अगर IPL 2021 में खिलाड़ियों को हुआ कोरोना तो जानें फिर क्या होगा, BCCI ने जारी की एसओपी

IPL 2021 BCCI releases complete SOPs List for Tournament Know What Happen If player tested Corona Positive: नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) दुनिया की सबसे मशहूर टी20 क्रिकेट लीग आईपीएल के 14वें सीजन का आयोजन कराने को तैयार है। आईपीएल के 14वें सीजन का आगाज 9 अप्रैल से 30 मई के बीच किया जाना है, जिसकी शुरुआत बिना दर्शकों के खाली स्टेडियम में ही की जायेगी और परिस्थितियों के अनुसार ही बोर्ड इस बात पर फैसला लेगा कि क्या 50 प्रतिशत दर्शकों के साथ मैचों का आयोजन कराया जाना चाहिये या नहीं। बीसीसीआई ने आईपीएल की मेजबानी के लिये 6 शहरों का चुनाव किया है जहां पर यह पूरा टूर्नामेंट आयोजित कराया जायेगा इसमें दिल्ली, चेन्नई, बेंगलुरू, अहमदाबाद, मुंबई और कोलकाता शामिल हैं।

और पढ़ें: ISSF World Cup में भारत ने जीते 6 गोल्ड, 14 मेडल के साथ टॉप पर काबिज

इस 6 शहरों में बीसीसीआई खिलाड़ियों के लिये बायोबबल का इंतजाम कर रही है ताकि इसका आयोजन सुरक्षित तरीके से किया जा सके। बीसीसीआई ने टूर्नामेंट के आयोजन के लिये एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर) के तहत गाइडलाइंस जारी कर दिये हैं और सभी टीमों को के पास इसे भेजा जा चुका है। बीसीसीआई ने हाल ही में कोरोना मामलों के सामने आने के बाद स्थगित हुई पाकिस्तान सुपर लीग से सीख लेते हुए साफ किया है कि इन हिदायतों का सख्ती से पालन होना चाहिये।

और पढ़ें: अब इंग्लैंड काउंटी में खेलते नजर आयेंगे श्रेयस अय्यर, ऐसा करने वाले छठे खिलाड़ी बने

IPL के दौरान नहीं होगा खिलाड़ियों का वैक्सिनेशन

IPL के दौरान नहीं होगा खिलाड़ियों का वैक्सिनेशन

बीसीसीआई की ओर से जारी की गई एसओपी के अनुसार आईपीएल के 14वें सीजन खिलाड़ियों, स्टाफ मेंबर्स और जुड़े सहायक कोचिंग स्टाफ का कोरोना वैक्सिनेशन नहीं किया जायेगा। ऐसे में अगर कोई खिलाड़ी या फ्रैंचाइजी से जुड़ा कोई व्यक्ति कोरोना वायरस का शिकार होता है तो उसे कम से कम 10 दिनों तक आइसोलेशन में रहना होगा और दोबारा कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट में नेगेटिव आने और बाकी की औपचारिकताओं के बाद ही बायो बबल में प्रवेश दिया जायेगा। हालांकि बोर्ड ने यह साफ किया है कि अगर कोई खिलाड़ी टूर्नामेंट में एंट्री से पहले वैक्सिनेशन करवा लेता है तो उसे क्वारंटीन में रहते हुए टेस्टिंग प्रोसेस से गुजरना होगा।

बबल इंटेग्रिटी मैनेजर करेंगे बायोबबल की निगरानी

बबल इंटेग्रिटी मैनेजर करेंगे बायोबबल की निगरानी

बीसीसीआई ने इस प्रक्रिया की निगरानी की जिम्मेदारी बबल इंटेग्रिटी मैनेजर्स को दी है जो इस बात का ध्यान रखेंगे कि प्रोटोकॉल्स का कड़ाई से पालन हो रहा है, साथ ही अगर किसी तरह के उल्लंघन की जानकारी मिलती है तो वो इसकी जानकारी बोर्ड के उच्चाधिकारियों को तुरंत देंगे। बीसीसीआई इन एसओपी को आईपीएल 2021 की हेल्ड एंड सिक्योरिटी प्रोटोकॉल के नाम से रिलीज किया है। इसके तहत आईपीएल में कुल 12 बायोबबल का निर्माण किया जायेगा, जिसमें 8 टीमें, 2 मैच अधिकारी, 2 मैनेजिंग टीम और 2 ब्रॉडकास्ट कॉमेंटेटर क्रू की टीमें शामिल होंगी।

प्रवेश से पहले 7 दिन का क्वारंटीन है जरूरी

प्रवेश से पहले 7 दिन का क्वारंटीन है जरूरी

बीसीसीआई की ओर से जारी की गाइडलांइस के अनुसार किसी भी खिलाड़ी को बायोबबल में प्रवेश से पहले 7 दिन तक अनिवार्य क्वारंटीन में रहना होगा और इस दौरान टेस्ट रिपोर्ट में नेगेटिव आने के बाद ही प्रवेश दिया जायेगा। वहीं बीसीसीआई ने भारत और इंग्लैंड के बीच जारी द्विपक्षीय श्रृंखला में शामिल खिलाड़ियों को इस नियम से छूट दी गई है और वो सीधे अपनी-अपनी फ्रैंचाइजी के बायोबबल में जुड़ सकते हैं। बीसीसीआई का मानना है कि यह खिलाड़ी पहले से ही बायोबबल में रह रहे हैं ऐसे में उन्हें बिना क्वारंटीन से गुजरे फ्रैंचाइजी के बायोबबल में प्रवेश दिया जा सकता है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, March 22, 2021, 22:26 [IST]
Other articles published on Mar 22, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X