मॉर्डन डे वीरेंदर सहवाग है यह भारतीय खिलाड़ी, संजय मांजरेकर ने की जमकर तारीफ

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन का दूसरा चरण शुरू हो चुका है जिसके 33वें मैच में दिल्ली कैपिटल्स की टीम अपना पहला मैच खेलने उतरी। दिल्ली कैपिटल्स की टीम का सामना सनराइजर्स हैदराबाद के साथ हुआ जिसमें उसने 8 विकेट की आसान जीत हासिल कर अंकतालिका में एक बार फिर से पहला स्थान हासिल कर लिया है। दिल्ली कैपिटल्स के लिये उसके कप्तान ऋषभ पंत ने 160 से ज्यादा की स्ट्राइक रेट से नाबाद 35 रनों की पारी खेली और विपक्षी टीम को वापसी करने से रोक दिया। इसके चलते दिल्ली कैपिटल्स की टीम को 8 विकेट से जीत मिली।

और पढ़ें: KBC 13: अमिताभ बच्चन ने प्रतियोगी की रोहित शर्मा से मिलने की इच्छा की पूरी, भावुक फैन ने बताया भगवान

ऋषभ पंत की बल्लेबाजी को देखते हुए भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर और कॉमेंटेटर संजय मांजरेकर ने जमकर तारीफ की है और उन्हें भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज और दिग्गज खिलाड़ी वीरेंदर सहवाग की परछाई बताया है।

और पढ़ें: 'पैसा बोलता है, कोई भारत के खिलाफ करके देखे', पाकिस्तान दौरे कैंसिल होने पर भड़के ऑस्ट्रेलिया के उस्मान ख्वाजा

सहवाग की तरह खेल बदलना जानते हैं ऋषभ पंत

सहवाग की तरह खेल बदलना जानते हैं ऋषभ पंत

मांजरेकर ने आगे बात करते हुए कहा कि जब सहवाग को खेलने का मौका मिला था तो सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ जैसे खिलाड़ी टीम में मौजूद थे जिनके बल्ले से रनों की बौछार हो रही थी, हालांकि नजफगढ़ के नवाब टीम के लिये वो खिलाड़ी साबित हुए जिसने खेल का तरीका बदल दिया। मांजरेकर का मानना है कि ऋषभ पंत मौजूदा समय में उसी तरह का प्रभाव छोड़ते हैं जैसा कि सहवाग ने किया था और वह उन्हीं की तरह चौके-छक्के लगाने का हुनर रखते हैं।

क्रिकइंफो से बात करते हुए उन्होंने कहा,'जब वीरेंदर सहवाग टीम में आये थे तब द्रविड़ और तेंदुलकर जैसे दिग्गज रनों का अंबार लगा रहे थे लेकिन उनका आना कुछ अलग था। सहवाग ने खेलने का तरीका बदल दिया और वो टीम के लिये इन्नोवेटर साबित हुए। उन्होंने अपना शतक, दोहरा शतक और तिहरा शतक छक्का लगाकर पूरा किया। सहवाग से पहले हमने उस तरह की बल्लेबाज टेस्ट क्रिकेट में कभी नहीं देखी थी। मुझे लगता है कि ऋषभ पंत पहले ही काफी हद तक सहवाग से मेल खाते हैं जो कि अपनी मर्जी के हिसाब से कभी भी छक्का-चौका लगा सकते हैं। वह मौजूदा समय के इन्नोवेटर हैं।'

कभी भी चौके-छक्के लगा सकते हैं ऋषभ पंत

कभी भी चौके-छक्के लगा सकते हैं ऋषभ पंत

संजय मांजरेकर का मानना है कि ऋषभ पंत की आक्रामक बल्लेबाजी उनकी बेसब्री का नतीजा नहीं है बल्कि उनकी बल्लेबाजी का अंदाज पूर्वनियोजित होता है। संजय मांजरेकर का मानना है कि दिल्ली कैपिटल्स के लिये पंत जैसे बल्लेबाज का होना जो कि बिना किसी मेहनत के चौके-छक्के लगा सकता है काफी फायदेमंद साबित होने वाला है।

उन्होंने कहा,'कभी-कभी आप सोच सकते हैं कि इंग्लैंड में वो फेल हुए हैं और आईपीएल के दूसरे चरण के पहले मैच की पहली ही गेंद पर जिस तरह से उन्होंने शॉट खेला वह रन बनाने का लापरवाह तरीका था, हालांकि वो सभी रिस्क कैलकुलेट कर के खेल रहे थे और उन्हें पता था कि क्या हो सकता है। यह उनकी बेसब्री का नतीजा नहीं है और न ही वो कन्फ्यूज और नर्वस हैंं। यह सब उनके पूर्व नियोजित प्लान का हिस्सा है। हमने मैच के आखिर में देखा कि टीम में एक ऐसा खिलाड़ी होना जो कभी भी चौके-छक्के मार सकता है आपको फायदा देता है जिसके चलते आप पंजाब किंग्स की तरह मैच नहीं गंवाते। ऋषभ पंत का होना टीम के लिये काफी फायदेमंद साबित होता है।'

पहले पायदान पर दिल्ली कैपिटल्स की टीम

पहले पायदान पर दिल्ली कैपिटल्स की टीम

गौरतलब है कि दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने सनराइजर्स हैदराबाद की टीम को 8 विकेट से हराकर 7वीं जीत हासिल की और अंकतालिका में 14 अंकों के साथ पहले पायदान पर कब्जा कर लिया है। आपको बता दें कि दिल्ली कैपिटल्स की जीत के लिये पहले उसके गेंदबाजों ने शानदार बॉलिंग करते हुए पूरी टीम को महज 134 रन पर आउट कर दिया तो वहीं शिखर धवन (41), श्रेयस अय्यर (नाबाद 47) और ऋषभ पंत (नाबाद 35) की पारियों के चलते आसानी से 17.5 ओवर्स में जीत हासिल कर ली।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Thursday, September 23, 2021, 17:28 [IST]
Other articles published on Sep 23, 2021
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X