IND vs SA: टेस्ट सीरीज में पंत की जगह शामिल हो सकता है यह खिलाड़ी, जानें क्या है वजह

नई दिल्ली। साउथ अफ्रीकी के खिलाफ टी20 सीरीज में बराबरी के बाद अब विराट कोहली एंड कंपनी टेस्ट सीरीज में अपनी बादशाहत को बरकरार रखने उतरेगी। इस सीरीज से पहले भारतीय टीम विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में शामिल ऋषभ पंत की खराब फॉर्म और गलत शॉट चयन की समस्या से जूझ रही है। इसको देखते हुए ऐसे कयास लगाये जा रहे हैं कि साउथ अफ्रीका के खिलाफ ऋषभ पंत को आराम देकर चयनकर्ता लंबे समय से बाहर चल रहे रिद्धीमान साहा को मौका देने के मूड में हैं। चोट की वजह से बाहर चल रहे ऋद्धिमान साहा को टीम प्रबंधन की ओर से इशारा मिल रहा है कि साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2 अक्टूबर से विशाखापत्तनम में शुरू हो रही टेस्ट सीरीज में युवा ऋषभ पंत की जगह उन्हें शामिल किया जा सकता है।

वहीं ऋषभ पंत की मौजूदा पर फॉर्म पर सवाल उठाते हुए पूर्व भारतीय विकेटकीपर दीप दास गुप्ता ने कहा कि उनका मानना है कि साउथ अफ्रीका के खिलाफ ऋद्धिमान साहा को टीम में शामिल किया जाना चाहिये।

आखिर क्या है क्रिकेट में VJD नियम, क्यों है DLS से बेहतर

एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए दीप दास गुप्ता ने कहा,' चोट से उबरने के बाद, ऋद्धि से टीम ने जो कुछ भी मांगा, वह उसने दिया और किया। इस बात में कोई संदेह नहीं है कि वह इस समय दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर हैं। यहां पर बस एकमात्र सवाल यह था कि क्या ऋद्धि काफी अच्छे बल्लेबाज थे, खासकर जब टीम पांच गेंदबाजों के साथ खेलना चाहती है।'

उन्होंने कहा,' लोग यह सवाल पूछ सकते है कि क्या ऋद्धिमान साहा, ऋषभ पंत से बेहतर बल्लेबाजी कर सकते है... शायद नहीं, तो ऐसे में सवाल उठता है कि हमें टेस्ट में एक बेहतर विकेटकीपर की जरूरत है या बेहतर बल्लेबाज की तो ऋषभ पंत के वेस्टइंडीज दौरे पर हालिया प्रदर्शन को देखते हुए और घर में सीरीज से क्या उम्मीद है, मैं ऋद्धिमान साहा के साथ जाना पसंद करूंगा।'

विराट कोहली पर लटकी निलंबन की तलवार, अगले चार महीने रहना होगा सावधान

गौरतलब है कि साहा को उनके अनुभव और विकेट के पीछे विशेषज्ञता के चलते टीम में तरजीह मिल सकती है। भारतीय परिस्थितियों में गेंद अधिक टर्न करती है और साहा को विकेट के पीछे ऐसी गेंदों को संभालने में बेहतर माना जाता है। टेस्ट सीरीज में भारतीय टीम में रविंद्र जडेजा और रविचंद्रन अश्विन के शामिल होने की पूरी उम्मीद है ऐसे में साहा को बेहतर विकल्प माना जा रहा है।

साहा को दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर्स में शुमार किया जाता है। वह बीते 18 महीने से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से दूर हैं। साउथ अफ्रीका के पिछले भारत दौरे के समय से ही वह टीम से बाहर हैं। 34 वर्षीय साहा की गैर-मौजूदगी में भारत ने कई विकेटकीपर्स को आजमा चुका है।

बीते 16 टेस्ट मैचों से वह टीम से बाहर हैं, इसकी मुख्य वजह फिटनेस ही रही है। टीम की घोषणा करते समय मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा था कि अंतिम 11 टीम प्रबंधन अपनी पसंद से चुनेगा।

मिकी आर्थर ने लगाया मिस्बाह उल हक पर 'भरोसा' तोड़ने का आरोप

साहा ने भारत के लिए 32 टेस्ट मैच खेले हैं। 2018 में लगी चोट के चलते वह टीम से बाहर हो गए थे। ऋषभ पंत की हालिया नाकामी भी साहा के पक्ष में जाती है। दिल्ली के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में असफल रहे थे। इसके साथ ही डीआएस को लेकर उनके फैसले भी कई बार गलत साबित नहीं हुए।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

 

क्रिकेट से प्यार है? साबित करें! खेलें माईखेल फेंटेसी क्रिकेट

Story first published: Thursday, September 26, 2019, 12:06 [IST]
Other articles published on Sep 26, 2019
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X