इंग्लैंड के वर्ल्ड चैंपियन बनते ही इस खिलाड़ी ने क्रिकेट से लिया संन्यास

नई दिल्ली: क्रिकेट विश्व कप जीतना किसी भी क्रिकेटर के लिए करियर का सबसे बड़ा सपना होता है। 14 जुलाई के दिन इंग्लैंड के 11 खिलाड़ियों ने लॉर्ड्स के मैदान पर अपना यह सपना जी लिया है। क्रिकेट विश्व कप 2019 का समापन इतना यादगार होगा इसकी कल्पना नहीं की गई थी। यह इतना भावुक होगा ये भी नहीं सोचा गया था। यह मैच इतना रोमांचक था कि मुकाबला खत्म होने के बाद पता चला कि 14 जुलाई के दिन दुनिया ने लॉर्ड्स में क्रिकेट के इतिहास का संभवतः सबसे महान मुकाबला देख लिया।

इंग्लैंड का लंबा इंतजार आखिर पूरा हुआ-

इंग्लैंड का लंबा इंतजार आखिर पूरा हुआ-

क्रिकेट के जन्मदाता देश इंग्लैंड के लिए विश्व कप उठाने का इंतजार उतना ही लंबा है जितनी की विश्व कप का इतिहास। ऐसे में इंग्लिश खिलाड़ियों के पास बयां करने के लिए बहुत कुछ है लेकिन मनोस्थिति ऐसी है कि तत्काल शब्दों का अभाव है। यह हाल केवल मौजूदा टीम के इंग्लिश खिलाड़ियों का ही नहीं बल्कि अन्य इंग्लिश क्रिकेटरों का भी है। जेड डर्नबैक इसके सबसे सटीक उदाहरण हैं। इंग्लैंड का यह पेस गेंदबाज अपनी टीम के लिए 24 ODIs और 34 T20Is मैच खेला है। उन्होंने इंग्लैंड के विश्व विजेता बनने के दिन को यादगार बनाने के लिए इस दिन से अगले दिन ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अपने संन्यास की घोषणा कर दी है।

ICC की ताजा ODI रैंकिंग में छाया चैंपियन इंग्लैंड, न्यूजीलैंड को भी मिला फायदा

जेड डर्नबैक ने लिया संन्यास-

जेड डर्नबैक ने लिया संन्यास-

उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर अपने संन्यास की घोषणा करते हुए कहा- मुझे लगता है ये इस घोषणा के लिए अच्छा समय है। काफी सोच-विचार कर मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अपने संन्यास की घोषणा करता हूं। कई सालों तक आपके सपोर्ट के लिए शुक्रिया लेकिन इंग्लैंड टीम अब आगे बढ़ने के लिए सही हाथों में है। अब मैं यहां से सरे के लिए खेलने पर फोकस कर रहा हूं। बता दें कि डर्नबैक सरे की ओर से खेलने वाले क्रिकेटर हैं और यहां की टी-20 टीम के कप्तान भी हैं।

ICC के प्लेइंग-11 में कोहली को नहीं मिली जगह, जानिए कौन से 2 भारतीय खिलाड़ी हुए शामिल

इंग्लिश खिलाड़ियों के लिए कभी ना भूलने वाला मैच-

इंग्लिश खिलाड़ियों के लिए कभी ना भूलने वाला मैच-

आपको बता दें कि इस मैच में न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए 50 ओवरों में 241 रन बनाए थे जिसके जवाब में इंग्लैंड भी 50 ओवर में 241 रन बनाकर आउट हो गया। इसके बाद यह मुकाबला टाई होकर ना केवल सुपरओवर के रोमांच तक गया बल्कि बाद में सुपर ओवर भी टाई हो गया था। बाद में कुल बाउंड्री काउंट के आधार पर विश्व चैंपियन तय किया गया। इसमें इंग्लैंड ने कीवी टीम पर बाजी मार ली। इंग्लैंड ने जहां कुल 26 बाउंड्री लगाई थी तो वहीं न्यूजीलैंड 17 पर ही सिमट गया था।

लॉर्ड्स में फिर जीवंत हुआ क्रिकेट, बड़े मंचों पर अब तक ऐसा रहा है टाई मैचों का सफर

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Monday, July 15, 2019, 21:02 [IST]
Other articles published on Jul 15, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X