'वो चाहते हैं कि मैं फांसी लगा लूं', पिच रोलर चोरी के आरोप पर भारतीय खिलाड़ी ने मांगी BCCI की मदद

Parvez Rasool
Photo Credit: PTI

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से भारत के लिये खेलने वाले देश के पहले हरफनमौला खिलाड़ी परवेज रसूल और जेकेसीए के बीच चीजें काफी विवादित हो गयी हैं। गुरुवार को जम्मू और कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन ने राज्य की टीम के कप्तान और हरफनमौला खिलाड़ी को एक नोटिस भेजा है जिसमें उन्होंने इस दिग्गज खिलाड़ी पर पिच रोलर की चोरी का आरोप लगाया है और उसे जल्द वापस न करने की दिशा में पुलिस कार्रवाई करनी की चेतावनी भी दी है। वहीं खुद पर लगे इन आरोपों को लेकर 32 वर्षीय इस खिलाड़ी ने कहा है कि उसे जेकेसीए की ओर से बेवजह फंसाया जा रहा है और बीसीसीआई से इस मुद्दे पर दखल देने की अपील की है।

और पढ़ें: IPL 2021: साइमन कैटिच ने छोड़ा आरसीबी के हेड कोच का पद, अब माइक हेसन संभालेंगे जिम्मेदारी

परवेज रसूल का मानना है कि वो जेकेसीए की किसी साजिश का शिकार हो रहे हैं और उनके ऐसा करने के पीछे की उनकी वजह के बारे में वो कुछ नहीं बता सकते हैं। इन सब की शुरुआत परवेज रसूल पर पिच रोलर चोरी करने के आरोप के साथ हुई। वहीं पर जेकेसीए के कुछ लोगों का मानना है कि यह मामला इस वजह से सामने आ गया क्योंकि रसूल का नाम उनके जिला एडमिनिस्ट्रेटर के रजिस्टर में दर्ज था जिसमें पिच रोलर उनके कब्जे में होने की बात है नहीं तो इसका पता भी नहीं चलता।

और पढ़ें: 'अगर ऐसा नहीं होता तो भारत सीरीज में 2-0 से होता आगे', पूर्व कप्तान ने इंग्लिश टीम को लताड़ा

मेरे खिलाफ हो रही है साजिश

मेरे खिलाफ हो रही है साजिश

जम्मू-कश्मीर के कप्तान और इस हरफनमौला खिलाड़ी ने अब इस मुद्दे को लेकर अपना जवाब दिया है और कहा कि उन्हें जबरदस्ती इसका शिकार बनाया जा रहा है।

जम्मू कश्मीर से भारतीय टीम के लिये खेलने वाले इस इकलौते खिलाड़ी ने इंडियन एक्सप्रेस के साथ बात करते हुए कहा,'वो कहते हैं कि पुलिस इस पर कार्रवाई करेगी। फिर वो मेल में कहते हैं कि क्या हमारे पास काफी सबूत है कि मुझे जकड़ा जा सके। इसका क्या मतलब है कि आप मुझे जकड़ने आये हो। उनकी इस बात से उनके इरादे नेक नहीं नजर आते हैं।'

वो चाहते हैं कि मैं फांसी लगा लूं

वो चाहते हैं कि मैं फांसी लगा लूं

रसूल ने आगे मामले पर अपनी राय देते हुए कहा कि उन्हें उस वक्त काफी निराशा हुई जब जेकेसीए के एक अधिकारी ने सोशल मीडिया पर लिखा कि कैसे इस मामले को लंबा खींचना चाहिये ताकि वो हार मान ले और खुद को फांसी लगा ले। रसूल के अनुसार उस अधिकारी ने ऐसा पोस्ट करने के कुछ देर बाद ही कमेंट को डिलीट कर दिया।

उन्होंने कहा,'अधिकारी ने ऐसा लिखने के बाद कमेंट को डिलीट कर दिया था लेकिन मेरे पास उसका स्क्रीनशॉट है। क्या मुझे कोई बता सकता है कि मैंने क्या गलती की है जिसके लिये मुझे फांसी पर चढ़ाने के लिये मजबूर किया जा रहा है। अगर आपको किसी बात को लेकर शक है तो आपके पास मेरा फोन नंबर है, मुझे कॉल कीजिये। गलतफहमी दूर करने में बस कुछ सेकेंडस का ही समय लगता है लेकिन ऐसा लग रहा है कि वो मुझे फंसाने की साजिश कर रहे हैं।'

जेब में रखकर नहीं घूम सकता पिच रोलर

जेब में रखकर नहीं घूम सकता पिच रोलर

परवेज रसूल ने इस पिच रोलर मामले को लेकर अपने हिस्से की कहानी बताते हुए कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि इस तरह की चीजें उनके साथ होंगी।

उन्होंने कहा,'पिच रोलर कोई टेनिस बॉल नहीं है जिसे आप अपनी जेब में रखकर यहां वहां घूमते नजर आयें फिर चाहे आप जितना चाहें। यह मैदान के इस्तेमाल और क्रिकेट के विकास के लिये है। मुझे सच में नहीं पता कि ऐसी चीजें क्यों हो रही हैं। मुझे एक दूसरा नोटिस मिला है जिसमें कहा गया है कि हमने 5 जुलाई को आपको दूसरा नोटिस भेजा है।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Saturday, August 21, 2021, 22:04 [IST]
Other articles published on Aug 21, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X