बीच खेले जाने वाले मैच को स्थगित कर दिया था तो हम जानते थे कि टूर्नामेंट को जारी रखने का दबाव है। मैं हमारी टीम के डॉक्टर से बात कर रहा था जिनका रूम मेरे कमरे के पास हॉल के रास्ते में ही था और तभी कुमार संगाकारा कोने से आये और गले पर ऊंगली घुमाने का इशारा किया। हमें तभी समझ आ गया कि लीग ओवर हो गई है और तभी शुरू हुई असली भगदड़।'

इंग्लिश खिलाड़ियों में थी सबसे ज्यादा बेचैनी

इंग्लिश खिलाड़ियों में थी सबसे ज्यादा बेचैनी

इस दौरान मॉरिस ने बताया कि टीम में सबसे ज्यादा बेचैन होने वाले खिलाड़ी इंग्लैंड के थे क्योंकि उन्हें अपने देश पहुंचने के बाद को होटल के कमरों में क्वारंटीन करना पड़ता।

उन्होंने कहा,'कोरोना संक्रमण की खबर सुनने के बाद थोड़ी पैनिक की स्थिति बन गई थी और सभी खिलाड़ी बेचैन हो गये थे। हालांकि सबसे ज्यादा बेचैनी इंग्लिश खिलाड़ियों में देखने को मिल रही थी क्योंकि उनको देश लौटने के बाद अपने होटेल के कमरों में 10 दिन के लिये खुद को आइसोलेट करना पड़ता और मुद्दा यह था कि वहां अब और कमरे खाली नहीं बचे थे।'

टीम मैनेजमेंट ने बेहतरीन तरीके से संभाला

टीम मैनेजमेंट ने बेहतरीन तरीके से संभाला

क्रिस मॉरिस ने राजस्थान रॉयल्स के टीम मैनेजमेंट की तारीफ करते हुए कहा कि उन्होंने इस परिस्थिति से बेहद शानदार तरीके से निपटने का काम किया। मॉरिस ने इस दौरान टीम से नये-नये जुड़े जेराल्ड कॉटजे की हालत के बारे में भी बताया।

उन्होंने कहा,'रॉयल्स का इस परिस्थिति में मैनेजमेंट बेहद शानदार रहा। उनकी हर परिस्थिति पर नजर थी और उन्होंने सब कुछ कंट्रोल करते हुए सभी को जितना हो सके उतना आरामदायक स्थिति में पहुंचाने का काम किया। मैं जानता हूं कि इस दौरान बेचारा जेराल्ड थोड़ा घबराया हुआ था, आखिरकार वो बस 20 साल का ही तो है, मैंने उसे अपने पास रखकर शांत करने की कोशिश की और यह पक्का किया कि वो तैयार रहे जब रात के 12:30 बजे हमें होटल से ले जाया जाये। वह पूरी तरह से खाली था, उस होटल में सारा वक्त सिर्फ हम खिलाड़ी ही थे।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Friday, May 7, 2021, 16:19 [IST]
Other articles published on May 7, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X