U19 CWC: फाइनल में गाली गलौज पर बांग्लादेशी खिलाड़ी ने तोड़ी चुप्पी, बताया- क्यों की थी बदतमीजी

नई दिल्ली। दक्षिण अफ्रीका में इसी महीने संपन्न हुआ आईसीसी का अंडर 19 विश्व कप फाइनल कई मायने में यादगार बना। जहां इस मैच में पहली बार बांग्लादेश की टीम ने भारतीय टीम को 3 विकट से हराकर विश्व चैम्पियन का खिताब अपने नाम किया। वहीं मैच के बाद भारतीय और बांग्लादेशी खिलाड़ियों के बीच बेहद शर्मनाक वाक्या देखने को मिला जिसने खेल भावना को तार-तार कर दिया। मैच के बाद बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने भारतीय टीम के साथ बदतमीजी की और इस दौरान गाली-गलौज के साथ धक्का मुक्की करते नजर आये।

और पढ़ें: IND vs NZ: न्यूजीलैंड ने किया टेस्ट टीम का ऐलान, भारत के लिये जीतना नहीं होगा आसान

विश्व कप को खत्म हुए एक सप्ताह से ज्यादा का समय बीत गया है और आखिरकार फाइनल मैच में हुए इस हंगामे की असली वजह सामने आ गई है। बांग्लादेश को खिताब जिताने वाले शोरिफुल इस्लाम ने पहली बार इस मुद्दे पर चुप्पी तोड़ते हुए बताया कि आखिर क्या वजह थी जिसके चलते उन्होंने इतना भड़काऊ प्रदर्शन किया।

और पढ़ें: SA vs ENG: 222 रन बनाकर भी हारी साउथ अफ्रीका, मोर्गन की तूफानी पारी से सीरीज जीती इंग्लैंड

शोरिफुल इस्लाम ने बताया क्यों मनाया ऐसा जश्न

शोरिफुल इस्लाम ने बताया क्यों मनाया ऐसा जश्न

बांग्लादेशी खिलाड़ी शोरिफुल इस्लाम ने अपने देश के प्रमुख अंग्रेजी अखबार डेली स्टार से बात करते हुए बताया कि भारत के खिलाफ जीत दर्ज करने की बड़ी वजह यह थी हम उनके खिलाड़ियों को यह बताना चाहते थे कि जब कोई टीम फाइनल में हारती है और विरोधी टीम ऐसा जश्न मनाती है तो कैसा महसूस होता है।

उन्होंने कहा, 'भारत की इस टीम ने हमसे दो बार बड़े-बड़े मुकाबले जीते और उसने हमारे साथ ऐसा ही किया था। हम अतीत में उनसे दो करीबी मुकाबले हारे थे। पहला एशिया कप सेमीफाइनल था (साल 2018) और फिर एशिया कप फाइनल (2019 में)। मैं बता नहीं सकता कि वे दो हार कैसी महसूस होती थीं।'

2 बार बड़े मुकाबले जीतकर भारतीय खिलाड़ियों ने किया था ऐसा व्यव्हार

2 बार बड़े मुकाबले जीतकर भारतीय खिलाड़ियों ने किया था ऐसा व्यव्हार

शोरिफुल इस्लाम ने कहा कि भारतीय खिलाड़ियों ने एशिया कप के दौरान हमें 2 बार बड़े मुकाबलों में हराया और उसके बाद ऐसा ही जश्न मनाया। इस कारण मेरे जहन में वो यादें बरकरार थी जो कि जीत के बाद कुछ इस कदर निकली।

उन्होंने कहा,' जब मैं फाइनल (वर्ल्ड कप फाइनल) में उतरा, तो मैं यही सोच रहा था कि उन्होंने जीतने के बाद क्या किया था और हमने हारकर कैसा महसूस हुआ था। इस बार हम वैसा ही नहीं होने देना चाहते थे जो पहले दो बार हो चुका था। हम अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहते और अपनी पूरी ताकत के साथ अंतिम बॉल तक लड़ना चाहते थे।'

फाइनल मुकाबले में जानें क्या हुआ था

फाइनल मुकाबले में जानें क्या हुआ था

गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका के सेनवेस पार्क में खेले गये इस खिताबी मुकाबले में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश के सामने 178 रन का लक्ष्य रखा था। भारतीय टीम ने रवि बिश्नोई की शानदार गेंदबाजी के दम पर मैच को रोमांचक बना दिया था लेकिन बारिश से प्रभावित इस मैच को बांग्लादेश ने 3 विकेट से जीत लिया।

जीत के बाद बांग्लादेशी खिलाड़ी मैदान पर पहुंचे और बेहद भड़काउ तरीके से जश्न मनाया। जश्न में डूबे कुछ खिलाड़ियों ने भारतीय खिलाड़ियों के साथ धक्का मुक्की और गाली-गलौज भी की।

आईसीसी ने की कड़ी कार्रवाई

आईसीसी ने की कड़ी कार्रवाई

मैच के बाद बांग्लादेश के कप्तान अकबर अली ने भी इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया तो भारतीय कप्तान प्रियम गर्ग ने इस घटना को 'डर्टी' बताया। वहीं खिलाड़ियों के ऐसे व्यव्हार को लेकर आईसीसी ने अपने कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन करने के लिये दोनों टीमों के खिलाड़ियों पर कार्रवाई की।

इसके तहत आईसीसी ने दो भारतीय और तीन बांग्लादेशी खिलाड़ियों को दोषी पाया और इन पर जुर्माने के रूप में डिमेरिट अंक लगाए। आईसीसी ने इस मामले में भारत के आकाश सिंह और रवि बिश्नोई के अलावा बांग्लादेश के तौहीद हृदोय, शमीमी हुसैन और राकिबुल हसन को दोषी पाया है।

For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS
For Daily Alerts

Story first published: Monday, February 17, 2020, 12:36 [IST]
Other articles published on Feb 17, 2020
POLLS
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Yes No
Settings X