आखिरी टेस्ट में इन दो खिलाड़ियों की रहेगी दरकार, मैनचेस्टर टेस्ट को लेकर जो रूट ने किया खुलासा

नई दिल्ली। भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही 5 मैचों की टेस्ट सीरीज के चौथे मैच में भारतीय टीम ने 157 रनों की विशाल जीत हासिल कर 2-1 की बढ़त हासिल कर ली है, जिसके बाद सीरीज का आखिरी मैच मैनचेस्टर के मैदान पर शुक्रवार से खेला जाना है। इस बीच आखिरी टेस्ट मैच से पहले इंग्लिश कप्तान जो रूट ने उन दो खिलाड़ियों का जिक्र किया जिनकी फिटनेस को लेकर मैनेजमेंट को चिंता हो रही है और सीरीज में वापसी करने के लिये दोनों का फिट होना बहुत जरूरी है।

और पढ़ें: विश्वकप में भारत का मेंटॉर बनाने पर धोनी के खिलाफ दर्ज हुई शिकायत, BCCI ने दिया करारा जवाब

जो रूट ने तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन और हरफनमौला खिलाड़ी ऑली रॉबिन्सन की फिटनेस पर चिंता जताते हुए कहा कि वो आखिरी टेस्ट मैच में उतरने से पहले इन खिलाड़ियों का फिट होना बहुत जरूरी है, यही कारण है कि दो दिन के ब्रेक में इन खिलाड़ियों को पूरा आराम दिया गया है। उल्लेखनीय है कि इंग्लैंड के गेंदबाजी अटैक के लिये एंडरसन और रॉबिन्सन इस सीरीज में काफी अहम खिलाड़ी साबित हुए हैं और कप्तान जो रूट सीरीज के निर्णायक मैच में इन दोनों खिलाड़ियों को खिलाना चाहते हैं।

और पढ़ें: T20 World Cup के लिये नहीं हुई डिविलियर्स की वापसी, डुप्लेसिस भी बाहर, जानें कैसी है साउथ अफ्रीका की टीम

रॉबिन्सन-एंडरसन का खेलना बेहद जरूरी

रॉबिन्सन-एंडरसन का खेलना बेहद जरूरी

टाइम्स नाउ के साथ बात करते हुए जो रूट ने कहा,'इन दोनों खिलाड़ियों की रिकवरी के लिये यह दो दिन काफी अहम साबित होने वाले हैं। हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि वो आखिरी टेस्ट मैच खेल पाने की हालत में हों। मुझे लगता है कि आपको एक चीज का ध्यान देना जरूरी है कि मेडिकल टीम से मिली सलाह का पालन अच्छे से करना है। मेडिकल टीम से बात करके इसके पीछे के कारणों को प्रक्रिया को समझना जरूरी है तो वहीं पर खिलाड़ियों से बात कर यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि उनके शरीर को किस चीज की दरकार है, क्योंकि अंत में उनके शरीर के बारे में उनसे बेहतर कोई नहीं समझ सकता है।'

खिलाड़ियों के हितों का ध्यान रखना जरूरी

खिलाड़ियों के हितों का ध्यान रखना जरूरी

जो रूट ने आगे कहा कि वो नहीं चाहेंगे कि वो खिलाड़ी जिस पर चोट का खतरा मंडरा रहा हो उसे टीम में खिलाया जाये। टीम वो करना चाहेगी जो सभी खिलाड़ियों के निजी और एक टीम के रूप में सभी के लिये बेहतर साबित हो।

उन्होंने कहा,'आप कभी भी एक ऐसे टेस्ट मैच में नहीं उतरना चाहेंगे जिसमें आपका कोई खिलाड़ी चोट के संकट से जूझ रहा हो। आप यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि आपके खिलाड़ी के लिये सर्वश्रेष्ठ चीज कर सकें, लेकिन आप यह भी नहीं चाहेंगे कि जीत के चक्कर में किसी को इस कदर पुश किया जाये कि वो चोटिल हो जाये, क्योंकि ऐसा होता है तो आपको ही एक बल्लेबाज या गेंदबाज का नुकसान होता है।'

आखिरी टेस्ट पर रद्द होने का खतरा

आखिरी टेस्ट पर रद्द होने का खतरा

गौरतलब है कि मैनचेस्टर के मैदान पर खेले जाने वाले टेस्ट मैच के आयोजन पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। गुरुवार को भारतीय क्रिकेट टीम के सपोर्टिंग स्टाफ में एक और सदस्य के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद सभी भारतीय खिलाड़ियों को होटल में ही रहने का आदेश दिया गया है और कोरोना टेस्ट कराया है, जिसकी रिपोर्ट आना अभी बाकी है।

आपको बता दें कि अगर टेस्ट के नतीजों में कोई भारतीय खिलाड़ी कोरोना वायरस के संक्रमण का शिकार पाया जाता है तो मैच को रद्द कर दिया जायेगा और सीरीज को पूरा नहीं माना जायेगा। ऐसे में बचे हुए आखिरी टेस्ट मैच का आयोजन अगले साल किया जा सकता है जब भारतीय टीम को सीमित ओवर्स प्रारूप की सीरीज खेलने के लिये इंग्लैंड का दौरा करने जाना है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, September 9, 2021, 19:32 [IST]
Other articles published on Sep 9, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X