कोहली-शास्त्री के बचाव में उतरे पूर्व भारतीय विकेटकीपर, कहा- आप कोरोना का ठीकरा उन पर नहीं फोड़ सकते

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच कोविड-19 की भेंट चढ़ गया है, जो कि शुक्रवार (10 सितंबर) से मैनचेस्टर के मैदान पर खेला जाना था लेकिन गुरुवार को भारतीय टीम के असिस्टेंट फिजियोथेरपिस्ट योगेश परमार के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद यह फैसला लिया गया। योगेश परमार के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद पूरी टीम को आइसोलेट कर दिया गया था लेकिन रात को सामने आये कोरोना रिपोर्ट में सभी खिलाड़ी नेगेटिव पाये गये, जिसके बाद माना जा रहा था मैच तय समयानुसार होगा।

और पढ़ें: 'मेरा दांत टूट गया तो अब क्या इसका दोषी भी IPL है', आलोचना को लेकर इरफान पठान ने कसा तंज

हालांकि भारतीय क्रिकेट टीम ने मैच का टॉस होने से 2 घंटे पहले विराट सेना ने यह कहकर मैदान पर उतरने से इंकार कर दिया कि उन्हें अगले 2-4 दिन में कोरोना वायरस का खतरा बढ़ सकता है जिसे देखते हुए वो मैदान पर नहीं उतर सकते हैं। वहीं भारतीय टीम के इस फैसले के बाद इंग्लिश क्रिकेट टीम के कई पूर्व खिलाड़ियों समेत वहां की मीडिया भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली के बुक लॉन्च इवेंट में शामिल होने की आलोचना कर रहे हैं।

और पढ़ें: 'इनका योगदान नहीं भुला सकते', सहवाग ने बताया इंग्लैंड दौरे पर कौन थे दो सबसे अहम खिलाड़ी

3-1 से सीरीज जीत सकता था भारत

3-1 से सीरीज जीत सकता था भारत

इस बीच भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज फारुख इंजीनियर ने दोनों का बचाव किया है और कहा कि मैनचेस्टर में खेले जाने वाले आखिरी टेस्ट मैच के कैंसिल होने के पीछे कई कारण रहे हैं। इस पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज का मानना है कि सीरीज में भारतीय टीम 2-1 से आगे थी और अगर यह मैच खेला जाता तो नतीजा 3-1 हो सकता था, ऐसे में मैच का कैंसिल होना काफी निराशाजनक रहा। इस दौरान फारुख इंजीनियर ने उन रिपोर्ट पर भी हैरानी जताई जिसमें कहा जा रहा था कि कुछ भारतीय खिलाड़ी मैनचेस्टर टेस्ट में मैदान पर उतरना चाह रहे थे जबकि अन्य खिलाड़ियों ने खेलने से साफ इंकार कर दिया था।

होटल से बाहर नहीं गये शास्त्री-कोहली

होटल से बाहर नहीं गये शास्त्री-कोहली

जब से लंदन के एक बुक लॉन्च इवेंट में रवि शास्त्री और विराट कोहली अपने हेड कोच की ऑटोबॉयोग्राफी 'स्टारगेजिंग' में शामिल हुए हैं तब से इन दोनों की आलोचना की जा रही है। इस मुद्दे पर फारुख इंजीनियर का मानना है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है, वह इस दौरान होटल के अंदर थे और उसके अलावा कहीं नहीं गये। उन्होंने कहा कि फैन्स ने उनसे हाथ मिलाने और सेल्फी लेने की कोशिश जरूर की होगी लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ भी नहीं किया और इंकार कर दिया क्योंकि आपको नहीं पता कि कौन कोरोना वायरस लेकर आ रहा है।

सही नहीं है विराट-शास्त्री को दोषी ठहराना

सही नहीं है विराट-शास्त्री को दोषी ठहराना

फारुख इंजीनियर ने अपने इस बयान के दौरान लोगों से भारतीय क्रिकेट में विराट कोहली और रवि शास्त्री के योगदान को न भुलाने की अपील की है।

उन्होंने कहा,' लोग इसके लिये रवि शास्त्री को दोष दे रहे हैं, जिन्होंने भारतीय क्रिकेट के लिये कितना कुछ किया है। रवि शास्त्री और विराट कोहली दोनों ने भारतीय क्रिकेट में बहुत योगदान दिया है। आप उन्हें बुक लॉन्च में जाने के लिये दोषी नहीं ठहरा सकते हैं। वह होटल से बाहर नहीं गये हैं, वह होटल के अंदर ही थे। किसी पर आरोप लगाना बहुत आसान है और किसी को दोषी ठहराना उससे भी ज्यादा। जब लोग आपके पास लगातार सेल्फी के लिये आते रहते हैं तो आप हर समय मना नहीं कर सकते हैं। रवि और विराट भी लोगों से हाथ मिलाने के दौरान ऐसा नहीं कर सके होंगे, लेकिन आप नहीं जानते कि कौन कोरोना पॉजिटिव है, तो ऐसे में आप उन्हें दोषी नहीं ठहरा सकते हैं।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts
आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 भविष्यवाणी
Match 18 - October 26 2021, 03:30 PM
दक्षिण अफ्रीका
वेस्टइंडीज
Predict Now

Story first published: Saturday, September 11, 2021, 21:52 [IST]
Other articles published on Sep 11, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X