श्रेयस अय्यर ने कोहली को याद दिलाए उनके पुराने दिन, जानिए क्या बोले कप्तान

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम ने तीन वनडे मैचों की सीरीज के आखिरी मैच में विंडीज डकवर्थ लुईस नियम के तहत 6 विकेट से हराकर सीरीज पर 2-0 से कब्जा कर लिया है। इस सीरीज में अगर किसी ने सबका ध्यान खींचा तो वो थे श्रेयस अय्यर जिन्होंने पांचवें नंबर पर आकर कप्तान विराट कोहली के साथ अच्छी साझेदारी कर मैच बनाया। अय्यर ने 41 गेंदों में ताबड़तोड़ 65 रन बना डाले जिसमें 3 चाैके व 5 छक्के शामिल रहे। उनकी इस पारी को देख कोहली को अपने पुराने दिन याद आ गए जिसका खुलासा उन्होंने मैच के बाद किया।

क्या बोले कोहली?

क्या बोले कोहली?

कोहली ने कहा कि अय्यर उन्हें भारतीय टीम में उनके शुरुआती दिनों की याद दिलाते हैं। भारतीय कप्तान ने कहा, ‘जब मैं टीम में आया तो मैं भी ऐसा ही था, मौका मिलने पर मैं अपनी टीम के लिए मैच जीतना चाहता था और स्थिति के अनुसार खेलना चाहता था। आपको जोखिम लेने होंगे, उसने दबाव की स्थिति में साहस दिखाया।' उन्होंने आगे कहा कि हम थोड़ा दबाव में थे लेकिन अय्यर की पारी मैच का रुख बदलने वाली साबित हुई। मुझे लगता है कि श्रेयस जिस तरह खेला उसने मेरे ऊपर से सारा दबाव हटा दिया और मैं अपना स्वाभाविक खेल दिखा पाया और एक छोर से गेंद को नियंत्रित कर पाया। बता दें कि कोहली ने भी 99 गेंदों में नाबाद 114 रनों की पारी खेली।

हाथ में तलवार लेकर धोनी की बेटी जीवा ने गाया गाना, वीडियो हुआ वायरल

पूर्ण नियंत्रण में खेले अय्यर

पूर्ण नियंत्रण में खेले अय्यर

अय्यर ने अंतिम दो मैचों में कोहली के साथ 125 और 120 रन की साझेदारियां की। कोहली ने श्रेयस की तारीफ करते हुए कहा, "वह इन परिस्थितियों में प्रदर्शन करने की अहमियत को समझता है। उसने बहुत ही विश्वास के साथ खेला और भविष्य में टीम इंडिया के मध्यक्रम का नियमित रूप से हिस्सा बनने के लिए मजबूती से अपना दावा पेश किया है। हम चाहते हैं कि सभी अलग-अलग बल्लेबाजी क्रम पर जिम्मेदारी लें और उसने बखूबी जिम्मेदारी निभाई। वह पूरी तरह से पूर्ण नियंत्रण में खेले और गेंदबाजों पर लगातार दबाव बना रहे थे।"

पहले 10 ओवर में नवर्स थी टीम

पहले 10 ओवर में नवर्स थी टीम

कोहली ने हालांकि स्वीकार किया कि क्रिस गेल और एविन लईस की विंडीज की सलामी जोड़ी ने जब 10 ओवर में 114 रन बना लिए थे तो उनकी टीम नर्वस थी। उन्होंने कहा कि असल में यह अच्छा रहा कि हमें अधिक ओवर फेंकने का मौका मिला और हम विकेट हासिल करने में सफल रहे, वरना हमने जितने ओवर फेंके थे, हमें 280 रन के करीब का लक्ष्य मिलता। धीमी हो रही पिच पर यह बेहद मुश्किल होता।

क्रिस गेल ने नहीं लिया क्रिकेट से संन्यास, अफवाह फैलाने वालों को दिया यह जवाब

For Quick Alerts
Subscribe Now
For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, August 15, 2019, 17:58 [IST]
Other articles published on Aug 15, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X