'धोनी ने जमकर मचाई तबाही, जो भी रास्ते में आया उसे किया बर्बाद', संन्यास को लेकर बोले माइकल होल्डिंग

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज एमएस धोनी ने हाल ही में अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर को अलविदा कहते हुए संन्यास का ऐलान कर दिया। इसके बाद से ही लगातार दिग्गज खिलाड़ी उनके संन्यास को लेकर अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। वहीं इस बीच वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने धोनी के संन्यास को लेकर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उनकी जमकर तारीफ की है।

ENG vs AUS: इंग्लैंड दौरे पर पहुंची ऑस्ट्रेलियाई टीम, स्टीव स्मिथ को खल रही इस बात की कमी

होल्डिंग ने धोनी को शानदार कप्तान और विकेटकीपर बताते हुए कहा कि वह हर परिस्थिति में शांत रहते थे जिसके चलते उन्हें कई बार हारते हुए मैच में जीत भी हासिल हुई। धोनी ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच जुलाई 2019 में खेला था जिसके बाद से वो ब्रेक पर ही थे।

सचिन-विराट का बैट बनाने वाले कारीगर की मदद के लिये सामने आये सोनू सूद, कहा- ढूंढो पता

मैच फिसलने पर बचाना जानते थे धोनी

मैच फिसलने पर बचाना जानते थे धोनी

होल्डिंग ने कहा, 'जब वो कप्तान थे, तो आप कभी उनको बहुत उत्साहित नहीं देखे होंगे। अगर मैच हाथ से फिसल रहा होता था तो वो अपने खिलाड़ियों को बुलाते थे और शांति से उनसे बात करते थे, फिर सभी क्रिकेटर्स अपनी पोजिशन पर जाते थे और अचानक सबकुछ बदल जाता था। टीम पर उनका कुछ ऐसा प्रभाव होता था। इस शख्स का क्या शानदार करियर रहा है। उन्होंने 90 टेस्ट, 350 वनडे इंटरनैशनल मैच और 98 टी20 इंटरनैशनल मैच खेले। इस खिलाड़ी ने करीब 5000 टेस्ट रन बनाए, इस बात को याद रखिए कि वो सिर्फ बल्लेबाज नहीं थे, विकेटकीपर भी थे। इतने बड़े करियर में विकेट के पीछे भी इतना शानदार प्रदर्शन करना बड़ी बात है।'

धोनी के पास है जबरदस्त फिटनेस

धोनी के पास है जबरदस्त फिटनेस

माइकल होल्डिंग ने धोनी की फिटनेस की जमकर तारीफ की और बताया कि उन्होंने लगातार इतने सालों तक कंसिस्टेंसी से रन बनाये।

उन्होंने कहा, 'सिर्फ टेस्ट क्रिकेट की बात नहीं है, वनडे इंटरनैशनल के बारे में सोचिए। इतने साल खेलना और खुद को फिट रखना... वो 11,000 रन के करीब थे, जबकि उन्होंने करीब 12,000 गेंदों का ही सामना किया था। इसका मतलब उन्होंने अपने करियर में करीब 100 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी थी, हमें पता है कि वो इससे ज्यादा स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी कर सकते थे, क्योंकि वो इतने पावरफुट स्ट्राइकर थे।'

धोनी ऐसे खेलते थे जैसे सबकुछ कर देंगे तबाह

धोनी ऐसे खेलते थे जैसे सबकुछ कर देंगे तबाह

उन्होंने कहा, 'अपने करियर के दौरान उन्होंने 229 छक्के जड़े, जब आप यह नंबर देखते हो, तो आप सोचोगे कि उन्होंने करीब 40 साल खेला होगा, लेकिन यह उनका नैचुरल खेल था। जब धोनी लंबे बालों के साथ इंटरनैशनल क्रिकेट खेलना शुरू किए थे, तो हम कैरेबिया में बोलते थे कि वो मैवरिक की तरह लगते हैं। वो ऐसे दिखते थे कि उनके रास्ते में जो कुछ आएगा वो उसे तबाह कर देंगे और काफी हद तक उन्होंने वो किया भी।'

दुनिया के बेस्ट कप्तान थे धोनी

दुनिया के बेस्ट कप्तान थे धोनी

उन्होंने आगे कहा, 'वो क्या कप्तान थे, कितने सफल... जो भी आईसीसी ट्रॉफी थीं, उन्होंने वो सब जीतीं। जब धोनी ने खेलना शुरू किया था, तो वो बिग हिटर थे, तभी उन्होंने इतने चौके-छक्के जड़े। जब वो कुछ बड़े हुए तो उन्हें अपना खेल थोड़ा टोन डाउन करना पड़ा, बैटिंग पर उनका नियंत्रण दिखने लगा। जिन्होंने उन्हें मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करते देखा, उन्हें दिखा कि वो कितने नियंत्रण में रहते थे। वो कभी आउट ऑफ कंट्रोल नहीं दिखे।'

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Sunday, August 23, 2020, 22:33 [IST]
Other articles published on Aug 23, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X